ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 162

भोज ताल

भोजताल जिसको बड़े तालाब के नाम से भी जाना जाता है एक बड़ा तालाब है। जो भोपाल मध्य प्रदेश के पश्चिमी तरफ मौजूद है। भोपालवासियों के लिए भोजताल व कोलार डॅम पीने के पानी का स्रोत है। 2019 monsoon: अपनी रौनक पर वापस लौट रहा भोपाल का बड़ा तालाब लगभग 40 ...

रंगसागर झील

रंग सागर झील जो कि भारतीय राज्य राजस्थान के उदयपुर ज़िले की एक छोटी सी झील है। यह झील स्वरूप सागर झील और पिछोला झील से जुड़ी हुई है। यह एक ताजे पानी की झील है जो उदयपुर शहर के लोगों की प्यास बुझाती है जबकि शहर की शान बढाती है।

राक्षसताल

Q1.किस नदी का उदगम राकसताल मे होता है! Ans सतलज राक्षसताल तिब्बत में एक झील है जो मानसरोवर और कैलाश पर्वत के पास, उनसे पश्चिम में स्थित है। सतलुज नदी राक्षसतल के उत्तरी छोर से शुरु होती है। पवित्र मानसरोवर और कैलाश के इतना पास होने के बावजूद राक् ...

राजस्थान की झीलें

प्राचीन काल से ही राजस्थान में अनेक प्राकृतिक झीलें विद्यमान है। मध्य काल तथा आधुनिक काल में रियासतों के राजाओं ने भी अनेक झीलों का निर्माण करवाया। राजस्थान में मीठे और खारे पानी की झीलें हैं जिनमें सर्वाधिक झीलें मीठे पानी की है।

विश्व की झीलें

विश्व की झीलों की सूची इस प्रकार है - यूरोप - ऑस्ट्रेलिया -आयर दक्षिण अमेरिका - टिटिकाका एशिया - कैस्पियन, अरल, लडौगा, मानसरोवर, ओनेगा, चिलिका, बैकाल, बाल्खश उत्तर अमेरिका - ह्यूरॉन, ओन्टारियो, मिशिगन, ईरी, विनीपेग, सुपीरियर, ग्रेट स्लेव अफ्रीका ...

सुखना झील

सुखना झील भारत के चण्डीगढ़ नगर में हिमालय की शिवालिक पहाड़ियों की तलहटी में स्थित एक सरोवर है। यह झील 1958 में 3 किमी² क्षेत्र में बरसाती झील सुखना खाड को बाँध कर बनागई थी। पहले इसमें सीधा बरसाती पानी गिरता था और इस कारण बहुत सी गार इसमें जमा हो ...

स्वरूप सागर झील

स्वरूप सागर एक छोटी सी झील है जो भारत के राजस्थान के उदयपुर जिले में स्थित है. इस झील पिस्तौल झील और संलग्न झील से जुड़ा हुआ है.

हामून

हामून ईरान के पठापर मौसमी तौपर चाँद महीनों के लिए बन जाने वाली झीलों और दलदलों को कहा जाता है। यह ईरान और अफ़ग़ानिस्तान में और पाकिस्तान के पश्चिमी बलोचिस्तान प्रांत में बन जाते हैं। यह हामून क्षेत्रीय जानवरों, मछलियों और पक्षियों के जीवनक्रम में ...

हिमायत सागर

हिमायत सागर, तेलंगाना, भारत में एक कृत्रिम झील है जो हैदराबाद से 20 किमी दूर है। यह एक और कृत्रिम झील उस्मान सागर के समानांतर है। जलाशय की भंडारण क्षमता के बारे में 3.0 टीएमसी है।

ह्यूरॉन झील

ह्यूरन झील संयुक्त राज्य अमेरीका की एक झील है। यूएसए की बड़ी झीलों में इसका सुपीरियर झील के बाद दूसरा स्थान है। मिशिगन और एरी झीलों के बीच स्थित यह ४०० किलोमीटर लंबी एवं २४८ किमी चौड़ी है। इसका क्षेत्रफल ५८,८८० वर्ग किमी है। इस झील का ३४,००८ वर्ग ...

क़त्तारा द्रोणी

क़त्तारा द्रोणी उत्तरपश्चिमी मिस्र के मत्रूह राज्य में लीबयाई रेगिस्तान में स्थित एक रागिस्तानी द्रोणी है। इस द्रोणी में अफ़्रीका का दूसरा सब से निचला ज़मीनी क्षेत्र आता है, जो समुद्री सतह से 133 मीटर नीचे है। इस द्रोणी का क्षेत्रफल लगभग 19.500 व ...

