ⓘ भारतीय कवि ..

भारतीय कवियों की सूची

इस सूची में उन कवियों के नाम सम्मिलित किये गये हैं जो भारतीय मूल के हों, भारत में जन्में हों, या अगर आप निचे दिगए कवियों के प्रेम हिंदी कविताएँ का आनंद लेना चाहते है तो हिंदी कविता प्रेम साभापर जाएँ। किसी भार अपना भारत और तीय भाषा में काव्य-रचना किये हों, चाहे विश्व के किसी भी भाग में उनका जन्म हुआ हो।

कृष्णराज वोडेयार चतुर्थ

कृष्ण राज वाडियार चतुर्थ, नलवडी कृष्ण राज वाडियार कन्नड़: ನಾಲ್ವಡಿ ಕೃಷ್ಣರಾಜ ಒಡೆಯರು के नाम से भी लोकप्रिय थे, वे 1902 से लेकर 1940 में अपनी मृत्यु तक राजसी शहर मैसूर के सत्तारूढ़ महाराजा थे। जब भारत ब्रिटिश शासन के अधीन था तब भी वे भारतीय राज्यों के यशस्वी शासकों में गिने जाते थे। अपनी मौत के समय, वे विश्व के सर्वाधिक धनी लोगों में गिने जाते थे, जिनके पास 1940 में 0 अरब डॉलर की व्यक्तिगत संपत्ति थी जो 2010 की कीमतों के अनुसार बिलियन डॉलर के बराबर होगी. वे एक दार्शनिक सम्राट थे, जिन्हें पॉल ब्रन्टॉन ने प्लेटो के रिपब्लिक में वर्णित आदर्श को अपने जीवन में उतारने वाले व्यक्ति के रूप में देखा गय ...

अक़बर इलाहाबादी

अकबर ने अपनी प्राथमिक शिक्षा अपने पिता द्वरा घर पे ही ग्रहन की। उन्होंने 15 साल की उम्र में अपने दो या तीन साल वरिष्ठ लड़की से शादी की थी और जल्द ही उन्की दूसरी शादी भी हुइ। दोंनो पत्नीयों से अकबर के २-२ पुत्र थे। अकबर ने वकालत की अध्ययन करने के बाद बतौर सरकारी कर्मचारी कार्य किया। हालांकि अकबर एक अनिवार्य रूप से एक जीवंत, आशावादी कवि थे, उसके बाद के जीवन में चीजों के बारे में उनकी दृष्टि घर पर उसकी त्रासदी के अनुभव से घिर गई थी। उन्के बेटे और पोते का निधन कम उम्र में ही हो गया। यह उसके लिये बड़ा झटका था और निराशा का कारण बना। फलस्वरूप वह अपने जीवन के अंत की ओर काफी, वश में हो गया और तेजी ...

घासीराम महली

घासीराम महली नागपुरी साहित्य के महान कवि थे। उनका जन्म झारखंड राज्य के राँची जिला में चान्हो प्रखंड के करकट गांव में हुआ था। वे रातू महाराज के दरबारी कवि थे। उनके द्वारा लिखित वंशावली, दुर्गासप्तशती, बरहामासा, विवह परिछन आदि प्रमुख है।

वाक्पति

वाक्पति प्राकृत के प्रसिद्ध कवि हैं। गौडवहो इनकी प्रसिद्ध ऐतिहासिक रचना है जिसमें कन्नौज के राजा यशोवर्मन का चरित अंकित है। वे यशोवर्मन के राजकवि थे।

                                     

ⓘ भारतीय कवि

  • क वर ब च न म नव वर र ण म कव ह - क व य कव त मह क व य श यर म कव ह - म कव ह - कव क पर चय द त एक कव त श यर क स च - श यर क क रमबद ध
  • नह ह य अध र ह आपक सह यत क स व गत ह कव प रद प फ रवर - द सम बर भ रत य कव एव ग तक र थ ज द शभक त ग त ऐ म र वतन क ल ग
  • म न कव ई - अक ट बर ई म व ड क मह र ज र जस ह क दरब र कव थ व व ररस क कव थ बच चन स ह. ह न द स ह त य क द सर इत ह स. र ध क ष ण
  • ह न द कव त क परम पर बह त लम ब ह श व स ह स गर न ह न द स ह त य क आद क ल क प रथम कव क र प म प ष य य प ण ड क न म प रस त व त क य ह
  • न च द ए गए कव य क प र म ह द कव त ए क आन द ल न च हत ह त ह द कव त प र म स भ र पर ज ए अत ल चन द र ह जर क - कव न टकक र, ब लकथ
  • ब रजभ ष कव य म पद म कर 1753 - 1833 क महत त वप र ण स थ न ह व ह द स ह त य क र त क ल न कव य म अ त म चरण क स प रस द ध और व श ष सम म न त कव थ
  • र त म क त कव व ह ज न ह न न त लक षण ग र थ क रचन क न ह लक षण ग र थ क र त स ब धकर अपन रचन ए क इस प र कर र त क ल न कव त क द र म
  • 1643 कव थ व म लत: एक श र मल ज न व य प र थ व अपन क व य त मक आत मकथ अर धकथ नक क ल य ज न ज त ह यह आत मकथ ब रजभ ष म ह यह क स भ रत य भ ष
  • सभ पक ष क ओर सद ज त रह ह सबस पहल प रश न ज कव क स ब ध म उठत ह वह यह ह क कव य कल क र अन य म नव, धर म पद शक, द र शन क, व ज ञ न क
  • यह स स क त भ ष क कव य क स च ह अगस थ य कव अमर अस ग अश वघ ष आर यश र कल न थ श स त र क ल द स क तक ग ग द व ग व न द चन द र प ण ड ग स व म हर क ष ण