ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 15

हरियाणा की राजनीति

उत्तर भारत के हरियाणा राज्य की राजनीति के मुख्य खिलाड़ी शासन कर रही भारतीय जनता पार्टी, भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस और इंडियन नैशनल लोकदल हैं। हरियाणा की विधानसभा में 90 सीटें हैं। लोकसभा में हरियाणा की 10 सीटें हैं।

हरियाणा विकास पार्टी

हरियाणा विकास पार्टी की स्थापना हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय चौधरी बंसी लाल ने कांग्रेस से बाहर होकर की थी। 1996 में इस पार्टी को सरकार बनाने का मौका भी मिला, लेकिन 2005 तक आते आते इसने अपनी लोकप्रियता खो दी ओर कांग्रेस में विलय कर लिया था।

नाहरसिंह महल

राजा नाहरसिंह महल १८वीं सदी का प्राचीन महल है एवं अपने वास्तुकला के लिये प्रसिद्ध है। यह हरियाणा राज्य के फ़रीदाबाद शहर के बल्लभगढ़ क्षेत्र में स्थित है तथा इसका निर्माण जाट राजा नाहरसिंह के उत्तराधिकारियों द्वारा किया गया था। इस महल का निर्माण क ...

प्रानपीर बादशाह् मकबरा

प्रानापीर बादशाह की कब्र एक 14 वीं सदी का मकबरा है, जो कि सफेद शिव मंदिर की सामग्री निर्मित है। यह भारत के हरियाणा राज्य में, हिसार शहर के महावीर स्टेडियम के समीप स्थित है।

हरियाणा के जिले

उत्तर भारत में स्थित हरियाणा जनसंख्या के हिसाब से भारत का १७वां सबसे बड़ा राज्य है। जनसामान्य को बेहतर प्रशासनिक सेवाएं देने के लिये राज्य को ६ मण्डलों तथा २२ जिलों में विभाजित किया गया है। १ नवंबर १९६६ को जब तत्कालीन पूर्वी पंजाब के विभाजन द्वार ...

कुरुक्षेत्र जिला

कुरुक्षेत्र जिला भारत के उत्तरी राज्य हरियाणा के 21 जिलों में से एक है। कुरुक्षेत्र कस्बा हिन्दुओं का एक पावन स्थान, जिले का प्रशासनिक मुख्यालय है। जिले का कुल क्षेत्रफल 1682.53 वर्ग किमी है। जिले की कुल जनसंख्या 964231 है। यह जिला अम्बाला सम्भाग ...

चरखी दादरी जिला

18 सितम्बर, 2016 को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक रैली में चरखी दादरी को प्रदेश का 22वां जिला बनाने की घोषणा की थी। 18 अक्टूबर, 2016 को हरियाणा कैबिनेट की बैठक में चरखी दादरी को जिला बनाए जाने संबंधी प्रस्ताव पर मुहर लगा दी गई। जिला बनने ...

पलवल जिला

पलवल आज़ादी में अपना अहम योगदान रखता है। यहाँ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पहली राजनीतिक गिरफ्तारी हुई थी। नेताजी सुभाषचंद्र बोस ने पलवल में अपने हाथों से एक कमरे बनवाने के लिए नींव रखी। महात्मा गांधी और नेताजी सुभाषचंद्र बोस के साथ आज़ादी की लड़ ...

पानीपत जिला

एस डी सीनीयर सेकेंडरी स्कूल एस डी बालिका विद्यालय आर्य सीनियर सेकेंडरी स्कूल डाक्टर एम के के आर्ये माडल स्कूल बाल विकास विद्यालय, माडल टाऊन आर्य बाल भारती पब्लिक स्कूल केन्द्रीय विद्यालय, एनएफ़एल डी ए वी स्कूल, थर्मल सेंट मेरी स्कूल एमएएसडी पब्लि ...

फतेहाबाद जिला

ढाणी साँचला इन्दाछोई भट्टू बोस्ती चन्द्रावल सनियाना दैयड़ ढाणी गोपाल जांडली कलाँ बुआन चन्दड़ ढाणी डुल्ट

भिवानी जिला

क्षेत्रफल की दृष्टि से यह हरियाणा का सबसे बड़ा जिला हुआ करता था, परंतु चरखी दादरी भिवानी से अलग होकर एक नया जिला बन गया जिसके कारण अब सिरसा जिला सबसे बड़ा जिला बन गया। इसकी स्थापना 22 दिसम्बर, 1972 को हुई थी जब इसे हिसार से अलग कर दिया गया था। इस ...

