ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 94

उत्तर प्रदेश का भूगोल

उत्तर प्रदेश भारत का चौथा बड़ा और सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है, जो देश के उत्तर-मध्य भाग में स्थित है। यह काफी बड़े भाग में फैला हुआ है और इसमें समतल जमीन से लेकर उत्तर में ऊँचे पहाड़ भी मौजूद हैं। उत्तर प्रदेश का मौसम भी अलग रहता है और इसका कार ...

गंगा नहर

गंगा नहर, एक नहर प्रणाली है जिसका प्रयोग गंगा नदी और यमुना नदी के बीच के दोआब क्षेत्र की सिंचाई के लिए किया जाता है। यह नहर मुख्य रूप से एक सिंचाई नहर है, हालांकि इसके कुछ हिस्सों को नौवहन के लिए भी इस्तेमाल किया गया था, मुख्यतः इसकी निर्माण सामग ...

गौरा बरहज

गौरा बरहज उत्तर प्रदेश के देवरिया जनपद का एक नगर है। यह घाघरा नदी के तट पर स्थित है। यहाँ का सोना मंदिर प्रसिद्ध है। बरहज प्रसिद्ध गांधीवादी सन्त बाबा राघवदास की कर्मभूमि रही है। बरहज में चार महान तीर्थों का समावेश है जो "बरहज" नाम में भी अपना बो ...

बाँसी

बाँसी उत्तर प्रदेश के सिध्दार्थ नगर जिले का एक कस्बा है! यह राप्ती नदी के तट पर बसा सुन्दर तथा एतिहासिक स्थल है! यहाँ स्थित राजा रतन सेन विद्यालय अपनी प्राचीनता तथा शिक्षण व्यवस्था के कारण प्रसिध्द है।

भटनी

भटनी उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में स्थित एक कस्बा एवं रेलवे स्टेशन है। यहाँ का पिन कोड २७४७०१ है। भटनी में जालपा माई का मंदिर बहुत प्रसिद्ध है। यंहा पर रेलवे स्टेशन के पास एक सरकारी चीनी मिल है जो कि वर्षों से बन्द पड़ा है एक ब्लाक भी है जिसमे ...

विन्ध्याचल

विन्ध्याचल उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले का एक धार्मिक दृष्टिकोण से प्रसिद्ध शहर है। यहाँ माँ विन्ध्यवासिनी देवी का मंदिर है। मार्कण्डेय पुराण के अनुसार, माँ विन्ध्यवासिनी ने महिषासुर का वध करने के लिए अवतार लिया था। यह नगर गंगा के किनारे स्थित ...

उत्तराखण्ड परिवहन निगम

उत्तराखंड परिवहन निगम, जिसे यूटीसी भी कहा जाता है, उत्तराखंड राज्य की सरकारी स्वामित्व वाली बस सेवा है। उत्तराखंड परिवहन निगम अपनी १४१९ बसें उत्तराखंड के शहरों के बीच, और अन्य राज्यों, जैसे हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान ...

काशीपुर का भूगोल

नई दिल्ली के १८० किमी उत्तर-पूर्व में स्थित काशीपुर उत्तराखण्ड के कुमाऊँ क्षेत्र के दक्षिण पश्चिमी भाग में रामगंगा तथा कोसी नदियों के अपवाह क्षेत्र के मध्य तराई में स्थित है। नगर के उत्तर में रामनगर का भाभर क्षेत्र पड़ता है, जो इसे शिवालिक पहाड़ि ...

केम्पटी जलप्रपात

केम्प्टी जलप्रपात, एक शानदाऔर मनमोहक जलप्रपात है जो भारत के राज्य उत्तराखण्ड के शहर मसूरी से 15 किमी की दूरी पर चकराता सड़क पर स्थित है और इस क्षेत्र का सबसे बड़ा आकर्षण है। यह जलप्रपात समुद्र तल से 1364 मीटर की ऊंचाई 78°-02’ पूर्व देशांतर और 30° ...

ग्वालबीना

ग्वालबीना गाँव, अल्मोड़ा जिले के सल्ट विधानसभा क्षेत्र में स्याल्दे ब्लॉक में ग्रामपंचायत ग्वालबीना के अंतर्गत आता है। ग्वालबीना गाँव, जौरासी क्षेत्र में सबसे प्राचीन गाँवों में से एक है ब्रिटिश काल में इस गाँव को राजा खुशाल सिंह, दौलत सिंह व उनक ...

