ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 306

डीआरडीओ नेत्रा

डीआरडीओ नेत्रा एक भारतीय, हल्के वजन, निगरानी और टोही अभियानों के लिए स्वायत्त मानव रहित हवाई वाहन है। यह संयुक्त रूप से रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान और मुंबई की एक निजी फर्म आइडियाफोर्ज द्वारा विकसित किया गया है।

डीआरडीओ रुस्तम

तापस २०१ या डीआरडीओ रुस्तम एक मध्यम ऊंचाई वाला मानवरहित लड़ाकू हवाई वाहन है जिसे रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन द्वारा विकसित किया जा रहा है। यह भारत की तीनों सेनाओं द्वारा प्रयोग किया जायेगा। नवम्बर २०१६ में इसका सफल परीक्षण किया गया। परीक्षण बं ...

लिंडलर उत्प्रेरक

लिंडलर उत्प्रेरक एक विषमांगी उत्प्रेरक है जो कि कैल्शियम कार्बोनेट पर जमा और सीसा के विभिन्न रूपों के साथ प्रतिक्रिया करके तैयार पैलेडियम होता है। सीसा पैलेडियम साइटों को निष्क्रिय करने के लिए कार्य करता है। पैलेडियम सामग्री आमतौपर उत्प्रेरक का व ...

उच्चतापसह धातु

उच्चतापसह धातु धातुओं की एक श्रेणी है जो अत्याधिक सख़्त होती हैं और बिना आकार खोये ऊँचा तापमान सह सकती हैं। इस श्रेणी में कौन-सी धातु शामिल है और कौन-सी नहीं इस बात को लेकर वैज्ञानिकों में मतभेद है, लेकिन आमतौपर आवर्त सारणी की ५वीं कतार के दो तत् ...

अल्फा क्षय

{"आधार}} अल्फा क्षय Alpha decay या α-decay एक प्रकार का रेडियोधर्मी क्षय है जिसमें परमाणु के नाभिक से अल्फा कण का उत्सर्जन होता है और एक नया परमाणु बनता है जिसकी द्रव्यमान संख्या मूल परमाणु से ४ कम होती है तथा परमाणु संख्या मूल परमाणु के परमाणु स ...

ग्रे (इकाई)

ग्रे, जिसका चिन्ह Gy है, अन्तरराष्ट्रीय मात्रक प्रणाली में आयनकारी विकिरण मापने की एक व्युत्पन्न इकाई है। एक ग्रे की परिभाषा एक जूल विकिरण ऊर्जा प्रति किलोग्राम है, यानि दस किलोग्राम की कोई चीज़ अगर दस जूल विकिरण ऊर्जा सोख ले तो यह एक ग्रे आयनकार ...

ट्राइटियम

ट्राइटियम हाइड्रोजन का एक रेडियोधर्मी समस्थानिक होता है। इसे ट्राइटॉन भी कहते हैं। ट्राइटियम के नाभिक में एक प्रोटॉन और दो न्यूट्रॉन होते हैं, जबकि हाइड्रोजन के सबसे प्रचुर मात्रा में उपलब्ध समस्थानिक प्रोटियम में मात्र एक प्रोटॉन ही होता है और न ...

ड्यूटीरियम

ड्यूटीरियम अथवा ड्यूटेरियम हाइड्रोजन का एक स्थिर समस्थानिक है। इसकी प्राकृतिक उपलब्धता पृथ्वी के सागरओं में हाइड्रोजन के लगभग एक परमाणु प्रति 6.500 है।

पर्यावरण में यूरेनियम

पर्यावरण में यूरेनियम का अर्थ पर्यावरण और जीव जन्तुओं पर यूरेनियम के प्रभाव से है। यूरेनियम एक कमजोर रेडियोधर्मी पदार्थ है। इसकी अर्ध-आयु 44.68 करोड़ वर्ष होती है, जिसके बाद यह यूरेनियम-238 बन जाता है। यह एक प्रकार का विषैला तत्व होता है। यह मानव ...

प्रोटियम

प्रोटियम हाइड्रोजन का सबसे प्रचुर मात्रा में उपलब्ध समस्थानिक होता है। इसमें मात्र एक प्रोटॉन ही होता है और न्यूट्रॉन अनुपस्थित होता है। यह मूल रूप से हाइड्रोजन परमाणु होता है।

बीटा क्षय

नाभिकीय भौतिकी में, बीटा क्षय एक प्रकार का रेडियोधर्मी क्षय होता है, जिसमें बीटा कण या एक धनाणु) उत्सर्जित होते हैं। यह दो प्रकार का होता है। विद्युदणु उत्सर्जन होने पर, इसे बीटा-ऋण कहते हैं, जबकि धनाणु उत्सर्जन होने पर इसे बीटा धन कहते हैं। बीटा ...

