ⓘ चिकित्साशास्त्र ..

आइसीडी-१० अध्याय ब

Scrub typhus A75.3 Typhus fever due to Rickettsia tsutsugamushi A75.0 Epidemic louse-borne typhus fever due to Rickettsia prowazekii A75. Typhus fever A75.1 Recrudescent typhus Brills disease A75.2 Typhus fever due to Rickettsia typhi A75.9 Typhus fever, unspecified A77. Spotted fever tick-borne rickettsioses Rocky Mountain spotted fever A77.0 Spotted fever due to Rickettsia rickettsii A77.1 Spotted fever due to Rickettsia conorii Boutonneuse fever A79.0 Trench fever Wolhynian fever A78. Q fever Quintan fever A79. Other rickettsioses Vesicular rickettsiosis Kew Garden fever A79.1 Rickettsi ...

आयुर्विज्ञान

आयुर्विज्ञान, विज्ञान की वह शाखा है जिसका संबंध मानव शरीर को निरोग रखने, रोग हो जाने पर रोग से मुक्त करने अथवा उसका शमन करने तथा आयु बढ़ाने से है।आयुर्विज्ञान विज्ञान की वह शाखा है, जिसका संबंध मानव शरीर को निरोग रखने, रोग हो जाने पर रोग से मुक्त करने अथवा उसका निदान करने तथा आयु बढ़ाने से है। भारत आयुर्विज्ञान का जन्मदाता है। अपने प्रारम्भिक समय में आयुर्विज्ञान का अध्ययन जीव विज्ञान की एक शाखा के समान ही किया गया था। बाद में शरीर रचना तथा शरीर क्रिया विज्ञान आदि को इसका आधार बनाया गया।

ईमेडिसिन

इ मेडीसीन चिकित्साशास्त्र से सम्बन्धित एक ऑनलाइल वेबसाइट है। इसकी स्थापना 1996 में स्काँट और रिचर्ड ल्वली नामक दो अमरिकी चिकित्सों ने किया था। 2006 में इसको वाब एस डी को बेंच दिया गया।

उत्सर्जन तन्त्र

उत्सर्जन तन्त्र अथवा मलोत्सर्ग प्रणाली एक जैविक प्रणाली है जो जीवों के भीतर से अतिरिक्त, अनावश्यक या खतरनाक पदार्थों को हटाती है, ताकि जीव के भीतर होमीयोस्टेसिस को बनाए रखने में मदद मिल सके और शरीर के नुकसान को रोका जा सके। दूसरे शब्दों में जीवो के शरीर से उपापचयी प्रक्रमो में बने विषैले अपशिष्ट पदार्थों के निष्कासन को उत्सर्जन कहते हैं साधारण उत्सर्जन का तात्पर्य नाइट्रोजन उत्सर्जी पदार्थों जैसे यूरिया, अमोनिया, यूरिक अम्ल आदि के निष्कासन से होता है। वास्तविक अर्थों में शरीर में बने नाइट्रोजनी विषाक्त अपशिष्ट पदार्थों के बाहर निकालने की प्रक्रिया उत्सर्जन कहलाती है। यह चयापचय के अपशिष्ट उ ...

चिकित्सा

संकीर्ण अर्थ में, रोगों से आक्रांत होने पर रोगों से मुक्त होने के लिये जो उपचार किया जाता है वह चिकित्सा कहलाता है। पर व्यापक अर्थ में वे सभी उपचार चिकित्सा के अंतर्गत आ जाते हैं जिनसे स्वास्थ्य की रक्षा और रोगों का निवारण होता है।

चिकित्सा विषय शीर्षक

मेडिकल सब्जेक्ट हेडिंग्स एक विशाल शब्दकोश है। इसमें जीव विज्ञान से सम्बन्धित लेखों, पुस्तकों को सूचीबद्ध किया गया है। इसकी रचना विश्व के सबसे बड़े पुस्तकालय युनाइटेड स्टेट्स नेस्नल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन ने किया है। इसका मुद्रण 2007 में बन्द कर दिया गया तथा इसकी मुफ्त प्रति इंटरनेट पर उपलब्द्ध है।

चिकित्सीकरण

चिकित्सकीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जहाँ जीवन के अचिकित्सीय आयामों को मेडिकल की शब्दावली के अंतर्गत देखा जाता है। एक विस्तृत परिघटना के साथ इसे मेडीकलाइज किया जाता है, जिसमें सामान्य जीवन की घटनाएं जीवन, मृत्यु, जैविकीय प्रक्रियाएं वृद्धावस्था, परित्यक्तता, सामान्य मानसिक समस्याएँ सीखना, सेक्सुअल मुश्किलें, विचलन के सभी स्वरूपों को इसमें शामिल किया गया है। विचलन के चिकित्सकीकरण की प्रक्रिया में नॉन-नोर्मेटिव्ह या नैतिक अपराध बोध की उपस्थिति, विश्वास Mental disorder, Racism और आचरण इन सभी को मेडिकल अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत सुपुर्द किया जाता है। बुरी प्रवृत्ति के मानसिकता को अनैतिकता, पाप, अपर ...

मेडलाइन प्लस

मेडलाइन प्लस एक वेबसाइट है जहाँ स्वास्थ्य सम्बन्धी सूचनाएँ मिलती हैं। यह चिकित्साशास्त्र से सम्बन्धित विश्व के सबसे बड़े पुस्तकालय यूनाइटेड स्टेट्स नेस्नल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन से स्वास्थ्य सम्बन्धित सूचनाएँ उपलब्ध कराता है।

रोग

रोग अर्थात अस्वस्थ होना। यह चिकित्साविज्ञान का मूलभूत संकल्पना है। प्रायः शरीर के पूर्णरूपेण कार्य करने में में किसी प्रकार की कमी होना रोग कहलाता है। जिस व्यक्ति को रोग होता है उसे रोगी कहते हैं। हिन्दी में रोग को बीमारी, रुग्णdbcbcvxgfghchgbnvghता, व्याधि भी कहते हैं। रोग का उपचार करने या उसके लक्षणों को कम करने के लिए औषध और फार्मेकोलॉजी के विज्ञान का उपयोग किया जाता है। मानसिक और शारीरिक विकृतियों के कारण होने वाली गंभीर आजीवन विकलांगता को वर्णित करने के लिए विकासात्मक विकलांगता शब्द का उपयोग किया जाता है।