ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 345

महात्मा का इंतजार

महात्मा का इंतजाआर के नारायण द्वारा लिखित मूलतः एक अंग्रेजी उपन्यास है। महात्मा का इंतजार इस बात का अध्ययन है कि गांधीवादी क्रांति की भारतीय जन साधारण पर कैसी प्रतिक्रिया हुई। राजनीतिक प्रचार से दूर एक मुकम्मल सर्जनात्मक कलाकृति के रूप में यह अध् ...

राज्यश्री (नाटक)

राज्यश्री जयशंकर प्रसाद द्वारा रचित एक नाटक है। इसका प्रकाशन वर्ष 1915 है। इस नाटक में मालवा, स्थाणेश्वर, कन्नौज और मगध की राजपरिस्थितियों का वर्णन मिलता है। यह उनका प्रथम ऐतिहासिक नाटक है। इस नाटक का सारांश यह है, कि स्थानेश्वर में अपना राज्य स् ...

ऐतिहासिक उपन्यास

ऐतिहासिक उपन्यास उपन्यास साहित्य की वह विधा है जिसमें किसी भी कालखंड विशेष की प्रख्यात् कथा का चित्रण हो। वैसे तो किसी भी कालखंड विशेष का चित्रण ऐतिहासिक उपन्यास हो सकता है। रंगभूमि, बूंद और समुद्र, झूठा सच और उत्‍तरकथा भी अपने युग का प्रामाणिक च ...

ऑल ब्राइट प्लेसेस

ऑल ब्राइट प्लेसेस, जेनिफर निवेन का एक युवा वयस्क उपन्यास है। यह उपन्यास पहली बार 6 जनवरी 2015 को क्नोप प्रकाशन समूह के माध्यम से प्रकाशित हुआ था और निवेन की पहली युवा वयस्क कृति है। इसी पर आधारित एक फिल्म निर्मित हो रही है जिसमें एले फैनिंग ने अभ ...

कितने चौराहे

कितने चौराहे एक उपन्यास है जिसके रचायिता फणीश्वर नाथ रेणु हैं। इस उपन्यास में आजादी के ठीक पहले तथा उसके अन्त में आजादी के तुरत बाद के ग्रामीण भारत में हो रही गतिविधियों को चित्रित किया गया है। उपन्यास का परिवेश, रेणु के अन्य उपन्यासों की तरह, उत ...

कृष्णावतार

कृष्णावतार कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी द्वारा गुजराती में रचित सात उपन्यासों की एक शृंखला है। आठवें उपन्यास के लेखन के समय उनका देहान्त हो जाने के कारण यह उपन्यास अपूर्ण रह गया। ये उपन्यास कृष्ण के जीवन तथा महाभारत पर आधारित हैं। मुंशी जी ने प्रस्त ...

खाँटी किकटिया

खाँटी किकटिया हिंदी के चर्चित कहानीकाऔर उपन्यासकार अश्विनी कुमार पंकज का उपन्यास है। ‘माटी माटी अरकाटी’ फेम श्री पंकज का यह दूसरा उपन्यास है जो उन्होंने अपनी मातृभाषा मगही में लिखा हॅै। जनवरी, 2018 में प्रकाशित यह उपन्यास 600 ईसा पूर्व के सुप्रसि ...

घेरा (उपन्यास)

घेरा एक पुस्तक है जिसके लेखक वरिष्ठ पत्रकाऔर लेखक ओमकार चौधरी है। ओमकार चौधरी वर्तमान में हरिभूमि नामक समाचार पत्पर सम्पादक है। यह पुस्तक) सन २००१ में प्रकाशित हुई थी।

डॉन क्विक्ज़ोट

डॉन क्विक्ज़ोट एक किताब है। एक स्पेनिश लेखक Cervantes Saavedra द्वारा लिखित उपन्यास है। यह एक काल्पनिक कहानी है.इस उपन्यास में डाॅन क्विक्ज़ोट की उमर 50वर्ष,है। जो कि किताबें तब तक पढता है। जब तक कि उसका दिमाग नहीं घूम जाता। वो खुद को शूरवीर कहता ...

तमस (उपन्यास)

तमस भीष्म साहनी का सबसे प्रसिद्ध उपन्यास है। इसका प्रकाशन 1973 में हुआ था। वे इस उपन्यास से साहित्य जगत में बहुत लोकप्रिय हुए थे। तमस को १९७५ में साहित्य अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था। इस पर १९८६ में गोविंद निहलानी ने दूरदर्शन धारावा ...

