ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 192

सुढ़ियामऊ

यह भारत के उत्तरप्रदेश राज्य में बाराबंकी जिले का एक छोटा सा क़स्बा है। बाराबंकी से लगभग 36 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यह श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के लिये प्राचीनकाल से ही जिले में प्रशिद्ध रहा है।

उड़ी, जम्मू और कश्मीर

उड़ी भारत के जम्मू एवं कश्मीर राज्य के बारामूला ज़िले में झेलम नदी के किनारे स्थित एक शहर है। यह पाक-अधिकृत कश्मीर के साथ सटी हुई नियंत्रण रेखा से लगभग १० किमी दूर है।

बारामूला

बारामूला, जिसे कश्मीरी भाषा में वरमूल कहते हैं, भारत के जम्मू और कश्मीर राज्य का एक शहर है। यह बारामूला ज़िले में स्थित है और उस ज़िले का मुख्यालय है। भारत के विभाजन से पहले कश्मीर घाटी में दाख़िल होने का प्रमुख मार्ग यहीं से होकर जाता था और इस क ...

भिंड

भिंड मध्यप्रदेश का एक जिला है। भिण्ड के गाँव भदौरिया राजाओं के काल से ही स्वतंत्र रहे है। भिण्ड के गाँव के लोगो के रोज़गार का साधन कृषि है। आज़ादी के बाद से यहाँ के लोग को एक नई पहचान मिली वो देश की सेवा में संलग्न हो गए। ओर तभी यहाँ के लोग सेना ...

भिदौनी

भिदौनी उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में एक ग्राम पंचायत है। भिदौनी बाजना रोड में शामिल होने राया रोड पर मथुरा से लगभग 45 किलोमीटर की दूरी पर है। सुरीर गांव से तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक नगर है।

लखनौर

लखनौर भारत में बिहार राज्य के अन्तर्गत मधुबनी जिले में है। यहां तक झंझारपुर से बस या अन्य साधनों से जाया जा सकता है। यहां के दर्शनीय स्थलों में राधा-कृष्ण, निर्जन स्थल स्थित बब सोमनाथ मंदिर, बाबा डिहबार मंदिर है। इस गांव का इतिहास राजनीति एवं अध् ...

सद्दाम समुद्र तट

सद्दाम समुद्र तट भारत के केरल राज्य के मलप्पुरम जिले में एक मछली पकड़ने वाला गांव है। इस गांव का नाम पूर्व इराकी राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन के नाम पर है जो 1991 के खाड़ी युद्ध के दौरान एकजुटता के दर्शाता है। इस समुद्र तट नाम सद्दाम रखने का सुझाव कुव ...

पोरसा तहसील

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से मुरैना जिले विकिपीडिया से. यह लेख जिले के बारे में है।देश भारत,राज्य मध्य प्रदेश प्रशासनिक प्रभाग चंबल मुख्यालय मुरैना तहसील 1. मुरैना, 2. अम्बाह 3.पोरसा, 4. जौरा, 5. सबलगडऔर 6. कैलारस सरकार लोक सभा निर्वाचन क्षेत्रों ...

राँची जंक्शन रेलवे स्टेशन

राँची जंक्शन रेलवे स्टेशन, भारतीय राज्य झारखंड, की राजधानी शहर राँची में स्थित एक रेलवे स्टेशन है। रांची स्टेशन भारतीय रेलवे के दक्षिण पूर्व रेलवे ज़ोन के राँची रेलवे मंडल का मुख्यालय भी है। रांची जंक्शन रेलवे स्टेशन भारत के अधिकांश प्रमुख शहरों ...

सारडे

सारडे गाँव मुंबई शहर के नजदिकी उरण तेहसिल में बसा आगरी समाज एक गाँव है। गाव टेकडी पे बसाँ हुआ हैं। गांव के दक्षिणी छोर पे तालाब और तालाब के उत्तर दिशा में रायगड जिल्हा परिषदकी पाठशाला हैं। तथां पुर्व में ग्रामपंचायत का ऑफिस हैं। यह तालाब अंतरिक्ष ...

बोंदा, सांरगढ मण्डल

शिक्षा बोन्‍दा, भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के अन्तर्गत रायगढ़ जिले के सांरगढ मण्डल का एक गाँव है जो रायगढ़ नगर स्‍टेशन से 40 किलोमीटर दूरी पर सरिया के समीप स्थित है। यहां 1881 में अंग्रेजी शासनकाल में ही प्रायमरी स्‍कुल की शुरूवात हो चुकी थी। 1981 म ...

