ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 173

बुसी (गाँव)

बौसी थाना भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत पुर्णिया मण्डल के अररिया जिले का एक थाना है। Bausi market me kai gas frkiya mjhua lkunawa bhawaninagar singhiya ka prmukh bazar h

बैरिया

उत्तर प्रदेश में इसी नाम के नगर के लिए बैरिया, उत्तर प्रदेश का लेख देखें बैरिया में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक गाँव है।

भारत के गाँव

2018 तक, भारत में 597.464 जनगणना गांव हैं। प्रत्येक जनगणना गांव में कई गांव हैं, जिनमें कई परिवार हैं। भारत में कुल ६४० जिले है जिनमे २५० जिले २०११ की जनगणना के अनुसार अति पिछड़े जिले है। 2018 तक, बिहार में 39.073 राजस्व गांव हैं, और 1.06.24 9 गा ...

मथानिया

मथानिया एक कस्बा है जो भारत के राज्य राजस्थान राज्य के जोधपुर ज़िले के अंतर्गत आता है। यहां से जोधपुर हवाई अड्डा मात्र तीन किलोमीटर दूर है। मथानिया में एक प्राचीन करणी माता का मन्दिर है। मथानिया की सुप्रसिद्ध मिर्ची पूरे भारत में प्रसिद्ध है और य ...

मदनपुर (औरंगाबाद)

मदनपुर में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक तहसील है। मदनपुर एक अंचल कार्यालय है। मदनपुर एक पर्यटक स्थल भी है, यहाँ भगवान सूर्य का मंदिर पहाड़ी पर स्थित है एवं अन्य मंदिरो की श्रृंखला एवं अवशेष भी पहाड़ी पर है। मदन ...

मधु बागान

हासीमारा एयरफोर्स से उत्तर की ओर सिर्फ दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित मधु बागान एक छोटा सा चाय का गाँव है। पश्‍िचम बंगाल राज्य के नये निर्मित जिला अलिपुरद्वारा में स्थित यह सुदर सा गाँव, कालचीनी ब्लाक के हासीमारा रेलवे स्टेशन से तीन किलोमीटर की दूर ...

मूण्डवाड़ा

मूण्डवाड़ा सीकर जिले का अग्रणी गाँव है,जिसने राजस्थान विधानसभा को दो विधायक दिए हैं। गाँव आवागमन की दृष्टि से सड़क मार्ग कोटपूतली कुचामन मेगा हाईवे पर स्थित है; जो सीकर से 18 km दुरी पर दक्षिण दिशा में स्थित है। २०११ की जनगणना के अनुसार निम्न आँक ...

रघुनाथपुरा

रघुनाथपुरा राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में एक गांव है। यह गाँव दो वर्गों में विभाजित है: रघुनाथपुरा और रघुनाथपुरा आबादी। यह गाँव 41 किमी पूर्व में सूरतगढ़ से और लगभग 103 किमी दूर श्रीगंगानगर से है। सूरतगढ़ यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन है। यह राष् ...

रजवार

रजवार रजवार राजाका वंशज से जुडा शब्द है । कत्यूरी राजवंश के लोगोका रजवार जैसे सम्मानित शब्द से सम्बोधन करते थे । जैसे अस्कोट के रजवार,डोटी बोगटान के रजवार,चन्द रजवार देउवा रजवार आदि । राजस्थान के राज्पुतो को भी रजवार शब्द से सम्बोधन करते है । रजव ...

रानीपुरवा

रानीपुरवा एक गाँव है जो भारत देश के राज्य उत्तर प्रदेश के जिला बहराइच में है। यह गाँव ब्लाॅक तजवापुर ग्राम पंचायत जिहुरा माफी के अधीन है। यहाँ से दक्षिण दिशा में 4 किलोमीटर की दूरी पर जैतापुर बाजार है और 5 किलोमीटर उत्तर में चक गाँव है। रानीपुरव ...

लखिपुर

यदि आप असम में इस से मिलते-जुलते नगर के बारे में जानकारी खोज रहें हैं तो लखीपुर का लेख देखें लखिपुर में भारत के बिहार राज्य के अन्तर्गत मगध मण्डल के औरंगाबाद जिले का एक गाँव है।

लूणी तहसील

लूणी जोधपुर जिले की एक तहसील व विधान सभा क्षेत्र है।इस विधान सभा से लूणी के विधायक जोगाराम पटेल रहे है। वर्तमान विधायक महेन्द्र बिश्नोई है । लूणी तहसील के अतर्गत लगभग १४० गाँव आते है।

सकाल्दा

सकाल्दा को अनेक भागों या मोहल्लों में बाटा गया है। मध्यभाग यह सकाल्दा का मध्य क्षेत्र है। इसमें पेलाफ़ला, होलीवाड़ा, पिपलामंगरा, मंडी आदि इलाके आते है। शिवक्षैत्र यह सकालदा के पूर्व में स्थित है। इस इलाके में भगवान महादेव का मंदिर हैं जो देवनिया ...