द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर

द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर: नरेंद्र मोदी और उनका भारत भारतीय लेखक और राजनेता शशि थरूर, भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में एक 2018 गैर-कथा पुस्तक है। इसे 26 अक्टूबर, 2018 को मनमोहन सिंह, पी॰ चिदंबरम और अरुण शौरी द्वारा जारी किया गय ...

परती परिकथा

परती परिकथा एक उपन्यास है जिसके रचायिता फणीश्वर नाथ रेणु हैं। मैला आँचल के बाद यह रेणु का दूसरा आंचलिक उपन्यास है। इस उपन्यास के साथ ही हिंदी साहित्य जगत दो भागों में विभक्त हो गया: पहला वर्ग तो इसको मैला आँचल से भी बेहतर उपन्यास मानता था, वहीँ, ...

पौराणिक उपन्यास

किसी प्रसिद्ध पुराकथा को माध्यम बनाकर लिखा गया ऐसा उपन्यास पौराणिक उपन्यास कहलाता है जो उपनिषदों के मूल्यों को चरित्रों के माध्यम से उपन्यास के रूप में प्रस्तुत करे। पौराणिक उपन्यास केवल एक काल विशेष की घटनाएँ ही नहीं हैं, उनकी अपनी एक मूल्य-व्यव ...

प्राइड एंड प्रिज्युडिस

प्राइड एंड प्रिज्युडिस जेन ऑस्टेन द्वारा लिखी एक लोकप्रिय उपन्यास है। प्राइड एंड प्रेजुडिस जेन ऑस्टेन का 1813 का रोमांटिक उपन्यास है। यह नायक एलिजाबेथ बेनेट के भावनात्मक विकास को दर्शाता है, जो जल्दबाजी में निर्णय लेने की त्रुटि सीखता है और सतही ...

भूतनाथ

भूतनाथ बाबू देवकीनंदन खत्री का तिलस्मि उपन्यास है! चंद्रकान्ता की कहानी चंद्रकान्ता संतति मे आगे बढ़ाई गयी है! और संतति के बाद उसी कहानी को भूतनाथ और उसके बाद रोहतास मठ के ज़रिए अंज़ाम तक पहुँचाया गया है! चंद्रकान्ता संतति मे एक रहस्मयी किरदार का ...

मेरी तेरी उसकी बात

मेरी तेरी उसकी बात हिन्दी के विख्यात साहित्यकार यशपाल द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 1976 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मेरी तेरी उसकी बात हिंदी उपन्यासकार यशपाल द्वारा लिखा गया उपन्यास है। इसकी पृष्ठभूमि अगस् ...

मैडीसन काउंटी के पुल (पुस्तक)

यह लेख पुस्तक के बारे में है। फिल्म के लिए, मैडीसन काउंटी के पुल को देखें। संगीत के लिए, मैडीसन काउंटी के पुल देखें। पुलों के लिए, मैडीसन काउंटी के पुल की सूची देखें। मैडीसन काउंटी के पुल रॉबर्ट जेम्स वालर द्वारा 1992 में लिखित सबसे अधिक बिकने वा ...

रंगभूमि

रंगभूमि प्रेमचंद द्वारा रचित उपन्यास है। उपन्यास - रंगभूमि लेखक-मुंशी प्रेमचंद पूँजीवाद के साथ जनसंघर्ष व बदलाव की महान गाथा है प्रेमचंद की ‘रंगभूमि’। पूँजीवाद के साथ जनसंघर्ष व बदलाव की महान गाथा है प्रेमचंद की ‘रंगभूमि’ उपन्यास सम्राट प्रेमचंद ...

लॉर्ड ऑफ़ द फ़्लाइज़

लॉर्ड ऑफ़ द फ़्लाइज़ लॉर्ड ऑफ़ द फ़्लाइज़ विलियम गोल्डिंग द्वारा लिखित एक उपन्यास है। यह शीर्षक बीलज़ेबब नामक दुष्ट यहूदी देवता के नाम का शाब्दिक अनुवाद है जो फ़िलिस्तीन के एक्रोन शहर में पूजा जाता था। यह उपन्यास 1954 में प्रकाशित हुआ था। गोल्डिं ...