तारिम द्रोणी

तारिम द्रोणी या तारिम बेसिन मध्य एशिया में स्थित एक विशाल बंद जलसंभर इलाका है जिसका क्षेत्रफल ९०६,५०० वर्ग किमी है । वर्तमान राजनैतिक व्यवस्था में तारिम द्रोणी चीनी जनवादी गणराज्य द्वारा नियंत्रित श़िंजियांग उइग़ुर स्वराजित प्रदेश नाम के राज्य मे ...

तुरफ़ान द्रोणी

तुरफ़ान द्रोणी या तुरपान द्रोणी चीन द्वारा नियंत्रित मध्य एशिया के शिनजियांग क्षेत्र में स्थित ज़मीन में एक भ्रंश के कारण बनी एक द्रोणी है। मृत सागर और जिबूती की असल झील के बाद तुरफ़ान द्रोणी में स्थित अयदिंग​ झील पृथ्वी का तीसरा सब से निचला ज़मी ...

सीस्तान द्रोणी

सीस्तान द्रोणी या सीस्तान बेसिन दक्षिण-पश्चिमी अफ़्ग़ानिस्तान और दक्षिण-पूर्वी ईरान में स्थित एक बंद जलसंभर इलाका है। यह दुनिया के सबसे शुष्क क्षेत्रों में से एक है और यहाँ अक्सर सूखा पड़ता है। यहाँ पर अफ़्ग़ानिस्तान के पर्वती क्षेत्रों से बहुत स ...

लंबाई के आधार पर नदियों की सूची

नदी की लम्बाई की गणना करना बहुत कठिन हो सकता है। इसमें कई कारक होते हैं, जैसे स्रोत, मुहाने की पहचान या परिभाषा और स्रोत और मुहाने के बीच नदी की लंबाई के माप का पैमाना, जो "नदी की लंबाई" के सटीक अर्थ को तय करते हैं। नतीजतन, कई नदियों की लंबाई का ...

चेप नदी

चेप नदी राजस्थान में बहने वाली एक नदी है जो कालिंजरा की पहाड़ियों से निकलती है। प्रारम्भ में उत्तरी दिशा में बहती है और फिर दक्षिण की ओर प्रवाहित होती ही माही नदी में मिल जाती है।

छोटी गण्डक

छोटी गण्डक एक नदी है जो नेपाल से निकलकर भारत के उत्तर प्रदेश में प्रवेश करती है। यहाँ यह महराज गंज, कुशीनगर, देवरिया जनपदों में बहती हुई अन्ततः घाघरा में मिल जाती है।

डुगावा नदी

डुगावा नदी, यूरोप की एक नदी है। यह नदी वाल्दाई पहाड़ियों में आरम्भ होकर, रूस, बेलारूस और लातविया से बहती हुई रीगा की खाड़ी, जो बाल्टिक सागर का एक भाग है, में गिरती है। इस नदी की कुल लम्बाई १,०२० किमी है। यह एक नहर के द्वारा बेरीज़िना और नाईपर नदि ...

भारत की नदी प्रणालियाँ

भारत की नदियों का देश के आर्थिक एवं सांस्कृतिक विकास में प्राचीनकाल से ही महत्वपूर्ण योगदान रहा है। सिन्धु तथा गंगा नदियों की घाटियों में ही विश्व की सर्वाधिक प्राचीन सभ्यताओं - सिन्धु घाटी तथा आर्य सभ्यता का आर्विभाव हुआ। आज भी देश की सर्वाधिक ज ...

रेती (बैकशोर)

रेती, किसी जलनिकाय के अन्दर या उससे बाहर की ओर विस्तारित होने वाला, एक रेखीय स्थलरूप है जिसके संघटक आम तौपर रेत, गाद या छोटे कंकड़ होते हैं। एक स्पिट या संकरी रेती, रेती का एक प्रकार है। रेतियों की विशेषता इनका लंबा और संकीर्ण होना है और इनकी रचन ...

विश्व की नदियां

विश्व के नदियों की सूची महाद्वीप के आधापर इस प्रकार हैं - अफ्रीका - नील, कांगो, नाइजर, जाम्बेजी एशिया - आमूर, ह्वांगहो, ब्रह्मपुत्र गंगा, यमुना, लेना नदी, कावेरी, नर्मदा सिन्धु, यांग्त्सी, मेकोग ऑस्ट्रेलिया - मर्रे डार्लिंग यूरोप - वोल्गा, टेम्स ...

