ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 359

श्रीखंड

श्रीखंड एक भारतीय मिठाई है जिसे टंगी हुई दही और चीनी से बनाया जाता है। यह मुख्यत: गुजरात और महाराष्ट्र में लोकप्रिय है और इन दोनों राज्यों के प्रमुख मिष्ठानों में से एक है।

सिंगोरी

मूलरूप से कुमाऊँ से संबंध रखने वाली यह मिठाई भारत के उत्तरी पहाड़ी प्रदेश में मिलती है। इसको गाढ़े दूध में नारियल का चूरा डालकर बनाया जाता है। मोलू की पत्ती में लपेटा जाता है और गुलाब की पंखुड़ी से सजाकर परोसा जाता है।

सोहन पापड़ी

सोहन पापड़ी या सोम पापड़ी या सोहन हलवा या पतीशा एक लोकप्रिय भारतीय मिठाई है। इनके अलावा यह बांग्लादेश और पाकिस्तान में काफी लोकप्रिय है। यह आकार में वर्गाकार है और कुरकुरा और परतदार बनावट की होती है।

जीरा राइस

जीरा राइस एक पंजाबी व्यंजन है जो चावल और जीरे को मिला कर बनाया जाता है। इसी कारण इसे यह नाम मिला है। जीरा राइस प्रत्येक दिन के भोजन के रूप में उत्तर भारत में सर्वाधिक लोकप्रिय व्यंजन है। इसे बनाना बिरयानी की तरह मुश्किल नहीं है। यह आसानी से बनाया ...

राजमा (व्यंजन)

राजमा एक पंजाबी व्यंजन है। यह एक बहुत ही प्रसिद्ध भारतीय व्यंजन है जिसे राजमां, और बहुत से भारतीय मसालों के साथ गाढ़ी ग्रेवी में बनाया जाता है और आम तौपर इसे चावल व रोटी के साथ परोसा जाता है। हालाँकि राजमा मूलतः भारत की फसल नहीं है, परन्तु वर्तमा ...

रोग़न जोश

फ़ारसी में रोग़न का मतलब तेल और जोश का मतलब उत्साह या गरमी होता है। गर्म तेल में बनाए जाने के कारण इस पकवान का नाम रोग़न जोश पड़ा है। अन्य स्रोतों के अनुसार यह नाम राजस्थान और कश्मीर में उगाए जाने वाले रतनजोत नामक पौधे से आया है जिसका प्रयोग भी इ ...

ओकापी

ओकापी अफ्री़का के इटुरी वर्षावन, जो कि मध्य अफ्री़का के कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य में स्थित है, में पाया जाने वाला एक जीव है। यह जिराफ़ का सबसे करीबी रिश्तेदार है। आज यह वन में लगभग १०,०००-२०,००० की संख्या में हैं। ओकापी का पृष्ठ भाग गहरे कत्थई ...

गैण्डा

गैंडा एक जानवर है जिसकी पाँच जातियाँ पायी जाती हैं। इसमें से दो प्रजातियाँ अफ्रीका सार्थक में तथा तीन दक्षिण एशिया में मिलती हैं।

जिराफ़

जिराफ़ अफ़्रीका के जंगलों मे पाया जाने वाला एक शाकाहारी पशु है। यह सभी थलीय पशुओं मे सबसे ऊँचा होता है तथा जुगाली करने वाला सबसे बड़ा जीव है। इसका वैज्ञानिक नाम ऊँट जैसे मुँह तथा तेंदुए जैसी त्वचा के कारण पड़ा है।

रोमंथक

रोमंथक या जुगाली करने वाले वह सम-ऊँगली खुरदार स्तनधारी पशु होते हैं जो वनस्पति खाकर पहले अपने पेट के प्रथम ख़ाने में उसे नरम करते हैं और फिर जुगाली करके उसे वापस अपने मूंह में लाकर चबाते हैं। पेट के प्रथम कक्ष से मूंह में वापस लाये गए खाने को पाग ...

अक्टूबर २०१५ हिन्दू कुश भूकंप

२६ अक्टूबर २०१५ को, १४:४५ पर, हिंदू कुश के क्षेत्र में, एक 7.5 परिमाण के भूकंप ने दक्षिण एशिया को प्रभावित किया। मुख्य भूकंप के 40 मिनट बाद 4.8 परिमाण के पश्चात्वर्ती आघात ने फिर से प्रभावित किया; 4.1 परिमाण या उससे अधिक के तेरह और अधिक झटकों ने ...