सांडेराव

सांडेराव भारत के राजस्थान राज्य के पाली ज़िले का एक गांव है,जो बाली कस्बे से १६ किलोमीटर की दूरी पर है इस गांव की स्थापना ९वीं शताब्दी में यशोभद्रा की थी यह ५००० हजार साल पहले का एक तीर्थस्थल था यहां पर उदयपुर के सिसोदिया राजवंश ने शासन किया था व ...

सौन्हर

सौन्हर, भारत के मध्यप्रान्त मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले की तहसील नरवर के अन्तर्गत आने वाला एक प्रसिद्ध गाँव है। यह गाँव आसपास के क्षेत्र में बहुचर्चित और प्रसिद्ध है।

इराक का भूगोल

राजधानी: बगदाद जनसंख्या: 30.39 9, 572 जुलाई 2011 अनुमान क्षेत्र: 16 9, 250 वर्ग मील 438.317 वर्ग किमी समुद्र तट: 36 मील 58 किमी सीमा देश: तुर्की, ईरान, जॉर्डन, कुवैत, सऊदी अरब और सीरिया सर्वोच्च बिंदु: चीखा दार, 11.847 फीट 3.611 मीटर ईरान की सीमा ...

कुवैत का भूगोल

राजधानी: कुवैत सिटी जनसंख्या: 2.595.628 जुलाई 2011 का अनुमान क्षेत्रफल: 6.879 वर्ग मील 17.818 वर्ग किमी समुद्र तट: 310 मील 49 9 किमी सीमा के देश: इराक और सऊदी अरब सर्वोच्च बिंदु: 1.004 फीट 306 मीटर कुवैत आधिकारिक तौपर कुवैत राज्य कहा जाता है, अरब ...

जार्डन का भूगोल

राजधानी: अम्मान जनसंख्या: 6.508.887 जुलाई 2012 अनुमान क्षेत्रफल: 34.495 वर्ग मील 89.342 वर्ग किमी समुद्र तट: 16 मील 26 किमी सीमा के देश: इराक, इज़राइल, सऊदी अरब और सीरिया सर्वोच्च बिंदु: जबल उम्म अद दमी 6.082 फीट 1.854 मीटर निम्नतम बिंदु: मृत साग ...

सीरिया का भूगोल

सीरिया, भूमध्य सागर के पूर्वी छोपर स्थित है। इसमें 185.180 वर्ग किलोमीटर का कुल क्षेत्रफल है, जिसे चौदह प्रशासनिक इकाइयों में विभाजित किया गया है। सीरिया की सीमाओं में उत्तर और पश्चिम में तुर्की के साथ, पूर्व में इराक, दक्षिण में जॉर्डन और इजराइल ...

कुक द्वीपसमूह

कुक द्वीपसमूह एक दक्षिण प्रशान्त महासागर में एक द्वीप देश है जो न्यूज़ीलैण्ड का मुक्त संघ है। यह १५ द्वीपों से मिलकर बना है जिसका कुल क्षेत्रफल 240 वर्ग किलोमीटर है। कुक द्वीपसमूह का एक्सलूसिव इकनॉमी क्षेत्र समुद्र के 1.800.000 वर्ग किलोमीटर को घ ...

कुरील द्वीपसमूह

कुरील द्वीपसमूह रूस के साखालिन ओब्लास्त में स्थित एक ज्वालामुखीय द्वीपसमूह है। यह जापान के होक्काइदो द्वीप से रूस के कमचातका प्रायद्वीप के दक्षिणी छोर तक लगभग 1300 किमी तक फैला है। कुरील द्वीपों की पूर्वी तरफ़ उत्तरी प्रशांत महासागर और पश्चिमी तर ...

तेनरीफ़

तेनरीफ़ कैनरी द्वीप के टेनराइफ से संबंधित द्वीप है। 2034.38 किमी ² और 906.854 निवासियों की आबादी के एक क्षेत्र के साथ, कैनरी द्वीप के सबसे बड़ा द्वीप है और द्वीपसमूह और स्पेन के सर्वाधिक आबादी वाले द्वीप है। राजधानी है सान्ता क्रूस दे तेनरीफ़. ते ...