वोल्गा नदी

वोल्गा नदी यूरोप की एक नदी है। यह कैस्पियन सागर में गिरती है। वॉल्गा नदी यूरोप तथा यूरोपीय रूस की सबसे लंबी नदी तथा रूस का महत्वपूर्ण जलमार्ग है। वल्डाइ पहाड़ी पर ६६५ फुट ऊँचाई पर स्थित स्रोत से निकलकर, यह नदी १,३०० मील लंबे घुमावदार मार्गों से ह ...

सीन

सीन फ़्रांस में बहने वाली एक नदी है। इसका उद्गम डीजोन के उत्तर-पश्चिम के कम्यून में है और यह इंग्लिश चैनल में जाकर गिरती है। इसकी लम्बाई लगभग 777 किमी है। पेरिस शहर सीन नदी के किनारे ही स्थित है। लंदन इसी नदी पर बसा हुआ है

पर्वतन

पर्वतन, उन बलों और घटनाओं की व्याख्या करता है जो विवर्तनिक प्लेटों के संचलन के फलस्वरूप पृथ्वी के स्थलमंडल में आये गहन संरचनात्मक विरूपण का कारण बनते हैं। विवर्तनिक प्लेटों के इस संचलन से निर्मित यह अत्यधिक विरूपित शैल संरचनायें पर्वतजन कहलाती है ...

बरखान

बरखान अथवा बरखान स्तूप एक प्रकार के बालुका स्तूप हैं जिनकी आकृति अर्द्ध-चन्द्राकार होती है और अक्सर समूहों में पाए जाते हैं। ये ऐसे रेगिस्तानों में बनते हैं जहाँ पवन वर्ष भर एक ही दिशा से बहती है, इनका पवनानुवर्ती ढाल मंद और उत्तल होता है जबकि दू ...

बालुका स्तूप

पवन द्वारा रेत एवं बालू के निक्षेप से निर्मित टीलों को बालुका स्तूप अथवा टिब्बा कहते हैं। भौतिक भूगोल में, एक टिब्बा एक टीला या पहाड़ी है, जिसका निर्माण वायूढ़ प्रक्रियाओं द्वारा होता है। इन स्तूपो के आकार में तथा स्वरुप में बहुत विविधता देखने को ...

निम्नस्खलन

भूविज्ञान में निम्नस्खलन या सबडक्शन उस प्रक्रिया को कहते हैं जिसमें दो भौगोलिक तख़्तों की संमिलन सीमा पर एक तख़्ता दूसरे के नीचे फिसलकर दबने लगता है, यानि कि उसका दूसरे तख़्ते के नीचे स्खलन होने लगता है। निम्नस्खलन क्षेत्र पृथ्वी के वे इलाक़े होत ...

महाद्वीपीय विस्थापन

महाद्वीपीय विस्थापन पृथ्वी के महाद्वीपों के एक-दूसरे के सम्बन्ध में हिलने को कहते हैं। यदि करोड़ों वर्षों के भौगोलिक युगों में देखा जाए तो प्रतीत होता है कि महाद्वीप और उनके अंश समुद्र के फ़र्श पर टिके हुए हैं और किसी-न-किसी दिशा में बह रहे हैं। ...

संमिलन सीमा

भूवैज्ञानिक प्लेट विवर्तनिकी में संमिलन सीमा वह सीमा होती है जहाँ पृथ्वी के स्थलमण्डल के दो भौगोलिक तख़्ते एक दूसरे की ओर आकर टकराते हैं या आपस में घिसते हैं। ऐसे क्षेत्रों में दबाव और रगड़ से भूप्रावार का पत्थर पिघलने लगता है और ज्वालामुखी तथा भ ...

सुन्दा चाप

सुन्दा चाप दक्षिणपूर्व एशिया में स्थित एक ज्वालामुखीय चाप है जिसने सुमात्रा, जावा, सुन्दा जलसन्धि और लघुतर सुन्दा द्वीपसमूह के द्वीपों का निर्माण किया। इस पूरे चाप में ज्वालामुखियों की एक शृंखला रीढ़ की भांति खड़ी है।

हैरी हेस

हैरी हैमंड हेस एक अमेरिकी भूविज्ञानी और नौसेना में रियर एडमिरल के पद से सेवानिवृत्त होने वाले नौसैनिक थे। उन्हें सागर नितल प्रसरण की खोज के लिये जाना जाता है जो प्लेट विवर्तनिकी सिद्धान्त की आधारशिला बना। इसीलिए कुछ लोग उन्हें प्लेट विवर्तनिकी सि ...