अप्रैल 2015 नेपाल भूकम्प

2015 नेपाल भूकम्प क्षणिक परिमाण परिमाप पर 7.8 या 8.1 तीव्रता का भूकम्प था जो 25 अप्रैल 2015 सुबह 11:56 स्थानीय समय में घटित हुआ था। भूकम्प का अधिकेन्द्र लामजुंग, नेपाल से 38 कि॰मी॰ दूर था। भूकम्प के अधिकेन्द्र की गहराई लगभग 15 कि॰मी॰ नीचे थी। बचा ...

तियांजिन धमाके २०१५

चीन के उत्तरी शहर तियांजिन में १२ अगस्त २०१५ को ३० सैकण्ड के अन्तराल में कम से कम दो धमाके हुये। दोनों धमाके चीन के तियांजिन के बिन्हाई न्यू एरिया में खतरनाक और रासायनिक पदार्थों वाले एक गोदाम में हुए। धमाकों का कारण अभी तक ज्ञात नहीं हुआ है लेकि ...

पेटलावद धमाका

पेटलावद धमाका 12 सितंबर 2015 की सुबह को झाबुआ जिले के पेटलावद नामक नगर में हुआ था। जिसमें लगभग 105 लोगों की मृत्यु हो गई। इसका कारण खाना बनाने के लिए रखे गैस सिलेंडर को बताया गया है।

मई 2015 नेपाल भूकम्प

१२ मई २०१५ को दिन में १२ बजकर ३९ मिनट पर एक बार फिर ७.४ के परिमाण का भूकम्प आया। बजकर 9 मिनट पर भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। इसके बाद दोपहर 1 बजकर 44 मिनट पर फिर भूकंप का झटका आया। इसकी तीव्रता 4.4 थी। भूकम्प के ३ अभिकेन्द्रों में से २ नेपाल ...

अगुंग पर्वत में ज्वालामुखी विस्फोट (2017)

नवंबर 2017 में इंडोनेशिया के बाली द्वीप पर स्थित एक सक्रिय ज्वालामुखी अगुंग पर्वत में विस्फोट हुआ जिसके कारण निकटवर्ती क्षेत्रों में अफरा-तफरी मच गई तथा साथ ही वहाँ से होने वाले हवाई यात्रा में भी बाधा हुई। 28 नवंबर 2017 तक चेतावनी बढ़ा दी गई हैं ...

विस्फोट

किसी पदार्थ को एक साथ फ़ोडने की क्रिया को विस्फ़ोट कहा जाता है। विस्फ़ोट में अधिकतर बारूद का प्रयोग किया जाता है, इसमे बारूद भी अलग शक्तियों की होती है, जिसमे आर डी एक्स नामक बारूद बहुत ही शक्तिशाली होती है। बन्दूक और तोप के गोले को भी विस्फ़ोट स ...

ऍसऍन 1006

ऍसऍन 1006 एक महानोवा था जो सम्भवतः ज्ञात इतिहास की सबसे रोशन तारकीय घटना थी। इसका सापेक्ष कांतिमान −7.5 तक पहुँच गया था जो कि आकाश में शुक्र ग्रह से 16 गुना अधिक रोशन हुआ होगा। यह लगभग एक हज़ार वर्ष पूर्व अप्रैल 30 और मई 1, 1006 ईसवी के बीच आकाश ...

ऍस॰ऍन॰१८५

ऍस॰ऍन॰१८५ एक महानोवा विस्फोट था जो सन् १८५ ईसवी में मित्र तारे की दिशा में परकाऔर नरतुरंग तारामंडलों के बीच देखा गया था। चीनी खगोलशास्त्रियों ने "पश्चात हान की पुस्तक" में इसे "मेहमान तारा" का नाम दिया और संभव है कि रोमन साहित्य में भी इसका वर्णन ...

खगोलीय रेडियो स्रोत

खगोलीय रेडियो स्रोत अंतरिक्ष में ऐसी खगोलीय वस्तुएँ होती हैं जिनसे शक्तिशाली रेडियो तरंगें प्रसारित हो रही हों। ऐसी वस्तुओं में न्यूट्रॉन तारे, महानोवा अवशेष और काले छिद्र शामिल हैं, जो ब्रह्माण्ड की सर्वाधिक ऊर्जावान भौतिक प्रक्रियाओं को प्रदर्श ...