महलोई रायगढ मण्डल

महलोई रायगढ मण्डल में भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के अन्तर्गत रायगढ़ जिले का एक गाँव है। जहाँ के सरपंच श्रीमती गोपिका राठिया व उपसरपंच श्री राम पटनायक हैं।

भरहुत

भरहुत भारत के मध्य प्रदेश राज्य में सतना जिले में स्थित एक स्थल है। यह स्थान बौद्ध स्तूप और कलाकृतियों के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ का स्तूप पुष्यमित्र शुंग द्वारा सम्भवतः १८५ ईसापूर्व के बाद निर्मित किया गया था। पुष्यमित्र शुंग शुंग वंश के संस्थापक ...

मझगवां

मझगवां एक कस्वा है जो कि सतना जिले में स्थित है | यह कोठी से लगभग १६ किलोमीटर तथा सतना से ४२ किलोमीटर उत्तर में स्थित है | सतना सतना जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है | यह मध्य प्रदेश के सरंक्षित छोटे -छोटे लेकिन घने वन क्षेत्रो चारो ओर से घिरा हुआ ह ...

कराड

कराड भारत के महाराष्ट्र राज्य के सातारा जिले की एक तालुका है। यह नगर कृष्णा नदी तथा कोयना नदी के संगम पर सतारा नगर से ४५ किमी दक्षिण-पूर्व में बसा है।। कराड यशवंत नगरी के नाम से भी जानी जाती है। यहां पर अधिकतर मुस्लिम धर्म के लोग रहते है साथ ही ब ...

भिलार

भिलार महाराष्ट्र के सातारा जिले के पंचगानी और महाबलेश्वर से *14* किमी सुरम्य पहाड़ी स्टेशनों के बीच लंबे समय तक अपनी स्ट्रॉबेरी खेती के लिए जाना जाता था, जिसमें साहित्यिक प्रस्तुतियां नहीं थीं। लेकिन हाल ही में, महाराष्ट्र सरकार ने देश का प्रथम क ...

अरणेश्वर महादेव सप्त कुंड

अरणेश्वर महादेव सप्त कुंड सवाई माधोपुर जिले के भगवतगढ़ शहर में स्थित है। यहाँ पर भगवान शिव का अरणेश्वर ज्योतिर्लिंग स्थित है। सवाई माधोपुर जिले का अरणेश्वर महादेव सप्त कुंड पिकनिक का बेहतरीन स्थल है। यह स्थान भगवतगढ़ शहर से महज एक किलोमीटर की दूर ...

खण्डार का अजय दुर्ग

राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले में स्थित यह दुर्ग अजय दुर्ग या तारागढ़ के नाम से जाना जाता है। यह दुर्ग खण्डार कस्बे में स्थित है, सवाई माधोपुर से इस दुर्ग की दूरी करीब ४० किलोमीटर है। राजस्थान में इस किले का अपना अलग ही महत्व है। एक खड़ी पहाड़ी प ...

गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन

गंगापुर सिटी रेलवे स्टेशन दिल्ली मुंबई रेल मार्ग का महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन है। ये स्टेशन कोटा रेलवे मंडल के अंतर्गत आता है। सवाई माधोपुर जिले में सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन के बाद सबसे महत्वपूर्ण स्टेशन है। इस स्टेशन से के आसपास कैलादेवी मंदिर, ल ...

केसली

केसली से कई जगहो तक सड़के हैं। सिलवानी से गौरझामर को जोड़ने वाली दो लाइन की सीमेन्ट,कंक्रीट सड़क CC Road केसली तहसील से होकर गुजरती हैं। इस सड़क के अतिरिक्त केसली से सहजपुर मार्ग भी प्रमुख हैं।

खुरई विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र

खुरई विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र, २३० विधानसभा, का एक निर्वाचन क्षेत्र है. यह सागर ज़िला में आता है. वर्ष 2008 मालथौन तहसील का गठन हो जाने के कारण में खुरई विधानसभा क्षेत्र दो तहसीलो में विभाजित हो गया,खुरई तहसील में 188 एवं मालथौन तहसील में 196 गा ...