Y पीढ़ी (जनरेशन Y)

Y पीढ़ी जिसे सहस्राब्दी पीढ़ी, जनरेशन नेक्स्ट, नेट जनरेशन, इको बूमर भी कहा जाता है, X पीढ़ी के बाद के जनसांख्यिकीय समूह को वर्णित करती है। चूंकि इस बारे में कोई सटीक तिथियाँ उपलब्ध नहीं है कि सहस्राब्दी पीढ़ी कब शुरू होती है और कब ख़त्म होती है, ...

आप्रवास

आप्रवास लोगों का उन क्षेत्रों में गमन होने को कहते हैं, जहां के वे मूल निवासी नहीं होते हैं। यह गमन वहां बसने की मंशा से किया जाता है। आप्रवास कई कारणों से किया जा सकता है जिनमें मौसम, तापमान, प्रजनन, आर्थिक, राजनीतिक, परिवार के पुनःएकीकरण, प्राक ...

जनसंख्या

जीव विज्ञान में, विशेष प्रजाति के अंत: जीव प्रजनन के संग्रह को जनसंख्या कहते हैं; समाजशास्त्र में इसे मनुष्यों का संग्रह कहते हैं। जनसँख्या के अन्दर आने वाला प्रत्येक व्यक्ति कुछ पहलू एक दुसरे से बांटते हैं जो कि सांख्यिकीय रूप से अलग हो सकता है, ...

जनसंख्या घनत्व

जनसंख्या घनत्व जनसंख्या प्रति इकाई क्षेत्रफ़ल पर निवास करने वाले लोगों की संख्या का माप होता है। यह जीवों पर प्रायं प्रयोग होता है। खासकर मानवों के लिए, भूगोल के क्षेत्र में ।good

जनसांख्यिकीय लाभांश

जनसांख्यिकीय लाभांश अथवा जनांकिकीय लाभ से आशय उस सम्भावित प्रबल आर्थिक विकास से है जो किसी जनसंख्या में काम करने वालों की संख्या तथा उनके ऊपर आश्रित लोगों की संख्या का अनुपात अधिक होने पर मिल सकता है। अर्थात यह अर्थव्यवस्था में मानव संसाधन के सका ...

महानगरीय क्षेत्र

महानगरीय क्षेत्र एक विशाल जनसंख्या केंद्और उसके पड़ोसी क्षेत्र को मिलाकर होता है। इसमें एकदम निकटता से जुड़े शहर एवं अन्य प्रभावित क्षेत्र भी गिने जा सकते हैं। इसमें सबसे बड़े शहर के नाम से ही इस क्षेत्र के नाम को जाना जाता है।

अमावस्या

अमावस्या हिन्दू पंचांग के अनुसार माह की ३०वीं और कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि है इस दिन का भारतीय जनजीवन में अत्यधिक महत्व हैं। हर माह की अमावस्या को कोई न कोई पर्व अवश्य मनाया जाता हैं। सोमवार को पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते हैं।

आश्विन अमावास्या

हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग महायुग आनलाइन पंचाग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम

आषाढ अमावास्या

विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम आनलाइन पंचाग हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस महायुग

कार्तिक अमावास्या

हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक आनलाइन पंचाग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम महायुग सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग

चैत्र अमावास्या

महायुग विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम आनलाइन पंचाग सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक

ज्येष्ठ अमावास्या

विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक आनलाइन पंचाग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम महायुग सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस

पोला

पोला त्योहार भादो माह की अमावस्या तिथि को मनाया जाता है। इस दिन बैलों का श्रृंगाकर उनकी पूजा की जाती है। बच्चे मिट्टी के बैल चलाते हैं। इस दिन बैल दौड़ का भी आयोजन किया जाता है। और इस दिन में बैलो से कोई काम भी नहीं कराया जाता है। और घरों में महि ...