ऍस२ तारा

सोर्स २ या ऍस२ या ऍस०–२ हमारी गैलेक्सी, क्षीरमार्ग, के केन्द्र में स्थित खगोलीय रेडियो स्रोत धनु ए* के समीप स्थित एक तारा है। खगोलशास्त्री धनु ए* को एक विशालकाय कालाछिद्र मानते हैं और यह तारा उसकी 15.56 ± 0.35 वर्षों की कक्षीय अवधि से परिक्रमा कर ...

वारेन हेस्टिंग्स

वारेन हेस्टिंग्स, एक अंग्रेज़ राजनीतिज्ञ था, जो फोर्ट विलियम प्रेसीडेंसी का प्रथम गवर्नर तथा बंगाल की सुप्रीम काउंसिल का अध्यक्ष था और इस तरह 1773 से 1785 तक वह भारत का प्रथम वास्तविक गवर्नर जनरल रहा। 1787 में भ्रष्टाचार के मामले में उस पर महाभिय ...

क़ब्रिस्तान, प्राचीन

क़ब्रिस्तान प्राचीन या एक विस्तृत कब्र स्मारकों का कब्रिस्तान होता है। यह नाम प्राचीन यूनानी भाषा में नाम νεκρόπολις नेकोपोलिस से निकला है, जिसका शाब्दिक अर्थ है "मृतकों का शहर"। जहाँ हज़ारो वर्ष पूर्व लोगों दफनाया गया हो, विस्तृत मकबरे स्मारकों ...

आत्महत्या

आत्महत्या जानबूझ कर अपनी मृत्यु का कारण बनने के लिए कार्य करना है। आत्महत्या अक्सर निराशा के चलते की जाती है, जिसके लिए अवसाद, द्विध्रुवीय विकार, मनोभाजन, शराब की लत या मादक दवाओं का सेवनजैसे मानसिक विकारों को जिम्मेदार ठहराया जाता है। तनाव के का ...

आरुषि हेमराज हत्याकाण्ड

आरुषि हेमराज हत्याकाण्ड भारत का सबसे जघन्य व रहस्यमय हत्याकाण्ड था जो 15–16 मई 2008 की रात नोएडा के सेक्टर 25 में हुआ। सीबीआई के अनुसार पेशे से चिकित्सक दम्पति ने अपनी एकमात्र सन्तान आरुषि के साथ अपने घरेलू नौकर हेमराज की नृशंस हत्या कर दी और सबू ...

चुतर सिंह हत्याकांड

चुतर सिंह हत्याकांड जिसमें २५ जून २०१६ राजस्थान राज्य के जैसलमेर ज़िले के मोकळा गांव का निवासी २१ वर्षीय चुतर सिंह सोढ़ा जो कि जैसलमेर पुलिस के अंतर्गत एक हिस्ट्रीशीटर था उसका पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया, लेकिन राजपूत समाज के अंतर्गत" चुतर सिंह का ...

संतान-हत्या

1999 में संयुक्त राज्य अमेरिका में किगए शोध के अनुसार 1976 और 1997 के बीच माएँ बचपन में मरने वाले अधिकांश बच्चों की मृत्यु के ज़िम्मेदार थीं। इसके विपरीत 8 साल या उसके आगे आयु के बच्चों की हत्या के पीछे अधिकतर पिताओं का हाथ रहा है। इसके अतिरिक्त ...

सम्मान हत्या

एक सम्मान हत्या या सम्मान हेतु हत्या वह हत्या है जिसमें, किसी परिवार, वंश या समुदाय के किसी सदस्य की की हत्या उसी परिवार, वंश या समुदाय का एक या एक से अधिक सदस्य द्वारा की जाती है और हत्यारे इस विश्वास के साथ इस हत्या को अंजाम देते हैं कि मरने वा ...

सीरियल किलर

सीरियलकिलर शब्द एक उस व्यक्तित्व को परिभाषित करता है जो एक समय अंतराल या एक ही ढंग को अपना कर तीन या तीन से ज्यादा क़त्ल कर चूका हो या कर रहा हो उस व्यक्तित्व को हम सीरियलकिलर कहते हैं।

संगोली रायण्णा

संगोली रायण्णा कर्नाटक के स्वतन्त्रता सेनानी एवं योद्धा थे। वह किट्टूर साम्राज्य के सेना प्रमुख थे, उस समय रानी चेन्नम्मा ने शासन किया और उनकी मृत्यु तक ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी से लड़े। उनका जीवन 2012 कन्नड़ फिल्म सांगोली रेयना का विषय था।