चार धाम रेलवे

चार धाम रेलवे भारतीय रेल की एक परियोजना है जिसके तहत उत्तराखण्ड राज्य में स्थित हिंदू तीर्थों तक रेल द्वारा यात्रा सुगम बनाने हेतु कार्य किया जा रहा है। गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ तीर्थ छोटा चार धाम के रूप में जाने जाते हैं। इस परि ...

छिपलाकोट

छिपलाकोट काली नदी और गोरी नदी के बीच उत्तराखण्ड राज्य में स्थित है। यह पँचकुली पहाड़ियों के दक्षिण में स्थित है। यहाँ की सबसे ऊँची पर्वत नजूरीकुण्ड है। इसकी लम्बाई 4497 मीटर है।

जौनसार बावर

जौनसार बावर मसूरी के १५ किलोमीटर दूर चकराता तहसील में देहरादून जिले का एक गाँव है। यह स्थान जौनसारी जनजाति का मूल स्थान है जिनकी जड़े महाभारत के पाण्डवों से निकली हुई हैं।. देहरादून का यह जनजातीय क्षेत्र शहर के उत्तर-पश्चिम में स्थित है। कालसी, च ...

बेदिनी बुग्याल

बेदिनी बुग्याल एक हिमालयी अल्पाइन घास का मैदान है जो भारत के उत्तराखंड राज्य के चमोली जिले में ३,३५४ मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। बेदिनी बुग्याल वाँण गांव के पास, रूपकुंड के रास्ते पर पड़ता है। त्रिशूल और नंदा चोटियाँ यहाँ से स्पष्ट दिखाई देती हैं। ...

रॉबर्स केव

रॉबर्स केव भारत के उत्तराखण्ड राज्य के देहरादून में स्थित एक प्रसिद्ध पर्यटक स्थल है। यह मूलतः एक गुफा है, जिसमें से होकर एक छोटी सी जलधारा बहती है। यह स्थल देहरादून नगर के केंद्र से लगभग 8 किमी की दूरी पर स्थित है। गुफा लगभग 600 मीटर लंबा और दो ...

उल्लाल

स्रोत - वाल्मीकि रामायण उल्लाल कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले मैंगलोर तहसील के शहर.

गोकाक

गोकाक कर्नाटक के बेलगाँव जनपद में गोकाक तालुके का प्रधान नगर है। यह दक्षिणी रेलमार्ग पर स्थित गोकाक स्टेशन से १२ किमी दूर स्थित है और राजमार्ग द्वारा उससे जुड़ा हुआ है। पहले यहाँ कपड़ों की बुनाई तथा रँगाई का व्यवसाय बहुत उन्नत था जो बाद में अवनत ...

सावनदुर्ग

सावनदुर्ग भारत में स्थित एक पहाड़ी है जो बैंगलोर से 33 किलोमीटर पश्चिम की ओर मगदी रोड 12.919654°N 77.292881°E  / 12.919654; 77.292881 पर स्थित है। यह पहाड़ी एक मंदिर के लिए प्रसिद्ध है और यह दुनिया में पहली, सबसे विशाल एकल पत्थर पहाड़ी होने के ल ...

अंगमालि

यह भारत के सबसे दक्षिण में स्थित राज्य केरल के एर्नाकुलम जिले में स्थित एक नगरपालिका है। यह कोच्चि का उपनगर है। उत्तरी प्रवेश द्वार वाणिज्यिक केरल की राजधानी है। शहर में निहित है मेन के चौराहे केन्द्रीय सड़क और राष्ट्रीय राजमार्ग 47. एम सी रोड, ज ...

मूट्टम

मुट्टम भारत के केरल राज्य के इडुक्कि ज़िले में तोडुपुज़ा तालुका के अंतर्गत एक ग्राम पंचायत है। यह गाँव कोच्चि से 66 किलोमीटर दूर दक्षिण-पूर्व की ओर बसा है। यहां हिंदु, ईसाई और मुस्लीम जमात के लोगों मिल जुल के रहते है।

वर्कला बीच

वर्कला बीच, जिससे पापनासम बीच का नाम से भी जाना जाता है, वर्कला, तिरुवनंतपुरम, केरल, भारत, में स्थित एक बीच या समुंदर-तट है। यह अरब सागर और हिन्द महासागर का हिस्सा है। पापनासम शब्द का अर्थ है पापों का विनाश। ऐसा माना जाता है कि पापनासम बीच में स् ...