रेडियोसक्रियता

रेडियोधर्मिता रेडियोऐक्टिविटी के अन्य प्रयोगों के लिये रेडियोधर्मिता बहुविकल्पी देखें रेडियोसक्रियता या रेडियोधर्मिता वह प्रकिया होती है जिसमें एक अस्थिर परमाणु अपने नाभिक से आयनकारी विकिरण के रूप में ऊर्जा फेंकता है। ऐसे पदार्थ जो स्वयं ही ऐसी ऊ ...

उत्सर्जन वर्णक्रम

उत्सर्जन वर्णक्रम किसी रासायनिक तत्व या रासायनिक यौगिक से उत्पन्न होने वाले विद्युतचुंबकीय विकिरण के वर्णक्रम को कहते हैं। जब कोई परमाणु या अणु अधिक ऊर्जा वाली स्थिति से कम ऊर्जा वाली स्थिति में आता है तो वह इस ऊर्जा के अंतर को फ़ोटोन के रूप में ...

निम्नतापिकी

निम्नतापिकी, तुषारजनिकी या प्राशीतनी भौतिकी की वह शाखा है, जिसमें अत्यधिक निम्न ताप उत्पन्न करने व उसके अनुप्रयोगों के अध्ययन किया जाता है। क्रायोजेनिक का उद्गम यूनानी शब्द क्रायोस से बना है जिसका अर्थ होता है शीत यानी बर्फ की तरह शीतल। इस शाखा म ...

अतिचालक चुम्बक

अतिचालक तारों की कुण्डली से निर्मित विद्युतचुम्बक को अतिचालक चुम्बक कहते हैं। द्रव हिलियम या किसी अन्य शीतलक की सहायता से बहुत कम ताप तक ठण्डा करने से ये तार अतिचालक बन जाते हैं और तब ये चुम्बक अतिचालक चुम्बक बन जाते हैं। अतिचालक चुम्बक २ टेस्ला ...

द्रव हिलियम

द्रव अवस्था में स्थित हिलियम को द्रव हिलियम कहते हैं। मानक दाब पर बहुत कम ताप तक ले जाने पर ही हिलियम द्रव अवस्था में आ पाती है। द्रव हिलियम का उपयोग अतिचालकता प्राप्त करने के लिये किया जाता है, जैसे अतिचालक चुम्बकों के लिये। द्रव हिलियम एक विचित ...

निम्नतापस्थापी

निम्नतापस्थापी या क्रायोस्टैट एक ऐसी युक्ति है जो अपने अन्दर रखी वस्तुओं का तापमान अत्यन्त कम बनाये रखने के लिये प्रयुक्त होती है।

शीतजैविकी

शीतजैविकी जीव विज्ञान की वह शाखा है जिसमें पृथ्वी के हिममण्डल और अन्य ठंडें स्थानों पर उपस्थित कम तापमान के जीवों पर होने वाले प्रभाव का अध्ययन करा जाता है। इसमें प्रोटीन, कोशिकाओं, ऊतकों, अंगों और पूरे जीव शरीरों पर साधारण से कम तापमान के असर को ...

अक्रिय गैस

अक्रिय गैस उन गैसों को कहते हैं जो साधारणतः रासायनिक अभिक्रियाओं में भाग नहीं लेतीं और सदा मुक्त अवस्था में प्राप्य हैं। इनमें हीलियम, निऑन, आर्गान, क्रिप्टॉन,जीनॉन और रेडॉन सम्मिलित हैं। इनमें से रेडॉन रेडियो-सक्रिय है। समस्त अक्रिय गैसें रंगहीन ...

आर्गन

आर्गन एक रासायनिक तत्व है। यह एक निष्क्रिय गैस है। नाइट्रोजन और ओक्सीजन के बाद यह पृथ्वी के वायुमण्डल की तीसरी सबसे अधिक मात्रा की गैस है। औसतन पृथ्वी की वायु का ०.९३% आर्गन है। यह अगली सर्वाधिक मात्रा की गैस, कार्बन डायोक्साइड, से लगभग २३ गुना अ ...