अंटार्कटिक प्लेट

अंटार्कटिक तख़्ता एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर अन्टार्कटिका का महाद्वीप और उसके इर्द-गिर्द के महासागर का क्षेत्र स्थित है। इसकी सीमा नाज़का प्लेट, दक्षिण अमेरिकी प्लेट, अफ़्रीकी प्लेट, हिन्द-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट, स्कोशिया प्लेट और प्रशांत प्लेट से मिल ...

अफ़्रीकी प्लेट

अफ़्रीकी प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर अफ़्रीका का महाद्वीप और उसके इर्द-गिर्द के समुद्र का कुछ क्षेत्र स्थित है। इसके उत्तर में यूरेशियाई प्लेट, पूर्वोत्तर में अरबी प्लेट, पूर्व में हिन्द-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट, दक्षिण में अंटार्कटिक प्लेट, पश्चिम ...

अरबी प्लेट

अरबी तख़्ता एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर अरबी प्रायद्वीप, तुर्की के कुछ भाग और इर्द-गिर्द के समुद्र का कुछ क्षेत्र स्थित है। इसके पूर्व में हिन्द-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट, दक्षिण में अफ़्रीकी प्लेट और उत्तर में यूरेशियाई प्लेट और आनातोलियाई प्लेट स्थित है ...

आनातोलियाई प्लेट

आनातोलियाई प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर तुर्की के देश का अधिकाँश हिस्सा स्थित है। उत्तर की तरफ़ यह यूरेशियाई प्लेट से और दक्षिण की तरफ़ अफ़्रीकी और अरबी प्लेट से सीमा लगाती है।

उत्तर अमेरिकी प्लेट

उत्तर अमेरिकी प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर उत्तर अमेरिका के महाद्वीप का अधिकाँश हिस्सा, ग्रीनलैण्ड, क्यूबा और बहामास स्थित हैं। इसी प्लेट पर जापान, साइबेरिया और आइसलैंड के कुछ हिस्से भी स्थित हैं। अंध महासागर का उत्तर-पूर्वी हिस्सा और उत्तरध्र ...

कैरीबियाई प्लेट

कैरीबियाई प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसके ऊपर कैरीबियन सागर और मध्य अमेरिका के कुछ भाग स्थित हैं। इस प्लेट का क्षेत्रफल ३२ लाख वर्ग किमी है। इसकी सीमाएँ उत्तर अमेरिकी प्लेट, दक्षिण अमेरिकी प्लेट, नाज़का प्लेट और कोकोस प्लेट को लगती हैं। इन सीमाओं ...

कोकोस प्लेट

कोकोस प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जो मध्य अमेरिका के पश्चिमी तट से मिले हुए प्रशांत महासागर के नीचे स्थित है। करोड़ों वर्ष पूर्व एक बहुत बड़ा फारालोन प्लेट हुआ करता था जो उत्तर अमेरिकी प्लेट से टकराया और धीरे-धीरे उसके नीचे धंस गया। अब उसके कुछ बचे ...

दक्षिण अमेरिकी प्लेट

दक्षिण अमेरिकी प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर दक्षिण अमेरिका का महाद्वीप और अंध महासागर का एक बहुत बड़ा हिस्सा स्थित है। इसकी सीमा दक्षिण में अंटार्कटिक प्लेट और स्कोश्या प्लेट, पश्चिम में नाज़का प्लेट, उत्तर में उत्तर अमेरिकी प्लेट और कैरीबियाई ...

नाज़का प्लेट

नाज़का प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जो दक्षिण अमेरिका के पश्चिमी तट से मिले हुए प्रशांत महासागर के नीचे स्थित है। इसका नाम पेरू के नाज़का क्षेत्पर पड़ा है। इसी प्लेट के दक्षिण अमेरिकी प्लेट के साथ टकराने से ऐन्डीज़ पर्वत शृंखला बनी है।

प्रशांत प्लेट

प्रशांत प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसके ऊपर प्रशांत महासागर का अधिकाँश हिस्सा स्थित हैं। इसका क्षेत्रफल १०.३ करोड़ वर्ग किलोमीटर है और यह पृथ्वी का सबसे बड़ा भौगोलिक प्लेट है। इस प्लेट की सीमा उत्तर में उत्तर अमेरिकी प्लेट से, पूर्व में नाज़का, ह ...