गढ़ाकोटा

गढ़ाकोटा सागर जिला की एक तहसील है। जो रहली विधानसभा का हिस्‍सा है। यहां प्रतिवर्ष होने वाला रहस मेला ग्राम्‍य जीवन में रुचि रखने वाले लोगों के आकर्षण का केंद्र रहता है। यहाँ प्रसिद्ध पटेरियाजी जैन तीर्थ एवं पर्यटन क्षेत्र अवस्थित है। वर्तमान मे ग ...

झूनकू वार्ड

झूनकू सागर जिले की देवरी तहसील का एक वार्ड है जो की देवरी के सभी वार्डो में सबसे बड़ा वार्ड है इस वार्ड में कृषि उपज मंडी स्थित है और यहीं से मशहूऔर प्राचीन नदी रामघाट नदी निकलती है जो आगे जाकर सुखचेन नदी से मिलती है। स्वास्थ्य विभाग, पुलिस थाना, ...

देवरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र

देवरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र, मप्र की २३० विधानसभा क्रमांक 38, का एक निर्वाचन क्षेत्र है. यह सागर ज़िला में आता है.जो NH नॉर्थ साउस कॉरिडोर रोड पर सागर से नरसिंहपुर छिंदवाडा नागपुर की ओर 60 किमी दूर पडती है NH नॉर्थ साउस कॉरिडोर रोड पर सागर से ...

बंडा

बंडा सागर जिला की एक तहसील और विधानसभा क्षेत्र है। बंङा एक जनपद पंचायत भी है। ॿंडा तहसीऴ सागर स॓ ३० किमी एक सुंदर शहर है । साँचा:सागर जिले झाँसी की तहसीलेंमोठ

बीना

बीना सागर जिला की एक तहसील और विधानसभा क्षेत्र है। यह पश्चिम मध्य रेल्वे का बड़ा जंक्शन है। इस क्षेत्र से दो प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक ३ एवं क्रमांक २६ गुजरते है। यह इलाका मुख्यत: मध्‍यप्रदेश के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र में स्थित मालवा के पठ ...

मालथौन

मालथौन #malthone मुख्यतः मध्यप्रदेश के उत्तरी भाग मे स्थित सागर #sagar जिले की एक तहसील है। ___ shubhampathakias और यह खुरई विधानसभा के अन्तर्गत आती है। मालथौन मुख्यतः NH26 पर स्थित है यहाँ से मात्र 7kmNorth से उत्तर प्रदेश की सीमा लग जाती है। यह ...

रहली

रहली सागर जिला की महत्वपूर्ण तहसील और विधानसभा क्षेत्र है। कहावतों के अनुसार रहली को चौदहवीं शताब्दी में अहीरों ने बसाया और यह छत्रसाल बुंदेला के राज्‍य में रहा। उसने 1731 में इसे पेशवा बाजीराव को दे दिया, फिर अंग्रेजों ने इस पर कब्जा कर लिया। इस ...

राहतगढ़

राहतगढ़ सागर जिला की एक तहसील है। सागर-भोपाल मार्ग पर लगभग 40 किमी की दूरी पर स्थित यह कस्‍बा एक बरसाती जलप्रपात‎ के कारण प्रसिद्ध पिकनिक स्‍थल के रूप में विख्‍यात है।

लाखा बंजारा

बुंदेलखंड और खासतौर से सागर की जनता इस नाम को अच्छे से जानती है। क्षेत्रीयता और स्थानीय परंपराओं में विश्वास करने वालों ने लाखा बंजारा के नाम पर ही सागर झील का नाम लाखा बंजारा झील रखा है। लेकिन आश्चर्य नहीं कि लाखा बंजारा का नाम ढूंढने पर भी किसी ...

शाहगढ़

शाहगढ़ सागर जिला की एक तहसील है। इसे हाल ही में तहसील का दर्जा प्राप्‍त हुआ है। शाहगढ़ का बुंदेलखंड के इतिहास में महत्‍वपूर्ण स्‍थान है और यह कई बुंदेला शासकों की कर्मस्‍थली रहा है। सागर जिले के उत्तर पूर्व में सागर-कानपुर मार्ग पर करीब ७० किमी क ...