मेवात जिला

मेवात ज़िला, जो आधिकारिक रूप से नूँह ज़िला कहलाता है, भारतीय राज्य हरियाणा का एक जिला है। इसका मुख्यालय नूह में स्थित है। मेवात भौगोलिक विषमताओं से भरा हुआ है। यहां पर कहीं खुले मैदान हैं तो कहीं अरावली पर्वत श्रृंखला की पहाड़ियां देखी जा सकती है ...

यमुनानगर जिला

यमुनानगर ज़िला भारत के हरियाणा राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय यमुनानगर है। यह हरियाणा राज्य का प्रमुख नगर है। यहाँ सरस्वती शुगर मिल पेपर मिल, लक्कड मार्केट, पावर प्लांट आदि है। यहाँ पर कलेसर राष्ट्रीय उद्यान भी है। इसके अलावा कलेसर वन्यज ...

रेवाड़ी जिला

रेवाड़ी ज़िला भारत के हरियाणा राज्य का एक ज़िला है। ज़िले का मुख्यालय रेवाड़ी है। इसे 1 नवम्बर 1989 को हरियाणा सरकार ने गुरुग्राम ज़िले से अलग कर के गठित करा था।

सिरसा जिला

सितंबर 1975 को हरियाणा के प्रथम जिले के रूप में अस्तित्व में आया सिरसा नगर बठिंडा-रेवाड़ी पर रेलमार्ग पर तथा दिल्ली-फाजिल्का राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 10 पर स्थित है। हरियाणा के पश्चिम छोपर बसा, पंजाब और राजस्थान की सीमाओं से सटा यह शहर मुक्तसर व ब ...

आदि बद्री (हरियाणा)

यह तथ्य भारतीय पुरातत्व विभाग तथा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान इसरो द्वारा प्रमाणित भी किया गया है। आसपास खुदाई में मिले अवशेष, तथा दूरसंवेदी उपग्रहों द्वारा ली गई तस्वीरें पास ही में स्थित एक संग्रहालय में रखी गई हैं। इन तस्वीरों से यह भी प् ...

हरियाणा के मण्डल

उत्तर भारत में स्थित हरियाणा जनसंख्या के हिसाब से भारत का १७वां सबसे बड़ा राज्य है। जनसामान्य को बेहतर प्रशासनिक सेवाएं देने के लिये राज्य को ६ मण्डलों तथा २२ जिलों में विभाजित किया गया है। निम्नलिखित सूची हरियाणा राज्य के मण्डलों की है:

हरियाणा के राज्य राजमार्गों की सूची

हरियाणा उत्तर भारत में स्थित एक राज्य है। राज्य में सड़कों की कुल लंबाई २६,०६२ किलोमीटर है, जिसमें २,४८२ किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग, १,८०१ किलोमीटर राज्य राजमार्ग, १,३९५ किलोमीटर प्रमुख जिला सड़क और २०,३४४ किलोमीटर अन्य जिला सड़क हैं। निम्नलिखित ...

हरियाणा के सर्वाधिक जनसंख्या वाले शहरों की सूची

2011 की जनगणना के अनुसार फरीदाबाद शहर, जो राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का हिस्सा भी है, जनसंख्या के आधापर हरियाणा का सबसे बड़ा नगर है। निम्न सूची हरियाणा के 1 लाख से अधिक जनसंख्या वाले शहरों या महानगरों की है:

बाबा बालकनाथ

बाबा बालकनाथ जी हिन्दू आराध्य हैं, जिनको उत्तर-भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश, पंजाब, दिल्ली में बहुत श्रद्धा से पूजा जाता है, इनके पूजनीय स्थल को" दयोटसिद्ध” के नाम से जाना जाता है, यह मंदिर हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के चकमोह गाँव की पहाड़ी के उ ...

शिवालिक

शिवालिक श्रेणी या बाह्य हिमालय भी कहा जाता है) हिमालय पर्वत का सबसे दक्षिणी तथा भौगोलिक रूप से युवा भाग है जो पश्चिम से पूरब तक फैला हुआ है। यह हिमायल पर्वत प्रणाली के दक्षिणतम और भूगर्भ शास्त्रीय दृष्टि से, कनिष्ठतम पर्वतमाला कड़ी है। इसकी औसत ऊ ...

हिमाचल प्रदेश के मण्डल

हिमाचल प्रदेश राज्य को १२ जिलों में विभाजित किया गया है, जो तीन मण्डलों में समूहबद्ध हैं: चम्बा, काँगड़ा, उना कांगड़ा मण्डल के जिले मण्डी मण्डल के जिले बिलासपुर, हमीरपुर, लाहौल-स्पीति, कुल्लू, मण्डी किन्नौर, शिमला, सिरमौर, सोलन शिमला मण्डल के जिले

किन्नौर जिला

पौराणिक किन्नौरों की भूमि किन्नौर हिमाचल प्रदेश के उत्तर पूर्व में स्थित एक जिला है। किन्नौर जिले का मुख्याल्य रिकांग पिओ है। ऊंचे-ऊंचे पहाडों और हरे-भरे पेडों से घिरा यह क्षेत्र ऊपरी, मध्य और निचले किन्नौर के भागों में बंटा हुआ है। यहां पहुंचने ...