क्रिप्टॉन

क्रिप्टॉन एक रासायनिक तत्व है जो निष्क्रिय गैसों के समूह में आता है। इसका परमाणु क्रमांक 36 है। यह एक रंगहीन, गंधहीन और स्वादहीन गैस है जो बहुत ही छोटी मात्रा में हमारे वायुमंडल में पाई जाती है। इसका प्रयोग बिजली के बल्ब बनाने में और फ़ोटोग्राफ़ी ...

नियोन

निऑन Neon संकेत: Ne एक रासायनिक तत्व है। इसका परमाणु क्रमांक १० है। यह आवर्त सारणी के १८वें समूह अक्रिय गैसें में रखा गया है। रैमज़े और टैवर्स ने १८९८ ई. में इस गैस की खोज की थी और वायु से इसे प्राप्त किया था।

हिलियम

हिलियम अंग्रेज़ी: Helium एक रासायनिक तत्त्व है जो प्रायः गैसीय अवस्था में रहता है। यह एक निष्क्रिय गैस या नोबेल गैस Noble gas है तथा रंगहीन, गंधहीन, स्वादहीन, विष-हीन नॉन-टॉक्सिक भी है। इसका परमाणु क्रमांक २ है। सभी तत्वों में इसका क्वथनांक boili ...

पेट्रोलियम निष्कर्षण

पेट्रोलियम वेधन पेट्रोलियम धरती के नीचे ५०० फुट से ५,००० फुट, या इससे अधिक, गहराई तक पाया जाता है। पेट्रोलियमवाले स्थलों पर कूप खोदकर पेट्रोलियम निकाला जाता है। किस स्थान पर पेट्रोलियम निकलेगा, इसका निश्चित रूप से बताना कठिन है। जहाँ पेट्रोलियम ह ...

गैसधानी

गैसधानी या गैस होल्डर उस विशाल पात्र को कहते हैं जिसमें प्राकृतिक गैस या टाउन गैस को वायुमण्डलीय दाब और सामान्य ताप पर संग्रहित रखा जाता है।

तेल शोधनागार

तेल शोधनगर या तेल रिफाइनरी एक औद्योगिक कारख़ाना है जहां शिलारस को बदल दिया जाता है और पेट्रोलियम नेफ्था, पेट्रोल, डीज़ल, केरोसीन, द्रवित पेट्रोलियम गैस, जेट ईंधन और ईंधन तेल जैसे अधिक उपयोगी उत्पादों में परिष्कृत किया जाता है। कुल क्षमता के अनुसा ...

झिल्ली

झिल्ली दो स्थानों, दिकों, अंगों, पात्रों या खंडो के बीच स्थित एक पतली अवरोधक परत होती है जो कुछ चुने पदार्थों, अणुओं, आयनों या अन्य सामग्रियों को आर-पार जाने देती है लेकिन अन्य सभी को रोकती है। जीव-शरीरों में ऐसी कई झिल्लियाँ पाई जाती हैं, जिन्हे ...

प्रावस्था संक्रमण

प्रावस्था संक्रमण या फेज़ ट्रांजिसन किसी उष्मागतिकी मंडल में उस प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें कोई पदार्थ अपनी प्रकृति बदल लेता है। उदाहरण के लिए बर्फ़ एक ठोस वस्तु होती है लेकिन गरम करने पर अवस्था परिवर्तन करके पानी नामक द्रव बन जाती है। अगर और गर ...

पेम्बा प्रभाव

पेम्बा प्रभाव एक प्रक्रिया है, जिससे ठंडे पानी की तुलना में गरम पानी ज्यादा तेजी से जम जाता है। ये घटना तापमान पर निर्भर करती है। इस प्रभाव का नाम एराइस्टो पेम्बा जन्म: 1950 के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने इसकी खोज 1963 में की थी। इस तरह के घटना ...

रासायनिक संश्लेषण

रसायन विज्ञान में उद्देश्यपूर्वक एक या क्रम से कई रासायनिक अभिक्रियाएँ कराकर एक या अनेक उत्पाद बनाने की क्रिया को रासायनिक संश्लेषण कहते हैं। रासायनिक संश्लेषण सम्यक प्रकार से चुने हुए कुछ ज्ञात अभिकर्मकों reagents या अभिकारकों reactants से आरम्भ ...

बीज-लेखन

बीज-लेखन या कूट-लेखन यह किसी छुपी हुई सूचना का अध्ययन करने की प्रक्रिया है। आधुनिक समय में, बीज-लेखन को गणित और कम्प्यूटर विज्ञान दोनों की एक शाखा माना जाता है। यह सूचना सिद्धांत, कंप्यूटर सुरक्षा और इंजीनियरिंग से बहुत निकट सम्बन्ध रखता है। तकनी ...