सुरखी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र

सुरखी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र, २३० विधानसभा, का एक निर्वाचन क्षेत्र है. यह सागर ज़िला में आता है सागर जिले में ८ विधानसभा क्षेत्र है उसमे सुरखी विधानसभा क्षेत्र बी है सन् २०१३ के विधानसभा चुनावों में यह पर बीजेपी की जीत हुई और पारुल साहू विधायक ...

सूरत रेलवे स्टेशन

सूरत रेलवे स्टेशन भारतीय राज्य गुजरात के सूरत शहर में स्थित एक प्रमुख रेलवे स्टेशन है। यह भारतीय रेलवे के पश्चिमी रेलवे क्षेत्र के प्रशासनिक नियंत्रण में है। पश्चिम रेलवे जोन के मुंबई डब्ल्यूआर रेलवे मंडल के अन्तर्गत सूरत रेलवे स्टेशन एक A1 श्रेण ...

पिलखुवा

पिलखुवा हापुड़ का एक कस्बा है। पिलखुवा क़स्बा पहले गाज़ियाबाद जिले का भाग था मगर सन २०११ में तत्कालीन बसपा सरकार के कार्यकाल में इसे हापुड़ जिले में शामिल कर दिया गया। पिलखुवा G.T. रोड पर दिल्ली से ४५ किलोमीटर पूर्व में स्थित है यहाँ की आबादी एक ...

अग्रहार बेलगुलि

अग्रहार बेलगुलि कर्नाटक के हासन जिले का एक गाँव है। अग्रहार शब्द इस बात का परिचायक है कि इस गाँव में बड़ी संख्या में ब्राह्मण पण्दित निवास करते थे जो षड्कर्मों को पूरा करते थे। किन्तु वर्तमान समय में वहाँ केवल तीन-चार ब्राह्मण परिवार ही हैं।

भूड

भूड सांगली जिले में एक गांव है। यह भगवान भूडसिद्धनाथ मंदिर के लिए प्रसिद्ध है। भूड की जनसंख्या 2011 की जनगणना के अनुसार 1889 है। मूल रूप से एक कृषि गांव है, लेकिन ज्यादातर लोगों गोल्ड रिफाइनरी और जौहरी व्यापार में हैं। गांव भूड का नाम देवता भगवान ...

कुम्भलगढ़ वन्यजीव अभयारण्य

कुम्भलगढ़ वन्यजीव अभ्यारण्य भारतीय राज्य राजस्थान के राजसमन्द ज़िले में स्थित एक वन्यजीव अभ्यारण्य है। यह 578 कि॰मी 2 घिरा हुआ है। यह अभ्यारण्य अरावली पर्वतमाला को ढकते हुए राजसमन्द,उदयपुऔर पाली ज़िले को घेरा हुआ है। इनका नाम कुम्भलगढ़ वन्यजीव अभ ...

आईएनएस वज्रकोष

आईएनएस वज्रकोष भारतीय नौसेना का नवीनतम अधिष्‍ठान है जो कर्नाटक के कारवाड़ में स्थित है। रक्षा मंत्री श्री मनोहर पर्रिकर ने 9 सितंबर 2015 को इसे राष्‍ट्र को समर्पित किया। आईएनएस वज्रकोष कारवाड़ में नौसेना का तीसरा अधिष्‍ठान है, जिसे राष्‍ट्र को सम ...

आईएनएस वर्षा

आईएनएस वर्षा एक भारतीय नौसेना के लिए परियोजना वर्षा के तहत विकसित एक नया नौसैनिक अड्डा है। यह अड्डा नौसेना के परमाणु पनडुब्बियों और जहाजों के नए बेड़े का घर होगा। यह नौसेना की पूर्वी नौसेना कमान के मुख्यालय, विशाखापत्तनम से लगभग 200 किलोमीटर के द ...

जेलीफ़िश

जेलीफ़िश या जेली या समुद्री जेली या मेड्युसोज़ोआ, या गिजगिजिया नाइडेरिया संघ का मुक्त-तैराक़ सदस्य है। जेलीफ़िश के कई अलग रूप हैं जो स्काइफ़ोज़ोआ, स्टॉरोज़ोआ, क्यूबोज़ोआ और हाइड्रोज़ोआ सहित विभिन्न नाइडेरियाई वर्गों का प्रतिनिधित्व करती हैं। इन स ...