कुल्लू जिला

कुल्लू भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है। जिले का मुख्यालय कुल्लू है। कुल्लू का दशहरा विश्वभर में प्रसिध्द है। दशहरे में हिमाचलभर के देवी-देवताओं की मूर्तियों को लोग रंग-बिरंगी पोशाक पहना कंधों पर बिठा कर लाते हैं। हिमाचल में सबसे ज्यादा ब ...

चंबा जिला

चंबा भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है। जिले का मुख्यालय चंबा है। उत्तरी भारत के मैदानी इलाकों से लोगों के लिए चम्बा जिले के डलहौजी और खज्जियार नगर लोकप्रिय हिल स्टेशन व छुट्टीयां बिताने के स्थान हैं। उत्तर भारत में केवल चम्बा ही एक मात्र ...

मंडी जिला

मंडी भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है। मंडी जिला हिमाचल प्रदेश का एक प्रसिद्ध शहर है। इसका नाम मनु ऋषि के नाम पर हुआ है। मंडी के बारे में यह कहा जाता है की यह जगह व्यापारिक दृष्टि से काफ़ी महत्वपूर्ण थी। यह जिला व्यास नदी के किनारे बसा हु ...

सिरमौर जिला

सिरमौर भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है। जिले का मुख्यालय नाहन है। क्षेत्रफल 2.825 वर्ग कि.मी. जनसंख्या - 2001 जनगणना साक्षरता - 55% एस. टी. डी STD कोड - 01702 जिलाधिकारी - सितम्बर 2006 में समुद्र तल से उचाई -3600m अक्षांश - उत्तर देशांतर ...

सोलन जिला

सोलन भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है। जिले का मुख्यालय सोलन है। क्षेत्रफल - वर्ग कि.मी. जनसंख्या - 2001 जनगणना साक्षरता - एस. टी. डी STD कोड - 01792 जिलाधिकारी - सितम्बर 2006 में समुद्र तल से उचाई - अक्षांश - उत्तर देशांतर - पूर्व औसत वर ...

हमीरपुर जिला, हिमाचल प्रदेश

हमीरपुर भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश का एक जिला है। इसी नाम से एक जिला उत्तर प्रदेश में भी है। हमीरपुर की स्थापना: 1700 ई० में आलम चंद की मृत्यु के बाद हमीरचंद कांगड़ा के शासक बने। उस समय कांगड़ा का किला मुगलों के अधीन था। हमीरचंद ने 1700 ई० से लेक ...

वृक्षायुर्वेद योग

वृक्षायुर्वेद योग अर्थात वृक्षों के विषय में ज्ञान रखना तथा उनका चिकित्सा में प्रयोग करना और उन्हें किस तरह से रोपा जाए, आदि जानकारी रखना। यह कला चौंसठ कलाओं के अन्तर्गत आती है।

संख्यावाची विशिष्ट गूढ़ार्थक शब्द

हिन्दी भाषी क्षेत्र में कतिपय संख्यावाची विशिष्ट गूढ़ार्थक शब्द प्रचलित हैं। जैसे- सप्तऋषि, सप्तसिन्धु, पंच पीर, द्वादश वन, सत्ताईस नक्षत्र आदि। इनका प्रयोग भाषा में भी होता है। इन शब्दों के गूढ़ अर्थ जानना बहुत जरूरी हो जाता है। इनमें अनेक शब्द ...

करुणाभरण नाटक

करुणाभरण नाटक ब्रजभाषा का अत्यंत महत्वपूर्ण काव्यनाटक है। इसके रचयिता लछिराम हैं। कृष्णजीवन से संबंधित यह नाटक दोहा, चौपाई छंदों में लिखा गया है और विभिन्न अंगों में विभाजित है। अंगों का नामकरण राधा अवस्था, राधा मिलन आदि शीर्षकों में किया गया है। ...

ब्रजभाषा की नाट्य परंपरा

नाट्य परंपरा की चर्चा करने से पूर्व यह बात स्पष्ट समझ लेनी चाहिए कि इस परंपरा के प्रारंभ से ही दो रूप प्रचलित रहे हैं। इनमें एक तो नाट्यधर्मी तथा दूसरी को लोकधर्मी परंपरा कहा जाता है। "नाट्यशास्र के प्रणेता भरतमुनि ने इन शब्दों पर प्रकाश डालते हु ...