पौष अमावास्या

सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस महायुग हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग आनलाइन पंचाग

फाल्गुन अमावास्या

सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम महायुग आनलाइन पंचाग हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक

भाद्रपद अमावास्या

महायुग विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक आनलाइन पंचाग विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस

माघ अमावास्या

विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस महायुग आनलाइन पंचाग हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम

वैशाख अमावास्या

विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस महायुग आनलाइन पंचाग विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग

श्रावण अमावास्या

विश्व के सभी नगरों के लिये मायपंचांग डोट कोम महायुग आनलाइन पंचाग हिन्दू पंचांग १००० वर्षों के लिए सन १५८३ से २५८२ तक विष्णु पुराण भाग एक, अध्याय तॄतीय का काल-गणना अनुभाग सॄष्टिकर्ता ब्रह्मा का एक ब्रह्माण्डीय दिवस

चंद्रमा के मिशन की सूची

चंद्रमा के मानव अन्वेषण के हिस्से के रूप में, पृथ्वी के प्राकृतिक उपग्रह का अध्ययन करने के लिए कई अंतरिक्ष मिशन किगए हैं। चंद्रमा की लैंडिंग से, सोवियत संघ का लूना 2 सफलतापूर्वक अंतरिक्ष में पहुंचने वाला पहला अंतरिक्ष यान था, जानबूझकर 13 सितंबर 1 ...

चन्द्र पंचांग

चन्द्र पंचांग एक पंचांग है जो चन्द्र घूर्णन अर्थात चाँद की कला पर आधारित होता है। चूँकि सौर वर्ष में लगभग बारह चान्द्रमास होते हैं, इस अवधि को कभी-कभी चांद्र वर्ष भी कहते हैं। सबसे पुराना ज्ञात पंचांग स्कॉटलैण्ड के क्रेथिस कैसल का चन्द्र पंचांग है।

कुरुविन्द

कुरुविंद या कुरंड एक मणिभीय खनिज पत्थर है, जो संसार के विभिन्न स्थलों में पाया जाता है। इस पत्थर की दो विशेषाएँ हैं, एक तो यह कठोर होता है, दूसरे चमकदार। भारत में भी कुरुविंद प्राप्य है। असम की खासी और जयंतिया पहाड़ियों, झारखण्ड, तमिलनाडु, मध्यप् ...

भारत के दुर्लभ हीरे

18वीं शताब्दी में दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील में हीरों की खानों का पता चलने से पहले तक दुनियाभर में भारत की गोलकुंडा खान से निकले हीरों की धाक थी। आज अधिकांश भारतीय हीरे जहां लापता हैं। वहीं कुछ विदेशी संग्रहालयों की शोभा बढ़ा रहे हैं। भारत के सबस ...

हीरा

हीरा एक पारदर्शी रत्न है। यह रासायनिक रूप से कार्बन का शुद्धतम रूप है। हीरा में प्रत्येक कार्बन परमाणु चार अन्य कार्बन परमाणुओं के साथ सह-संयोजी बन्ध द्वारा जुड़ा रहता है। कार्बन परमाणुओं के बाहरी कक्ष में उपस्थित सभी चारों इलेक्ट्रान सह-संयोजी ब ...

कतरनियाघाट वन्यजीव अभयारण्य

कतर्नियाघाट वन्यजीव अभयारण्य भारत-नेपाल सीमा पर, भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के बहराइच जनपद की नानपारा तहसील में स्थित है। यह प्रभाग लगभग ५५१ कि० मी० क्षेत्र में फैला तराई ईकोसिस्टम का विशिष्ट उदाहरण है। जैव विविधता एवं बाघों के संरक्षण के लिए वर्ष ...

छोटे पारिस्थितिकता से भिन्न भूदृश्य

Ecotopes एक परिदृश्य मानचित्रण और वर्गीकरण प्रणाली में सबसे छोटी पारिस्थितिक रूप से विशिष्ट परिदृश्य विशेषताएं हैं। जैसे, वे अपेक्षाकृत सजातीय, स्थानिक रूप से स्पष्ट परिदृश्य कार्यात्मक इकाइयों का प्रतिनिधित्व करते हैं जो परिदृश्य संरचना, फ़ंक्शन ...

जलकुंभी

जल कुंभी पानी में तैरने वाला एक प्रकार का पौधा है जो मूलत: अमेज़न का है लेकिन अब पूरे विश्व में फैल गया है। जल कुम्भी सबसे पहले भारत में बंगाल में अपने खुबसूरत फूलोंं और पत्तियों के आकार के कारण लाया गया था। भारत में इसे बंगाल का आतंक Terror Of B ...

वन महोत्सव

वन महोत्सव भारत सरकार द्वारा वृक्षारोपण को प्रोत्साहन देने के लिए प्रति वर्ष जूलाई के प्रथम सप्ताह में आयोजित किया जाने वाला एक महोत्सव है। यह १९६० के दशक में पर्यावरण संरक्षण और प्राकृतिक परिवेश के प्रति संवेदनशीलतत्कालीन कृषि मंत्री कन्हैयालाल ...