महाराजा चंदू लाल

महाराजा चंदू लाल उर्दू के प्रमुख शायर थे। यह तीसरे निज़ाम - मीर अकबर अली खान सिकंदर जाह, आसिफ़ जाह तृतीय के समय में हैदराबाद दकन के प्रधानमंत्री रहे। इनका जन्म 1766 में हुआ और इनकी मृत्यु 15 अप्रैल 1845 को हुई।

नन्दलाल नेहरू

नन्दलाल नेहरू राजस्थान में खेतड़ी के दीवान थे। वर्ष १८७० में नन्दलाल ने खेतड़ी छोड़ दी और वकालत करके आगरा में कानूनी अभ्यास आरम्भ कर दिया। जब न्यायालय इलाहबाद विस्तापित हो गया तो वो भी वहाँ चले गये। वो गंगाधर नेहरू के दूसरे पुत्र थे और मोतीलाल ने ...

हरमन मेलविल

हरमन मेलविल अमेरिकी पुनर्जागरण काल के एक अमेरिकी उपन्यासकार, लघु कथाकाऔर कवि थे। उनके सबसे प्रसिद्ध कृतियों में टाआइपी शामिल है जो उनके पोलिनेशियाई जीवन के अनुभवों का स्नेहात्मक चित्रण है। व्हेल मछलियों के शिकापर आधारित उपन्यास मोबी-डिक भी उन्ही ...

कादरयार

कादरयार का जन्‍म गांव माछीके, जिला गुजरांवाला आज के पाकिस्‍तान में में हुआ। बह जाति का संधू जट्ट था। उसकी जन्‍म तिथि के बारे में विद्वानों में मतभेद हैं। उसने अपने मुरशद लाल शाह से शर्रा की शिक्षा हासिल की। कादरयार की क़ब्र उसके मुरशिद की क़ब्र क ...

इस्माइल पाशा

इस्माइल पाशा सन १८६३ से १८७९ तक मिस्र तथा सूडान का ख़ेदिव था। १८७९ में उसे ग्रेट ब्रिटेन के दबाव में पदच्युत होना पड़ा। अपने शासन काल में उसने अपने दादा मेहमत अली की भांति मिस्और सूडान का आधुनीकीकरण किया, औद्योगिक तथा आर्थिक विकास में जमकर निवेश ...

महादेव गोविंद रानडे

रानाडे नासिक, महाराष्ट्र के एक छोटे से कस्बे निफाड़ में पैदा हुए थे। उनका जन्म निंफाड़ में हुआ और आरम्भिक काल उन्होंने कोल्हापुर में बिताया, जहां उनके पिता मंत्री थे। इनकी शिक्षा मुंबई के एल्फिन्स्टोन कॉलेज में चौदह वर्ष की आयु में आरम्भ हुअई थी। ...

श्रीमद राजचन्द्र

श्रीमद राजचन्द्र, जन्म रायचन्दभाई रावजीभाई मेहता, एक जैन कवि, दार्शनिक और विद्वान थे। उन्हें मुख्यतः उनके जैनधर्म शिक्षण और महात्मा गांधी के आध्यात्मिक मार्गदर्शक के रूप में जाना जाता है।

मैटी ग्रिफ़िथ ब्राउन

उसके परिवार के स्वामित्व में गुलाम थे।.समय में, समय में,उसे अपने पिता से आधा दर्जन दास विरासत में मिले। अपनी पूर्व गुलाम-धारक की स्थिति के बावजूद, वह एक उन्मूलनवादी बन गई और अपने लेखन में मुक्ति के लिए वकालत की। वह 1856 में प्रकाशित अपने उपन्यास, ...

राल्फ थॉमस हॉचकिन ग्रिफ़िथ

उनका जन्म 25 मई 1826 को कॉर्सली, विल्टशायर में हुआ था। वह रेवरेंड आर.सी.ग्रिफ़िथ के बेटे 1830 की मैकक्वेस ऑफ बाथ के चैप्लेन थे। वह क्वींस कॉलेज के बीए थे और 24 नवंबर 1849 को संस्कृत के बोडेन प्रोफेसर चुने गए। उन्होंने वैदिक ग्रंथों को अंग्रेजी मे ...

अर्नेस्टो सिसैरा

अर्नेस्टो सिसैरा इतालवी गणितज्ञ थे जिन्होंने अवकल ज्यामिति के क्षेत्र में कार्य किया। यह उनका सबसे महत्त्वपूर्ण योगदान था जिसका वर्णन उन्होंने ज्यामिति के बारिकियों पर १८९० में लिखी अपनी पुस्तक में किया था। इस कार्य में वक्रों का वर्णन भी समाहित ...