स्नो (पामुक उपन्यास)

स्नो तुर्की उपन्यासकार ओरहान पामुक द्वारा रचित उपन्यास है। इसकी रचना उन्होंने वर्ष २००२ में की और इसका हिन्दी अनुवाद वर्ष २०१२ में प्रकाशित हुआ। इसका हिन्दी संस्करण पेंगुइन बुक्स इण्डिया ने प्रकाशित किया।

किंवदंती

किंवदंती दृष्टांत स्वरूप उल्लेख की जानेवाली विपर्यस्त अथवा असंबद्ध इतिहास की घटनाओं के आधापर लोकजीवन में प्रचलित कथाओं को कहते हैं। सामान्यत: इस शब्द का प्रयोग दंतकथा और अनुश्रुति के रूप में किया जाता है किंतु इससे ध्वनित होने वाली कथाएँ उनसे किं ...

कवि सम्मेलन

हिन्दी प्रेमी पूरी दुनिया में हिन्दी कवि सम्मेलन आयोजित करवाते हैं। विश्व का कोई भी भाग आज कवि सम्मेलनों से अछूता नहीं है। भारत के बाद सबसे अधिक कवि सम्मेलन आयोजित करवाने वाले देशों में अमरीका, दुबई, मस्कट, सिंगापोर, ब्रिटेन इत्यादि शामिल हैं। इन ...

चाँद का कुर्ता

"चाँद का कुर्ता" रामधारी सिंह दिनकर द्वारा रचित एक बाल कविता है| अपनी यात्रा करते समय चाँद को सर्दी लगती तो माँ से एक झिंगोला सिलवाने को कहता है| लेकिन माँ को समझ नहीं आता कि चाँद को किस नाप का कुर्ता सिलवाए क्योंकि चाँद का आकार तो घटता-बढ़ता रहत ...

चौबोला

चौबोला या चौबोल उत्तर भारत और पाकिस्तान की काव्य परम्परा में प्रयोग होने वाली चार पंक्तियों की एक छंद शैली है, जो अक्सर लोक-गीत में प्रयोग की जाती है।

द राइम ऑफ़ द एन्शियंट मेरिनर

द राइम ऑफ़ द एन्शियंट मेरिनर अंग्रेज़ी कवि सैम्युअल टेलर कॉलरिज द्वारा लिखित सबसे लंबी कविता है जिसे १७९७-९८ के बीच लिखा और लिरिकल बैलाड्स के प्रथम संस्करण में १७९८ में प्रकाशित किया गया था।

चिंतामणि

चिंतामणि सन् १९३९ में प्रकाशित आचार्य रामचंद्र शुक्ल द्वारा रचित हिन्दी का निबंधात्मक ग्रंथ है। इस पुस्तक के तीन भाग हैं। चिन्तामणि के प्रमुख निबन्ध हैं- भाव या मनोविकार, उत्साह, श्रद्धा और भक्ति, करुणा, लज्जा और ग्लानि, घृणा, ईर्ष्या, भय, क्रोध, ...

मन पवन की नौका

मन पवन की नौका कुबेरनाथ राय का निबन्ध-संग्रह है। इसमें भारत तथा सुवर्णभूमि एवं सुवर्णद्वीप के सांस्कृतिक सम्बन्धों का विवरण मिलता है। इसमें वृहत्तर भारत का विवरण भी मिलता है। यह साहित्यिक रचना द्वीपान्तर भारत ;दक्षिण-पूर्व एशियाद्ध का सांस्कृतिक ...

ललित निबंध

ललित निबंध निबंध का एक प्रकार है। ललित निबन्ध विधा की उपस्थिति का अभास आधुनिक काल और गद्य विधा के आरम्भ के साथ ही मिलने लगता है। भारतेन्दु हरिश्चन्द्र, प्रतापनारायण मिश्र, सरदार पूर्ण सिंह, चन्द्रधर्शर्मा गुलेरी, बालमुकुन्द गुप्त, पदुमलाल पुन्नाल ...

लिखने का कारण

लिखने का कारण रघुवीर सहाय द्वारा लिखित निबंध-संग्रह है। इसका प्रकाशन सन् 1978 मेें हुआ था। रचना-प्रक्रिया, साहित्य, भाषा तथा समाज संबंधी विषयों को इस निबंध-लेखन का आधार बनाया गया है।

द एडवेंचर ऑफ़ द स्पेकेल्ड बैंड

"द एडवेंचर ऑफ़ द स्पेकेल्ड बैंड" स्कॉटिश लेखक सर आर्थर कॉनन डॉयल द्वारा शर्लक होम्स पर लिखी गई ५६ लघुकथाओं में से एक है। यह द एडवेंचर्स ऑफ़ शर्लक होम्स में एकत्रित बारह कहानियों में आठवीं है। इसके अतिरिक्त यह उन चार शर्लक होम्स कहानियों में से एक ...