इलेक्ट्रॉनिक हस्ताक्षर

इलेक्ट्रॉनिक हस्ताक्षर अथवा ई-हस्ताक्षर उन इलेक्ट्रॉनिक आँकड़ों रूप को कहा जाता जो तार्किक रूप से सहसम्बद्ध अन्य इलेक्ट्रॉनिक आँकड़ों से जुड़ा होता है और हस्ताक्षरी द्वारा हस्ताक्षर के रूप में उपयोग किया जाता है। इस तरह के हस्ताक्षर भी कुछ विशिष् ...

जलविद्युत ऊर्जा

गिरते हुए या बहते हुए जल की गतिज उर्जा से जो विद्युत उत्पन्न की जाती है उसे जलविद्युत कहते हैं। सन् २००५ में विश्व भर में लगभग ८१६ GWe जलविद्युत उत्पन्न की जाती थी जो कि विश्व की सम्पूर्ण विद्युत उर्जा का लगभग २०% है। यह बिजली प्रदूषण रहित है। एव ...

2016 के उत्तर कोरियाई परमाणु परीक्षण

6 जनवरी 2016 को 10:00:01 यूटीसी+०८:३० पर, उत्तर कोरिया ने किल्जु शहर, किल्जु काउंटी से लगभग 50 किलोमीटर दूर उत्तर-पश्चिम में अपने पुंग्ये-री परमाणु परीक्षण स्थल पर एक भूमिगत परमाणु परीक्षण किया। उत्तर कोरियाई मीडिया ने इन परीक्षणों के बाद इसके सफ ...

परमाणु अस्त्रों से युक्त देशों की सूची

दुनिया में आठ देश हैं जो परमाणु हथियारों को सफलतापूर्वक विस्फोट कर चुके हैं। इन में से पाच देश परमाणु अप्रसार संधि के अंतर्गत परमाणु-हथियार राज्य जाने जाते है; जो है अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस, और चीन। परमाणु अप्रसार संधि मे शामील न होने वाले ...

पोखरण-2

पोखरण-2 मई 1998 में पोखरण परीक्षण रेंज पर किये गए पांच परमाणु बम परीक्षणों की श्रृंखला का एक हिस्सा है। यह दूसरा भारतीय परमाणु परीक्षण था; पहला परीक्षण, कोड नाम स्माइलिंग बुद्धा, मई 1974 में आयोजित किया गया था। 11 और 13 मई, 1998 को राजस्थान के पो ...

मुस्कुराते बुद्ध

स्माइलिंग बुद्धा या मुस्कुराते बुद्धा भारत द्वारा किये गए प्रथम सफल परमाणु परीक्षण का कूटनाम है। यह परीक्षण जिसे १८ मई १९७४ को पोखरण में सेना के स्थल पे जिसे पोखरण टेस्ट रेंज कहते है वह वरिष्ठ सेना के अफसरों की निगरानी में किया गया। पोखरण -१ इस म ...

व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि

व्यापक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि को ही कांप्रेहेन्सिव टेस्ट बैन ट्रीटी कहा जाता है। यह एक ऐसा समझौता है जिसके जरिए परमाणु परीक्षणों को प्रतिबंधित किया गया है। यह संधि 24 सितंबर 1996 को अस्तित्व में आयी। उस समय इस पर ७१ देशों ने हस्ताक्षर किया ...

आंशिक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि

आंशिक परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि के अन्तर्गत भूमिगत परमाणु परीक्षण के अलावा अन्य सभी प्रकार के परमाणु परीक्षणों पर प्रतिबंध लगाया गया था।

हाईड एक्ट

हाइड एक्ट का पूरा नाम हेनरी जे हाइड संयुक्त राज्य-भारत शांतिपूर्ण परमाणु ऊर्जा सहयोग अधिनियम २००६ है। यह अमेरिकी कांग्रेस में एक निजी सदस्य बिल के रूप में पास हुआ है। इसमें भारत और अमेरिका के बीच प्रस्तावित परमाणु समझौते से जुड़े नियम एवं शर्तों ...

१२३ समझौता

१२३ समझौता नाम से प्रसिद्ध यह समझौता अमेरिका के परमाणु ऊर्जा अधिनियम १९५४ की धारा १२३ के तहत किया गया है। इसलिए इसे १२३ समझौता कहते हैं। सत्रह अनुच्छेदों के इस समझौते का पूरा नाम है- भारत सरकाऔर संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार के बीच नाभिकीय ऊर्जा ...