जिओवानी स्क्यापारेल्ली

इस अनुच्छेद को विकिपीडिया लेख Giovanni Schiaparelli के इस संस्करण से अनूदित किया गया है। जिओवानी विर्गिनियो स्क्यापारेल्ली 14 मार्च 1835 - 4 जुलाई 1910 एक इतालवी खगोलज्ञ और वैज्ञानिक इतिहासकार थे। उन्होंने टुरिन विश्वविद्यालय और बर्लिन वेधशाला मे ...

गौर गोविंद राय

गौर गोविन्द राय, उपाध्याय हिंदू धर्म और ब्रह्म समाज के एक जाने माने पण्डित थे। उन्होंने 40 वर्षों तक ब्रह्म समाज की धर्मतत्त्व नामक पत्रिका का संपादन किया। उन्होंने केशव चन्द्र सेन की सहायता से विभिन्न धर्म ग्रन्थों के उद्धरणों का संग्रह किया और ...

आदमजी पीरभाई

आदमजी पीरभाई या सर आदमजी पीरभॉय ब्रिटिश भारत में बंबई में स्थित एक भारतीय व्यापारिक धर्माधिकारी, परोपकारी और दाऊदी बोहरा समुदाय के व्यक्ति थे। उनको बम्बई राज्य के एक महत्वपूर्ण व्यापारी, उद्योगपति और परोपकारी के रूप में जाना जाता है। आदमजी पीरभाय ...

हरि नारायण आपटे

हरिभाऊ आपटे का जन्म खानदेश में हुआ। पूना में पढ़ते समय इनके भावुक हृदय पर निबंधमालाकार चिपलूणकर और उग्र सुधारक आगरकर का अत्यधिक प्रभाव पड़ा। इसी अवस्था में इन्होंने कई अंग्रेजी कहानियों का मराठी में सरस अनुवाद किया। विद्यार्थी जीवन में ही इन्होंन ...

महमूद अल-हसन

महमूद अल-हसन: जिन्हें महमूद हसन भी कहा जाता है, महमूद देवबंदी सुन्नी मुस्लिम विद्धान थे जो भारत में ब्रिटिश शासन के खिलाफ सक्रिय थे। उनके प्रयासों और छात्रवृत्ति के लिए उन्हें केंद्रीय खिलाफत समिति द्वारा "शेख अल-हिंद" ।

हिंद नवाफल

हिंड नॉफल एक सीरियाई एंटिओचियन ग्रीक ऑर्थोडॉक्स पत्रकाऔर नारीवादी लेखक थी। वह अरब की दुनिया की पहली महिला थीं और एक महिला पत्रिका और नारीवाद के शुरुआती प्रवर्तक के रूप में व्यापक मेना क्षेत्र में।

मॉरिस ब्लूमफ़ील्ड

मॉरिस ब्लूमफील्ड बेलिज Bielitz, पोलिश: Bielsko में पैदा हुआ था, जो उस समय ऑस्ट्रिया के सिलेसिया में था और अब पोलैंड में है। वे यहूदी माता-पिता की संतान थे। उनकी बहन फैनी ब्लूमफील्ड ज़िसलर थी और भाषाविद् लियोनार्ड ब्लूमफ़ील्ड उनके भतीजे थे। उन्हों ...

मधुसूदन दास

मधुसूदन दास ओड़िया साहित्यकार एवं ओडिया-आन्दोलन के जनक थे। उन्हें उत्कल-गौरव कहा जाता है। उन्होने ही सबसे पहले स्वतंत्र ओड़िशा की संकल्पना की थी। वे मधुबाबु नाम से सर्वत्र जाने जाते थे।

जेन एडम्स

जेन एडम्स – 21 मई, 1935), सामाजिक कार्य की मां के रूप में जानी जाने वाली, एक अग्रणी अमेरिकी समझौता कार्यकर्ता / सुधारक, सामाजिक कार्यकर्ता, सार्वजनिक दार्शनिक, समाजशास्त्री, लोक प्रशासक, संरक्षक, महिला मताधिकाऔर विश्व शांति में लेखक, और नेता थी। ...

स्वामी भक्तिसिद्धान्त सरस्वती

स्वामी भक्तिसिद्धान्त का जन्म 20 जुलाई 1873 को चैतन्य महाप्रभु की शिष्य परम्परा के महान वैष्णव आचार्य भक्ति विनोद ठाकुर के पुत्र के रूप में जगन्नाथपुरी में हुआ था।