पाटण, गुजरात

पाटण भारत के गुजरात प्रदेश का जिला एवं जिला-मुख्यालय है। यह एक प्राचीन नगर है जिसकी स्थापना ७४५ ई में वनराज छावडा ने की थी। राजा ने इसका नाम अन्हिलपुर पाटण या अन्हिलवाड़ पाटन रखा था। यह मध्यकाल में गुजरात की राजधानी हुआ करता था। इस नगर में बहुत स ...

अमरकंटक बायोस्फियर रिजर्व

अचानकमार- अमरकण्टक जीवमण्डल रिज़र्व भारत का एक जीवमण्डल रिज़र्व है जिसका विस्तार मध्य भारत के दो राज्यों; मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ में होता है। इसका कुल क्षेत्रफ़ल 383.551 हैक्टेयर है।

छत्तीसगढ़ की मिट्टी

चट्टानों के टूटने-फूटने तथा उनमें भौतिक एवं रासायनिक परिवर्तन के फलस्वरुप जो तत्व एक अलग रूप ग्रहण करता है, वह अवशेष ही मिट्टी है। छत्तीसगढ़ में मिट्टियों में विविधता पायी जाती है। इसे निम्न भागों में बाटा जा सकता हैः-

शिवनाथ नदी

शिवनाथ नदी महानदी की प्रमुख सहायक नदी है। यह राजनांदगांव जिले की अंबागढ़ तहसील की 625 मीटर ऊँची कोडगुल पहाड़ी क्षेत्र से निकलकर शिवरीनारायण के पास महानदी में मिल जाती है। इसकी प्रमुख सहायक नदियाँ लीलागर, मनियारी, आगर, हांप, खारून, अरपा, आमनेर, सक ...

सुकुलभठली

सुकुलभठली मध्य भारत के छत्तीसगढ़ प्रदेश के रायगढ़ जिले का एक छोटा सा गांव है। पूर्व नाम कोलताभठली। जिला मुख्यालय से दुरी 16 की.मी. दक्षिण में एवं तहसील मुख्यालय पुसौर से उत्तर में 2 की.मी. में स्थित है। यह ग्राम पंचायत मुख्यालय है इसका डाकघर निकट ...

चादर ट्रेक

चादर ट्रेक जो कि लद्दाख क्षेत्र के ज़ंस्कार घाटी में सर्दियों मे किया गया एक दुर्गम यात्रा को कहा जाता है जो कि भारतीय राज्य जम्मू और कश्मीर मे है। जांस्कर घाटी कि खड़ी चट्टानों कि दीवारों कि ऊंचाई 600 मीटर तक पाई जाती है और जांस्कर नदी कुछ स्थान ...

कुलटि

कुलटि, पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिला का एक कस्बा है जो आसनसोल का पश्चिमी समीपवर्ती भाग है। पहले यह एक छोटा सा गाँव था किन्तु इंडियन आइरन ऐण्ड स्टील कम्पनी के कारण य बढ़ते-बढ़ते कस्बा बन गया है। सन १८७० में भारत की पहली वात्या भट्ठी यहाँ स्थापित हु ...

झालदा

झालदा, पश्चिमी बंगाल राज्य के पुरुलिया जिले का प्रसिद्ध व्यापारिक केंद्र है। यहाँ पर बर्तन का व्यापार अधिक होता है। राँची से पुरुलिया जानेवाली बसें झालदा होकर जाती हैं।

चौसा

चौसा का परिचय महरिष च्यवन मुनि के नाम से होता है चौसा बिहार में बक्सर के निकट कर्मनाशा नदी के किनारे चौसा नामक एक छोटा-सा कस्बा है। 27 जून 1539 ई. को इस स्थान पर हुमायूँ और शेरशाह सूरी के बीच चौसा का युद्ध हुआ था। हुमायूँ बुरी तरह पराजित हुआ और उ ...