२०१३ के उत्तर कोरियाई परमाणु परीक्षण

12 फरवरी 2013, उत्तर कोरियाई मीडिया ने घोषणा की कि डीपीआरके ने भूमिगत परमाणु परीक्षण किया है जो कि ७ सालों में तीसरा था। ५.१Mw का एक कंपन जो परमाणु परीक्षण का संकेत था चीनी भूकम्प नेटवर्क केंद्र, संयुक्त राज्य भूगर्भ सर्वेक्षणऔर व्यापक परमाणु परी ...

नाभिकीय निरस्त्रीकरण हेतु अंतर्राष्ट्रीय अभियान

निशस्त्रीकरण निशस्त्रीकरण विश्व शांति का एक पवित्र साधन है यह युद्धों को समाप्त कर मानवता कि सच्ची सेवा का मार्ग प्रशस्त करने का एक आन्दोलन है मानव इतिहास में लगभग १४,५०० छोटे बड़े युद्ध लड़े गए और दो बार विश्वयुद्ध का भी सामना भी करना पड़ा इन यु ...

चागई-१

चागई-१ ये २८ मई १९९८ को १५:१५ पी॰ऍस॰टी॰ बजे पर पाकिस्तान द्वारा आयोजित एक साथ भूमिगत परमाणु परीक्षण का संकेत नाम है। बलूचिस्तान प्रांत के चागाई जिले के रस कोह पहाड़ी पर ये परीक्षण किए गए। चागई-१ पाकिस्तान के परमाणु हथियारों का पहला सार्वजनिक परीक ...

अंतरराष्ट्रीय तापनाभिकीय प्रायोगिक संयंत्र

अंतर्राष्ट्रीय तापनाभिकीय प्रायोगिक संयंत्र) ऊर्जा की कमी की समस्या से निबटने के लिए भारत सहित विश्व के कई राष्ट्रों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी के सहयोग से मिलकर बनाया जा रहा संलयन नाभिकीय प्रक्रिया पर आधारित ऐसा विशाल रिएक्टर है, ...

भारतीय क्षेत्रीय नौवहन उपग्रह प्रणाली

भारतीय क्षेत्रीय नौवहन उपग्रह प्रणाली अथवा इंडियन रीजनल नैविगेशन सैटेलाइट सिस्टम-आईआरएनएसएस भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा विकसित, एक क्षेत्रीय स्वायत्त उपग्रह नौवहन प्रणाली है जो पूर्णतया भारत सरकार के अधीन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी न ...

अत्योच्चावृत्ति सर्वदिष्ट रेडियो रेंज

अत्योच्चावृत्ति सर्वदिष्ट रेडियो रेंज (जिसे वीओआर भी कहते हैं, विमान यातायात सेवा हेतु एक लघु-परिधि की रेडियो दिक्चालन प्रणाली है। इसके द्वारा रिसीविंग इकाई से सज्ज विमान को अपने वायु मार्ग में रेडियो संकेत द्वारा अपनी स्थिति का ज्ञान होता है। ये ...

फाल्कन हैवी

फाल्कन हैवी आंशिक रूप से पुन: प्रयोज्य हैवी लिफ्ट लॉन्च वाहन है जिसे स्पेसएक्स द्वारा डिज़ाइन और निर्मित किया गया है। यह फाल्कन 9 के आधापर बनाया गया है। इसकी पृथ्वी की निचली कक्षा मे भार ले जाने की क्षमता 63.800 किलोग्राम हैं। फाल्कन हैवी सैटर्न ...

स्पेसएक्स

स्पेस एक्सप्लोरेशन टेक्नोलॉजीज कार्पोरेशन, स्पेसएक्स के रूप में व्यवसाय कर रहा है, एक निजी अमेरिकी एयरोस्पेस निर्माता और अंतरिक्ष परिवहन सेवाएं कंपनी है जिसका मुख्यालय हैथॉर्न, कैलिफ़ोर्निया में है। 2002 में अंतरिक्ष परिवहन लागत को कम करने और मंग ...

चमगादड़

चमगादड़ आकाश में उड़ने वाला एक स्तनधारी प्राणी है, जो अपनी १००० से भी अधिक प्रजातियों के साथ स्तनधारियों के दूसरे सबसे बडे़ कुल का निर्माण करता है। ये पूर्ण रूप से निशाचर होते हैं और पेड़ों की डाली अथवा अँधेरी गुफाओं के अन्दर उल्टा लटके रहते हैं। ...