फ़ारालोन प्लेट

फ़ारालोन प्लेट एक प्राचीन भौगोलिक प्लेट था जो उत्तर अमेरिकी प्लेट की पश्चिमी सीमा से टकराकर उसके नीचे धंसने लगा। इसका मध्य भाग तो पूरा उत्तर अमेरिकी प्लेट के नीचे दब चुका है और अब इसके सिर्फ़ तीन अंश बचे हैं - हुआन दे फ़ूका प्लेट, कोकोस प्लेट और ...

भारतीय प्लेट

भारतीय तख़्ता एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर भारतीय उपमहाद्वीप का अधिकाँश हिस्सा और इर्द-गिर्द का बड़ा समुद्री क्षेत्र स्थित है। यह गोंडवानालैंड नाम के प्राचीन महाद्वीप का हिस्सा था जो अलग होकर उत्तर की ओर बढ़ा और अपने वर्तमान स्थान पर जा पहुँचा। लगभग ...

यूरेशियाई प्लेट

यूरेशियाई प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसपर यूरेशिया का ज़्यादातर भूभाग और उसके इर्द-गिर्द के समुद्र का कुछ क्षेत्र स्थित है। इसके पश्चिम में उत्तर अमेरिकी प्लेट, दक्षिण-पश्चिम में अफ़्रीकी प्लेट, दक्षिण में अरबी प्लेट और हिन्द-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट औ ...

स्कोश्या प्लेट

स्कोश्या प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जो दक्षिणी अंध महासागर के नीचे स्थित है। इसके उत्तर में दक्षिण अमेरिकी प्लेट है और इसके दक्षिण और पूर्व में अंटार्कटिक प्लेट है।

हिन्द-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट

हिन्द-ऑस्ट्रेलियाई प्लेट एक मुख्य भौगोलिक प्लेट है जिसपर ऑस्ट्रेलिया का महाद्वीप, भारतीय उपमहाद्वीप का अधिकाँश हिस्सा और इर्द-गिर्द का बड़ा समुद्री क्षेत्र स्थित है। यह प्लेट धीरे-धीरे दो प्लेटों में टूट रहा है जिन्हें भारतीय प्लेट और ऑस्ट्रेलिया ...

हुआन दे फ़ूका प्लेट

हुआन दे फ़ूका प्लेट एक भौगोलिक प्लेट है जिसके ऊपर उत्तरपूर्वी प्रशांत महासागर का छोटा सा हिस्सा और उत्तर अमेरिका के महाद्वीप के सुदूर पश्चिमी भाग का कुछ हिस्सा स्थित है। यह पृथ्वी के सारे भौगोलिक तख़्तों में सब से छोटा है। करोड़ों वर्ष पूर्व एक ब ...

अद-दहना रेगिस्तान

अद-दहना अरबी रेगिस्तान का मध्य हिस्सा है। इसका अकार एक गलियारे के रूप का है - यह केवल २५-५० किमी की चौड़ाई रखता है और अरबी प्रायद्वीप के उत्तर के अन-नफ़ूद रेगिस्तान को १,२०० किमी दक्षिण में स्थित रुब अल-ख़ाली मरुस्थल से जोड़ता है। यह तुवइक़​ पहाड ...

अन-नफ़ूद रेगिस्तान

अन-नफ़ूद या अल-नफ़ूद या नफ़ूद अरबी प्रायद्वीप में स्थित एक बड़ा रेगिस्तान है। इसका क्षेत्रफल १,०३,००० वर्ग किमी है, यानि लगभग भारत के बिहार राज्य से ज़रा बड़ा। नफ़ूद एक अर्ग है, जिसमें ज़बरदस्त हवाएँ अचानक चल पड़ती हैं। इस वजह से यह क्षेत्र अर्धच ...

अरबी रेगिस्तान

अरबी रेगिस्तान पश्चिमी एशिया में स्थित एक विशाल रेगिस्तान है जो दक्षिण में यमन से लेकर उत्तर में फ़ारस की खाड़ी तक और पूर्व में ओमान से लेकर पश्चिम में जोर्डन और इराक़ तक फैला हुआ है। अरबी प्रायद्वीप का अधिकाँश भाग इस रेगिस्तान में आता है और इस म ...