नीलचक्री ऑक्टोपस

नीलचक्री ऑक्टोपस तीन या चार ऑक्टोपस जातियों का एक समूह है जो हिन्द व प्रशांत महासागर में रहते हैं। इनके शरीपर पीली त्वचा पर काले और नीले रंग के छल्ले बने होते हैं जिनके बीच भूरा रंग होता है। उत्तेजित होने पर बीच का भूरा रंग गाढ़ा हो जाता है और छल ...

पॉलीगोनेसी

पॉलीगोनेसी द्विबीजपत्रीय वर्ग का एक जीववैज्ञानिक कुल है, जिसमें लगभग ४० वंश और लगभग ७५० जातियाँ पाई जाती हैं। इसकी १०९ जातियाँ भारत में मिलती हैं। अधिकांशतः ये पौधे प्राक किस्म के हाते हैं, पर कुछ लतर के रूप के भी पाए जाते हैं। पत्तियाँ सरल, पूरी ...

प्रोटियेसीए

प्रोटियेसीए पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध में मिलने वाले पुष्पधारी पौधों का एक कुल है। इस कुल में ८० वंशों में विस्तृत १७०० जातियाँ शामिल हैं। दक्षिण अफ़्रीका में मिलने वाले प्रोटिया और ऑस्ट्रेलिया में मिलने वाले बैन्कसिया दोनों इसी कुल में आते हैं। ...

बैंकसिया

अगर आप ऑस्ट्रेलिया के मॅल्बर्न शहर में स्थित इसी नाम के उद्यान को ढूंढ रहे हैं तो बैंकसिया पार्क का लेख देखें बैंकसिया लगभग १७० जातियों वाला बनफूलों और उद्यानों में लगाने के लिये लोकप्रिय फूलदार पौधों का एक वंश है जिसकी जातियाँ ऑस्ट्रेलिया में पा ...

रैननकुलेसी

यह कुल मुख्यत: उत्तरी शीतोष्ण प्रदेशव्यापी है। अधिकांश पौधे शाकीय, संयुताक्ष प्रकंदयुक्त होते हैं। पिओनिया, एकोनाइटम आदि में गाँठदार मूल होती है। पर्णाधार प्राय: विशेष चौड़ा होता है, जो थैलिक्ट्रम आदि में अनुपत्री अंगों में परिवर्तित हो जाता है। ...

सूंस

सूंस समुद्री स्तनधारी जीव हैं और तिमि तथा शिंशुमार के निकट संबंधी हैं। इनके १७ वंश और ४० प्रजातियां हैं। इनका आकार १.२ मी एवं ४०० कि.ग्रा से लेकर ९.५ मी १० टन तक हो सकता है। ये विश्व भर में पाई जाती हैं, खास तौपर महाद्वीपीय जलसीमा के उथले सागरीय ...

सारनाथ एक्सप्रेस

सारनाथ एक्सप्रेस पूर्वोत्तर रेलवे से संबंधित एक एक्सप्रेस ट्रेन है जो भारत के बिहार राज्य के छपरा जंक्शन को छत्तीसगढ़ राज्य के दुर्ग जंक्शन से जोड़ती है।

रुहेलखंड व कुमाऊँ रेलवे

रुहेलखंड व कुमाऊँ रेलवे R&KR भारत में मीटरगेज की रेलवे कंपनी थी, जिसका नेटवर्क 953 किलोमीटर था। 1 जनवरी 1943 को इसे भारत सरकार को हस्तांतरित कर दिया गया और इसका विलय अवध व तिरहुत रेलवे में हो गया।

अबोहर - जोधपुर - बठिंडा पैसेंजर

५४७०३ / अबोहर - जोधपुर पैसेंजर की औसत गति ३७ किलोमीटर प्रति घंटा है जो १८ घंटे और १० मिनट में ६५४ किलोमीटर की दूरी तय करती है। ५४७०४ / जोधपुर बठिंडा पैसेंजर की औसत गति ४० किलोमीटर प्रति घंटा है जो १४ घंटे और ५० मिनट में ६०१ किलोमीटर की दूरी तय कर ...

अशोक हॉल

अशोक हॉल भारत की राजधानी दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में एक बड़ा कक्ष है। राष्ट्रपति भवन में 340 कमरे हैं। इनके अलावा इसमें कई विशाल हॉल हैं जैसे दरबार हॉल जिसमें सभी सरकारी आयोजन होते हैं। अशोक हॉल जिसमें औपचारिक बैठकें होती हैं राष्ट्रपति विदेशी ...