द जंगल बुक

द जंगल बुक नोबेल पुरस्कार विजेता अंग्रेजी लेखक रुडयार्ड किपलिंग की कहानियों का एक संग्रह है। इन कहानियों को पहली बार कालीचरण 1893-94 में पत्रिकाओं में प्रकाशित किया गया था। मूल कहानियों के साथ छपे कुछ चित्रों को रुडयार्ड के पिता जॉन लॉकवुड किपलिं ...

द मेयर ऑफ़ कैस्टर्ब्रिड्ज

थामस हार्डी की रचाना द मेयर आफ़ कैस्टर्ब्रिदड्ज प्रथम में ग्राफ़िक नामक समाचार पत्र में तथा हार्पर्स वीक्ली में जनवरी १८८६ में प्रकाशित की गई थी। इसके अगले वर्ष के मई में यह कुछ परिवर्तन के पश्चात एक सम्पूर्ण उपन्यास के रूप में प्रकाशित हुआ। इसे ...

क़सीदा

क़सीदा शायरी का वह रूप है जिसमें किसी की प्रशंसा की जाए। कुछ शायर अपने बेहतरीन क़सीदों के लिए विख्यात हुए हैं, जैसे कि मिर्ज़ा सौदा। क़सीदे लिखने का रिवाज अरब संस्कृति से आया है, जहाँ यह इस्लाम के आने से बहुत पूर्व से लिखे जा रहे हैं।

मुखम्मस

मुखम्मस उर्दू कविता का एक प्रारूप है। इसकी उत्पत्ति फ़ारसी भाषा से हुई है ऐसा माना जाता है। इसमें प्रत्येक बन्द या चरण 5-5 पंक्ति का होता है पहले चरण की सभी पंक्तियों में एक-सी लयबद्धता होती है। जबकि बाद के सभी बन्द अपनी अन्तिम पंक्ति में शुरुआती ...

हम देखेंगे

हम देखेंगे कि फैज़ अहमद फैज़ द्वारा लिखित एक लोकप्रिय क्रांतिकारी उर्दू नज़्म है। इकबाल बानो की आवाज़ में इसकी प्रस्तुति ने इसे उन लाखों लोगों तक पहुँचा दिया है जो भारतीय भाषाओं को जानते हैं।

कन्नड साहित्य सम्मेलन

कन्नड साहित्य सम्मेलन कन्नड साहित्यकारों, लेखकों तथा कननाडिगारु लोगों का सम्मेलन है। इसका लक्षय कन्नड भाषा, कन्नड साहित्य, कला, संगीत और संस्कृति का विकास करना है। इसका आरम्भ १९१५ में एच वी नान्जुनैया ने किया था। पहला सम्मेलन बंगलुरु में हुआ था। ...

कन्नड़ साहित्य

कन्नड साहित्य का इतिहास लगभग डेढ़ हजार वर्ष पुराना है। कुछ साहित्यिक कृतियाँ जो ९वीं शताब्दी में रची गयीं थीं, अब भी सुरक्षित हैं। कन्नड साहित्य को मुख्यतः तीन साहित्यिक कालों में बांटा जाता है- प्राचीन काल, मध्यकाल तथा आधुनिक काल । कन्नड साहित्य ...

कुण्डलकेसि

कुण्डलकेसि तमिल भाषा में लिखित एक महाकाव्य है। नातकुत्तनार् इसके रचयिता थे। यह पांच तमिल महाकाव्य में एक है। इसकी समय अवधि पांचवीं शताब्दी से पहले होने का अनुमान किया गया है।

जीवक चिन्तामणि

जीवक चिन्तामणि एक तमिल महाकाव्य है। यह जैन मुनि तिरुतक्कदेवर द्वारा रचित जैन धर्म ग्रन्थ है। इस ग्रंथ को तमिल साहित्य के 5 प्रसिद्ध ग्रंथों में गिना जाता है। 13 खण्डों में विभाजित इस ग्रंथ में कुल 3.145 पद हैं। इसमें कवि ने जीवक नामक राजकुमार का ...

पोंनियिन सेलवन

पोंनियिन सेलवन 2400 पृष्ठ का कल्कि कृष्णमूर्ति द्वारा लिखित 20 वीं सदी का एक प्रसिद्ध तमिल ऐतिहासिक उपन्यास है। 5 संस्करणों में लिखा गया यह उपन्यास अरुलमोज्हीवर्मन की कहानी का वर्णन करता है । पोंनियिन सेलवन को व्यापक रूप से अभी तक का तमिल में लिख ...

