ⓘ अफ़्रीका में धर्म बहुआयामी हैं। अधिकांश लोग या तो इस्लाम को मानते हैं या ईसाई धर्म को। इस्लाम और ईसाई धर्म मेंअफ़्रीकी लोग विभिन्न प्रकार की धार्मिक मान्यताओं क ..

                                     

ⓘ अफ़्रीका में धर्म

English version: Religion in Africa

अफ़्रीका में धर्म बहुआयामी हैं। अधिकांश लोग या तो इस्लाम को मानते हैं या ईसाई धर्म को। इस्लाम और ईसाई धर्म मेंअफ़्रीकी लोग विभिन्न प्रकार की धार्मिक मान्यताओं को स्वीकार करते हैं और इनके धार्मिक आस्था के अंकड़े एकत्कर पाना बहुत ही मुश्किल है, क्योंकि ये कई आस्थाओं वाली मिश्रित जनसंख्या की सरकारों के लिए बहुत ही संवेदनशील विषय होता है। वर्ल्ड बुक विश्वकोष के अनुसार अफ़्रीका का सबसे बड़ा मान्य धर्म इस्लाम है। इसके बाद यहां ईसाई आते हैं। ब्रिटैनिका विश्वकोष के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या का ४५% भाग मुस्लिम और ४०% ईसाई लोग हैं। १५% से कम लोग या तो नास्तिक हैं, या अफ़्रीकी धर्मों को मानने वाले हैं। एक बहुत ही छोटा प्रतिशत हिन्दुओं, बहाई लोगों और यहूदियों को जाता है। यहूदियों के क्षेत्र यहां बीटा इज़्राइल, लेम्बा लोग और पूर्वी युगांडा के अबयुदय हैं।

यहां एक प्रकार की स्पर्धा चलती रहती है, कि कौन बड़ा है। किंतु यहां के बहुत से लोग दोनों ही धर्मों का एकसाथ पालन करते हुए चलते हैं और साथ ही यहां के पारंपरिक अफ़्रीकी धर्मों को भी मानते हैं। यहां के पारम्परिक धर्म लोक-संस्कृति पर आधारित हैं।

                                     

1.1. अब्राहमिक धर्म ईसाइ धर्म

ईसाई धर्म यहां राजा एज़ाना के एक्ज़म राज्य का शाही धर्म ३३० ई में घोषित हुआ था। इथियोपिया में प्रथम शताब्दी में आया। यूरोपियाई सेलर, फ़्रुमेन्टियस ४३० ई में इथियोपिया आया, तब उसका स्वागत वहां के शासकों ने किया, जो इसाई नहीं थे। उसके अनुसार दस वर्ष बाद राजा सहित पूरी प्रजा ने ईसाई धर्म ग्रहण किया व राजधर्म घोषित हुआ।

                                     

1.2. अब्राहमिक धर्म इस्लाम

इस्लाम के अनुयायी पूरे महाद्वीप में फैले हुए हैं। इस धर्म की जड़ें पैगम्बर मुहम्मद के समय तक जाती हैं, जब उनके संबंधी एवं अनुयायी एबेसिनिया में पैगन अरब लोगों से अपनी जान बचाने आये थे। इस्लाम अफ़्रीका में सिनाई प्रायद्वीप एवं मिस्र के रास्ते आया। इसका पूर्ण सहयोग इस्लामिक अरब एवं फारसी व्यापारियों एवं नाविकों ने किया। इस्लाम उत्तरी अफ़्रीका एवं अफ़्रीका के सींग में प्रधान धर्म है। पश्चिमी अफ़्रीका के आंतरिक भागों एवं तटीय क्षेत्रों में और पूर्वी अफ़्रीका के तटीय क्षेत्रों में भी यह ऐतिहासिक एवं प्रधान धर्म है। यहां बहुत से मुस्लिम साम्राज्य रहे हैं। इस्लाम की द्रुत-प्रगति बीसवीं एवं इक्कीसवीं शताब्दियों तक होती आयी है। न्यू यॉर्क टाइम्स के अनुसार ईसाई धर्म यहां एक अन्यदेशी धर्म ही रहा है।

                                     