बिहार का भूगोल

बिहार 24°2010" ~ 27°3115" उत्तरी अक्षांश तथा 82°1950" ~ 88°1740" पूर्वी देशांतर के बीच स्थित भारतीय राज्य है। मुख्यतः यह एक हिंदी भाषी राज्य है लेकिन उर्दू, मैथिली, भोजपुरी, मगही, बज्जिका, अंगिका तथा एवं संथाली भी बोली जाती है। राज्य का कुल क्षेत ...

मोहानिया

मोहानिया भभुआ प्रदेश - जिला भभुआ - बिहार स्थान 24.95° N 84.03° E क्षेत्रफल - समुद्र तल से ऊँचाई वर्ग कि॰मी॰ - १०१ मीटर समय मण्डल IST UTC+5:30 जनसंख्या २००१ - घनत्व १३१०४२ - /वर्ग कि॰मी॰ सांसद श्रीमती मीरा कुमार संकेतक - डाक - दूरभाष - वाहन - ८२११ ...

कोठी, सतना

कोठी सतना जिले में स्थित है। यह सतना से लगभग २५ किमी० दक्षिण स्थित है। इस नगर पंचायत के पास निम्न महत्वपूर्ण कस्बे स्थित है मझगवां, जैतवारा, बिरसिंहपुर आदि हैं।

खातेगांव

खातेगांव देवास ज़िले के आखिरी छोपर स्थित प्रमुख व्यापारिक केंद्र है। पूर्व में इसका नाम हरिगंज था, जो मराठा होल्कर राजघराने के नेमावर जिले से संबद्ध था। खातेगाँव इंदौर बैतूल राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 59 ए पर स्थित है, जो सीधा नागपुर से इंदौर को अ ...

मालवा का पठार

मालवा का पठार विंध्य पहाड़ियों के आधापर त्रिभुजाकार पठार है। यह एक लावा पठार है |इसके पूर्व में बुदेंलखंड और उत्तर पश्चिम में अरावली पहाड़ियाँ स्थित है। इसकी ढाल उत्तर पूर्व की ओर है। यहाँ की नदियाँ चंबल, काली सिंध, बेतवा, केन आदि है। इस पठार के ...

सेंधवा

सेन्धवा भारत के मध्य प्रदेश के बड़वानी ज़िले का एक नगर है। यह सेन्धवा तहसील का मुख्यालय भी है। सेन्धवा शब्द, सेन्धव से आया है जो होलकरों के समय यहाँ के शासक हुआ करते थे।

जेजुरी

जेजुरी महाराष्ट्र के पुणे जिले में एक नगर है। यह खंडोबा के मंदिर के लिये प्रसिद्ध है। मराठी में इसे खंडोबाची जेजुरी के नाम से जाना जाता है।

पलसदरी

पलसदरी, मुंबई उपनगरीय रेल के कर्जत -खोपोली खंड पर स्थित एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल और एक रेलवे जंक्शन है। यह कर्जत-लोनावला लाइन पर भी पड़ता है। खोपोली मार्ग पर इससे अगला स्टेशन केलावली है। पलसदरी का नाम "पलास" के पेड़ और "दरी" यानि "दर्रा" नामक दो श ...

विदर्भ

विदर्भ महाराष्ट्र प्रांत का एक उपक्षेत्र है। इस उपक्षेत्र में कुल 11 जिले है। महाराष्ट्र में कोयला खदान और मूल्यवान मँगणिज कि खदाने विदर्भ में हि बहुतायत में पाये जाते हैं। कोयला खदानो कि वजह से हि विदर्भ में चंद्रपूर, कोराडी, खापरखेडा, मौदा और त ...

डॉकी

डॉकी या डौकी मेघालय के पश्चिम जयन्तिया हिल्स जिले में स्थित में एक कस्बा है। डॉकी में उम्न्गोट नदी पर एक कर्षण सेतु बना है। इसका निर्माण १९३२ में अंग्रेजों द्वारा किया गया था। यह पश्चिम में खासी पर्वत को पूर्व में जयन्तिया पर्वत की ओर जोड़ता है। ...

