ⓘ फ़िल्म ..

कार्बन (२०१७ फ़िल्म)

कार्बन ग्लोबल वार्मिंग पर एक हिंदी साइंस फिक्शन लघु फिल्म है, जो मैत्रे बाजपेयी और रमिज़ इल्हाम खान द्वारा लिखित और निर्देशित है। फिल्म में जैकी भगनानी, नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और प्राची देसाई प्रमुख भूमिकाओं में हैं। इस फिल्म की घटना 2067 में एक ऐसी धरती पर स्थापित की गयी है, जहां कार्बन गैस की बहुतायत है और ऑक्सीजन की आपूर्ति उद्योगों द्वारा की जाती है। भगनानी कृत्रिम हृदय वाले एक आदमी की भूमिका निभाता है और सिद्दीकी मंगल ग्रह के एक आदमी की भूमिका निभाता है। यह फिल्म लार्ज शॉर्ट फिल्म्स के यूट्यूब चैनल पर रिलीज़ हुई।

गोविन्दा की फ़िल्में

गोविन्दा हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता हैं। उनके नाम बॉलीवुड मे एक वर्ष मे सबसे अधिक फिल्‍म देने का रिकार्ड भी इनके नाम दर्ज है। इन्होंने अपने फ़िल्मी कैरियर की शुरुआत १९७७ में मिट जाएंगे मारने वाले नामक फ़िल्म से की थी ये एक हास्य अभिनेता के रूप में मुख्य रूप से जाने जाते हैं।

चलचित्र प्रक्षेपित्र

चलचित्र प्रक्षेपित्र अथवा मूवी प्रोजेक्टर एक प्रकाश- यांत्रिक यंत्र होता है जो गतिशील चित्रों अर्थात चलचित्रों को पर्दे पर प्रक्षेपित्र करता है। इसके माध्यम से किसी विषय को देखने के साथ-साथ सुन भी सकते हैं। जिसका प्रयोग अध्यापन कार्य के साथ मनोरंजन आदि में भी किया जाता है।

ठाकरे (२०१९ फ़िल्म)

ठाकरे सन् २०१९ की एक भारतीय हिन्दी फ़िल्म है, जो अभिजीत पानसे द्वारा लिखित और निर्देशित है। यह मराठी और हिन्दी में एक साथ बनायी गयी है। फिल्म भारतीय राजनीतिक पार्टी शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे के जीवन पर आधारित है। फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने ठाकरे और अमृता राव ने उनकी पत्नी के रूप में अभिनय किया है। फिल्म २५ जनवरी २०१९ को बाल ठाकरे के ९३वें जन्मदिन के अवसर पर रिलीज़ हुई।

डिजास्टर फ्लिक 2012

नवंबर 2009 के दूसरे सप्ताह में जारी की गई इस फिल्म में एक अश्वेत अमेरिकी राष्ट्रपति को यह आभास होता है कि 2112 में इस दुनिया का अंत हो जाएगा। लेकिन जो वैज्ञानिक शोध दुनिया की रक्षा कर सकते हैं, वे शोध अमेरिका में नहीं, बल्कि हिंदुस्तान में हुए हैं। आवागमन की बड़ी-बड़ी नौकाएं जो लोगों को सुरक्षित ले जा सकती हैं, वे चीन में बनागई हैं। इस सारे काल्पनिक वैज्ञानिक तामझाम और दहलाने वाले सिनेमाई प्रभाव के साथ कहानी की मुख्य अंतर्वस्तु यह है कि 2012 में अमेरिका वैश्विक सत्ता का केंद्र नहीं रह गया है। ताकत का यह पांसा उलट गया है।

तीन (२०१६ फ़िल्म)

तीन रिभु दासगुप्ता द्वारा लिखित और निर्देशित 2016 की एक भारतीय हिंदी थ्रिलर फिल्म है। 2013 में बनी दक्षिण कोरियाई फिल्म के इस रीमेक में अमिताभ बच्चन, नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी, सब्यसाची चक्रवर्ती, पद्मावती राव और विद्या बालन मुख्य भूमिका में हैं। इसे १० जून २०१६ को रिलीज़ किया गया। हालांकि आलोचकों और दर्शकों द्वारा अभिनय और कहानी के लिए प्रशंसा की गयी लेकिन फिल्म बॉक्स ऑफिस पर एक व्यावसायिक विफलता थी।

                                     

ⓘ फ़िल्म

  • फ ल म य चलच त र म तस व र क इस तरह एक क ब द एक प रदर श त क य ज त ह ज सस गत क आभ स ह त ह फ ल म अकसर व ड य क मर स र क र ड करक बन ई
  • फ चर फ ल म ग र फ चर फ ल म और स न म पर श र ष ठ ल खन द द स ह ब फ ल क प रस क र र ष ट र य फ ल म प रस क र - सर वश र ष ठ फ ल म र ष ट र य फ ल म प रस क र
  • फ ल म उद दय ग म फ ल म क कई प रक र ह त ह इन पर आध र त फ ल म अलग - अलग प रक र ज न ह ज नर Genre कहत ह म वर ग क त क ज त ह एडव चर
  • फ ल म ह इस फ ल म क न र म त न र द शक, ल खक एव स प दक ऋष क श म खर ज ह इस फ ल म क म ख य कल क र र ज श खन न एव अम त भ बच चन ह इस फ ल म क
  • ह न द भ ष क फ ल म ह सदगत 1981 म बन ह न द भ ष क फ ल म ह क ब ल व ड क फ ल म ह ज सक न र द शक सत यज त र य ह य फ ल म ह द क मशह र
  • फ ल म ह फ ल म म बन ह न द भ ष क फ ल म ह प र ण ब प न परव न ब ब - व श ष भ म क अम त भ बच चन - व श ष भ म क ब न रम श द व र ख - व श ष भ म क
  • जय त य तक प रदर शन क क र त म न भ बन य स थ ह यह फ ल म भ रत य फ ल म क इत ह स म ऐस पहल फ ल म बन ज सन स स भ ज य द स न म घर म रजत जय त
  • ह न द एक शन - थ र लर फ ल म ह ज स द ध र थ आनन द द व र न र द श त ह आद त य च पड द व र अपन ब नर यश र ज फ ल म स क तहत न र म त इस फ ल म म ऋत क र शन
  • फ ल म क चर त र ह इस फ ल म क सम ल चन त म क सरह न क अल व इस क कई द स और व द श प रस क र भ म ल ह ऑस कर क सर व त तम अ तरर ष ट र य फ ल म
  • 1972 म बन ह न द भ ष क फ ल म ह 1971 - र ष ट र य फ ल म प रस क र सर वश र ष ठ पटकथ - सत यज त र य 1971 - र ष ट र य फ ल म प रस क र सर वश र ष ठ न र द शन
                                     

1001 मूवीज यू मस्ट सी बिफोर यू डाय

फ़ाइलें, जो मरने से पहले जरूर देखें दुनिया के विभिन्न आलोचकों द्वारा अलग समय पर तैयार की फिल्मों की समीक्षा, जिसका संपादक स्टीवन जे स्नाइडर ने किया था । 2004 में, ऑस्ट्रेलिया में, इस किताब के सात सबसे बेच पुस्तकों में शामिल किया गया था.