1.3. अब्राहमिक धर्म यहूदी

यहूदी धर्म के लोग भी अफ़्रीका पर्यन्त फैले हुए मिलेंगे। बाहरी लोगों को अफ़्रीका में ईसाई एवं इस्लाम धर्मों के इतिहास जैसा नहीं प्रतीत होने पर भी यहूदी धर्म की यहां प्राचीन एवं समृद्ध इतिहास है। आज यहां कई देशों में यहूदी समुदाय हैं, जिनमें इथियोपिया के बीटा इज़्रायल, युगांडा के अब्युदय, घाना के हाउस ऑफ़ इज़्राइल, नाइजीरिया के इगबो यहूदी एवं दक्षिणी अफ़्रीका के लेम्बा लोग मुख्य हैं।

                                     

2. हिन्दू धर्म

इस्लाम, ईसाई एवं यहूदियों की अपेक्षा हिन्दू धर्म का इतिहास यहां अत्यन्त लघु है। हालांकि इसके अनुयाइयों की उपस्थिति यहां साम्राज्यवाद-काल से बहुत पहले, बल्कि मध्यकाल से ही रही है। दक्षिण अफ़्रीका एवं पूर्व अफ़्रीकी तटीय देशों में हिन्दू जनसंख्या उल्लेखनीय रही है।

                                     

3. पारम्परिक धर्म

पारम्परिक अफ़्रीकी धर्मों में ढेरों मान्यताएं और विश्वास प्रचलित हैं। ये कई अफ़्रीकी समाजों द्वारा माने जाते रहे हैं, किंतु खास जाति विशेष के लिए ये खास होते हैं। कई परिवर्तन किये हुए मुस्लिम एवं ईसाई लोग इन मान्यताओं को अभी भी मानते हैं। पश्चिम अफ़्रीका के बहुत से पारंपरिक मतों में से कुछ यहां दिए हुए हैं। ये बेनिन, नाइजीरिया, घाना आदि में प्रचलित हैं।

लेगबा, सांगो, एबोह, आदि

                                     
  • उत तर अफ र क एव अफ र क क स ग म प रध न धर म ह पश च म अफ र क क आ तर क भ ग एव तट य क ष त र म और प र व अफ र क क तट य क ष त र म भ
  • उप - सह र अफ र क एक भ ग ल क शब द ह ज सक आशय अफ र क क उस भ भ ग स ह ज सह र र ग स त न क दक ष ण म स थ त ह उप - सह र अफ र क क अश व त अफ र क भ
  • ब द ध धर म भ रत क श रमण परम पर स न कल ह आ एक धर म और मह न दर शन ह ईस प र व 6ठ शत ब द म ग तम ब द ध द व र ब द ध धर म क स थ पन ह ई ह एव त र प टक
  • स घ दक ष ण अफ र क दक ष ण अफ र क क एक ह न द स व स स थ ह इसक स थ पन अप र ल सन म वह क आर य प रत न ध सभ तथ सन तन धर म सभ क सम म ल त
  • ह ए और सह र क प र उप - सह र य अफ र क क उत तर क ष त र तक फ इल गय ई.प तक ध त - क र य पश च म अफ र क म आम ब त ह गय थ ई.प तक ध त
  • ह न द मह स गर म अफ र क क प र व छ र पर उत तर म ड ग स कर और उत तर - प र व म ज म ब क क ब च स थ त एक द व प य द श ह यह अफ र क मह द व प म क ष त रफल
  • अफ र क मह द व प क प च म ख य भ ग म ब ट गय ह - उत तर अफ र क पश च म अफ र क मध य अफ र क प र व अफ र क दक ष ण अफ र क इनक व स त त ब य र
  • घ न म ईस ई धर म सबस बड धर म ह घ न क लगभग 71.2 जनस ख य 2010 क जनगणन क अन स र व भ न न ईस ई स प रद य क सदस य ह क पहल स वत त रत
  • अफ र क म ल क रह ह अफ र क अम र क स य क त र ज य अम र क म नस ल य और ज त य अल पस ख यक क ह स ब स द व त य सबस बड सम ह ह अध कतर अफ र क अम र क
  • यह एक अल पस ख यक धर म ह ईस ईयत क पश च त सबस बड धर म 2001 क जनगणन क अन स र ज ब र ल टर म लगभग द हज र व यक त इस ल म धर म क अन य य ह ज
  • ध र म क उत स ह स ओतप र त धर म प रच रक न अफ र क क इस अ धक रमय द व प म अन क कष ट उठ त ह ए प रव श क य और धर म प रच र क क र य म ज ट गय य र प क
  • पहल स थ न पर ह और उसक ब द प रत शत म न प ल और म र शस क स थ न आत ह व श व क क ल आब द म लगभग 15 - 16 ह न द धर म क अन य य ल ग ह यह अन भ ग ख ल