नोंगखनम द्वीप

नोंगखनम द्वीप भारत के पूर्वोत्तर पर्वतीय राज्य मेघालय में सबसे बड़ा एवं एशिया का दूसरा सबसे बड़ा नदी द्वीप है। इसका स्थान एशिया एवं भारत में असम के माजुली द्वीप के बाद आता है। यह पश्चिम खासी पर्वत जिले के मुख्यालय नोंगस्टोइन से लगभग १४ किलोमीटर द ...

शिलाँग पीक

शिलांग पीक या शिलांग शिखर मेघालय की राजधानी शिलांग का सबसे ऊंचा पर्वत शिखर है। इसकी ऊंचाई सागर सतह से 1.961 मी॰ है। यहां से शिलांग शहर का विहंगम अवलोकन किया जा सकता है। इसी कारण से यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है और आंकडों के अनुसार यहां सर्वाधिक प ...

आगोलाई

आगोलाई एक भारतीय राज्य राजस्थान के जोधपुर ज़िले का एक गांव है जो बालेसर तहसील के अंतर्गत आता है। गांव का पिन कोड ३४२००१ है तथा टेलीफोन का कोड नम्बर ०२९२९ है। २०११ की जनगणना के अनुसार गांव की जनसंख्या २३८४ है। डुगर,जोलियाली,कोरणा इत्यादि इनके निकट ...

ईसरदा बाँध

ईसरदा बाँध भारतीय राज्य राजस्थान के टोंक, सवाई माधोपुर जिले में एक निर्माणाधीन बाँध परियोजना है। यह बनास नदी पर बनाया जा रहा एक बाँध है। वर्ष 2017 में ही इसके लिए धन आबंटित किया गया था लेकिन इसका निर्माण कार्य बाद में शुरू हुआ।

कोरणा

कोरणा एक भारतीय राज्य राजस्थान के बाड़मेर ज़िले का एक गांव है जो बालोतरा तहसील के अंतर्गत आता है। गांव का पिन कोड 344026 है तथा टेलीफोन का कोड नम्बर 02988 है। 2011 की जनगणना के अनुसार गांव की जनसंख्या 2634 है। आगोलाई,जोलियाली इत्यादि इनके निकटवृत ...

खेतड़ी

खेतड़ी नगर भारत के पश्चिमी प्रांत राजस्थान के झुन्झुनू जिले का एक कस्बा है। यह शेखावाटी का एक क्षेत्र है। वास्तव में खेतड़ी दो कस्बे हैं एक वह जिसे "खेतड़ी कस्बे" के रूप में जाना जाता है और जिसे राजा खेत सिंहजी निर्वान ने बसाया था। अन्य "खेतड़ी न ...

गोपालसर

गोपालसर एक भारतीय राज्य राजस्थान के जोधपुर ज़िले का एक गांव है जो बालेसर तहसील के अंतर्गत आता है। गांव का पिन कोड ३४२०२३ है तथा टेलीफोन का कोड नम्बर ०२९२९ है। २०११ की जनगणना के अनुसार गांव की जनसंख्या ९६६ है। बस्तवा,बेलवा,कुई इन्दा इत्यादि इनके न ...

जावर

जावर राजस्थान के उदयपुर जिले में स्थित है। यहाँ की खान विश्व की सबसे पुरानी जस्ता की खानों में से एक है। वर्तमान में नया जावर क्षेत्र एक छोटे से कस्बे के रूप में है जहाँ अधिकांश जनसंख्या भीलों की है। जावार में जावर माता नामक देवी का मंदिर है। इसक ...

जोबनेर

जोबनेर राजस्थान के जयपुर जिले का एक नगर है। यह नगर अपने कृषि महाविद्यालय के लिए प्रसिद्ध है। जोबनेर में ज्वाला माता का मंदिर है जिसमें हर साल हजारो भगत आते हैं जो जोबनेर के पर्वत पर स्थित है और यहा हर साल नवरात्रि मे भगत अधिक आते हैं।। जोबनेर प्र ...

डैरिया

डैरिया एक भारतीय राज्य राजस्थान के जोधपुर ज़िले का एक गांव है जो बालेसर तहसील के अंतर्गत आता है। गांव का पिन कोड ३४२३०६ है तथा टेलीफोन का कोड नम्बर ०२९२९ है। २०११ की जनगणना के अनुसार गांव की जनसंख्या २०५५ है।, भाळू,गोपालसर,बेलवा इत्यादि इनके निकट ...