रामावतारम्

रामावतारम्‌ के रचयिता कंवन चोल राजा कुलोतुंग तृतीय के दरबार में थे। उन्होंने रामायण की रचना अपने संरक्षक सदयप्पा वल्लाल के प्रोत्साहन से की। उनका जन्म तिरॅवेन्नैनलुर, जिला तंजौर में हुआ। उनका संरक्षण कृपालु सदयप्पा ने किया जिनका उल्लेख कंबन की रच ...

वलैयापति

वलैयापति तमिल भाषा में लिखित एक महाकाव्य है। इसका लेखक नाम नहीं जानता है। यह पांच तमिल महाकाव्य में एक है। इसकी समय अवधि दसवीं शताब्दी से पहले होने का अनुमान किया गया है।

विश्व शास्त्रीय तमिल सम्मेलन २०१०

विश्व शास्त्रीय तमिल सम्मेलन २०१०, तमिल विद्वानों, शोधकर्ताओं, कवियों तथा ख्यातिलब्ध जनों का एक अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन है। यह २३ जून से २७ जून २०१० तक कोयम्बटूर में सम्पन्न हुआ।

शिलप्पदिकारम

शिलप्पादिकारम को तमिल साहित्य के प्रथम महाकाव्य के रूप में जाना जाता है। इसका शाब्दिक अर्थ है- "नूपुर की कहानी"। इस महाकाव्य की रचना चेर वंश के शासक सेन गुट्टुवन के भाई इलांगो आदिगल ने लगभग ईसा की दूसरी-तीसरी शताब्दी में की थी। शिलप्पादिकारम की स ...

संगम साहित्य

यह तमिल भाषा के संगम साहित्य संबंधी लेख है। संगम के अन्य अर्थों के लिये यहां जाएं - संगम संगम साहित्य तमिल भाषा में पांचवीं सदी ईसा पूर्व से दूसरी सदी के मध्य लिखा गया साहित्य है। इसकी रचना और संग्रहण पांड्य शासकों द्वारा मदुरै में आयोजित तीन संग ...

भैरव अर्याल

राष्ट्रिय आह्वान लघुकाव्य, वि. सं. २०१८ इतिश्री हास्यव्यंग्य निबन्धसंग्रह, वि. सं. २०२८ नेपाली काव्यमा प्रकृति समालोचना, वि. सं. २०३० गलबन्दी हास्यव्यंग्य निबन्धसंग्रह, वि. सं. २०२६ उपवन कवितासंग्रह, वि. सं. २०१८ दश औतार हास्यव्यंग्य निबन्धसंग्रह ...

मुनामदन

मुनामदन नेपाली भाषा का सबसे ज्यादा बिकने वाला साहित्यिक कृति है। यह महाकाव्य झ्याउरे छन्द मैं नेपाली भाषा का महाकवि लक्ष्मीप्रसाद देवकोटा ने लिखा था। इस काव्य मुना और मदन नामक पति-पत्नी के जीवन को दर्शाता है। इस काव्य के मद्दत से लक्ष्मीप्रसाद दे ...

सेतो बाघ

सेतो बाघ नेपाली भाषा का एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक उपन्यास है। यह उपन्यास डायमण्ड समशेर जंग बहादुर राणा ने लिखा था। इस उपन्यास नेपाल का राणा परिवार का उदय और पारिवारिक कलह से सम्बन्धित है।

पंजाबी साहित्य

पंजाबी साहित्य का आरंभ कब से होता है, इस विषय में विद्वानों का मतैक्य नहीं है। फरीद को पंजाबी का आदि कवि कहा जाता है ; किंतु यदि इस बात को स्वीकार किया जाय कि जिन फरीद की बाणी "आदि ग्रंथ" में संगृहीत है वे फरीद सानी ही थे तो कहना पड़ेगा कि 16वीं ...

पिंजर (उपन्यास)

पिंजर उल्लेखनीय कवयित्री और उपन्यासकार अमृता प्रीतम द्वारा 1950 में लिखित पंजाबी उपन्यास है। यह एक हिंदू लड़की, पूरो की कहानी है, जिसका एक मुस्लिम आदमी रशीद ने अपहरण कर लिया। जब वो रशीद के घर से अपने माता-पिता के घर भागती है तो उसके माता-पिता उस ...