चाँद (पत्रिका)

चाँद एक प्रसिद्ध हिन्दी पत्रिका थी जिसका प्रकाशन सन १९२३ में इलाहाबाद से हुआ। इसके संपादक रामरख सिंह सहगल, महादेवी वर्मा, नन्द किशोर तिवारी रहे। कुछ दिनों तक इसका संपादन मुंशी नवजादिक लाल ने किया था। इस पत्रिका में नारी जीवन से सम्बंधित चर्चा अधि ...

सरस्वती पत्रिका

सरस्वती हिन्दी साहित्य की प्रसिद्ध रूपगुणसम्पन्न प्रतिनिधि पत्रिका थी। इस पत्रिका का प्रकाशन इलाहाबाद से सन १९०० ई० के जनवरी मास में प्रारम्भ हुआ था। ३२ पृष्ठ की क्राउन आकार की इस पत्रिका का मूल्य ४ आना मात्र था। १९०३ ई० में महावीर प्रसाद द्विवेद ...

अखंड ज्योति

अखण्ड ज्योति, भारत की सात से अधिक भाषाओं में प्रकाशित एक मासिक पत्रिका है जो प्रेरणाप्रद, आध्यात्मिक एवम् सामाजिक विषयों पर विभिन्न समसामयिक लेखों के साथ-साथ जीवन के प्रत्येक विषय से सम्बन्धित समस्या के समाधानों की ओर प्रेरित तथा मार्गदर्शित करती ...

अर्गला

अर्गला हिन्दी की एक मासिक पत्रिका है। यह इक्कीसवीं सदी की जनसंवेदना एवं हिन्दी साहित्य की एक जरूरी पत्रिका है। कथा साहित्य, काव्य पल्लव, गीत माधुर्य, हस्तक्षेप और विमर्श इसके प्रमुख स्थायी स्तम्भ है। यह पत्रिका जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय, नई दि ...

अहा जिंदगी

अहा जिंदगी हिन्दी भाषा में एक मासिक पत्रिका है। यह भास्कर समूह की एक महत्वपूर्ण पत्रिका है, जो 6, द्वारिका सदन, प्रेस कॉम्‍प्‍लेक्‍स, एम॰ पी॰ नगर, भोपाल से प्रकाशित होती है।

आलोचना (पत्रिका)

आलोचना हिन्दी साहित्य जगत् में मूलतः आलोचना केंद्रित पत्रिकाओं में सर्वप्रथम, सर्वाधिक लंबे समय तक प्रकाशित एवं शीर्ष स्थानीय पत्रिका है। इसका प्रकाशन राजकमल प्रकाशन प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा होता है। बीच में दो बार प्रकाशन-क्रम भंग होने के बाद ...

ओशो टाइम्स

ओशो टाइम्स हिन्दी की एक पत्रिका है।यह एक नई तरह की कॉफी टेबल के लिये नोटबुक साइज़ की प्यारी सी पत्रिका है, जो ओशो से परिचय कराती हैं और यह भी बताती है कि आज के संदर्भ में "ओशो" का उनके लिये क्या महत्व है। आकर्षक डिज़ाइनों और भरपूर चित्रों से सुसज ...

कथाबिम्‍ब

कथाबिम्‍ब हिन्दी की एक कथाप्रधान त्रैमासिक पत्रिका है। यह मुंबई से प्रकाशित होती है। यह पत्रिका वर्ष- 1979 से लगातार प्रकाशित हो रही है। प्रारंभ में कुछ वर्षों तक ‘कथाबिम्ब’ द्वैमासिक पत्रिका के रूप में प्रकाशित होती थी। इस तरह गर एक स्थूल अनुमान ...

कर्मवीर (पत्रिका)

कर्मवीर एक हिन्दी पत्रिका थी। पत्रकारिता के पितृ पुरूष माधवराव सप्रे की प्रेरणा से इसका प्रथम प्रकाशन १७ जनवरी १९२० को जबलपुर से हुआ। इसके प्रथम सम्पादक माखनलाल चतुर्वेदी थे। नवम्बर १९२२ तक यह जबलपुर से निकलती थी किन्तु बाद में खण्डवा से प्रकाशित ...

दिनमान

यह हिन्दी की एक प्रमुख एवं पहली साप्ताहिक समाचार पत्रिका थी जिसे सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय ने आरंभ किया और बाद में रघुवीर सहाय ने कई वर्षों तक संपादित किया। इस पत्रिका ने हिन्दी को कई प्रतिष्ठित बुद्धिजीवी एवं पत्रकार ही नहीं दिए बल्कि ...

नया ज्ञानोदय

नया ज्ञानोदय हिन्दी की एक साहित्यिक पत्रिका है। यह भारतीय ज्ञानपीठ नई दिल्ली द्वारा प्रतिमाह प्रकाशित की जाती है।आरम्भ में यह पत्रिका जनवरी,1949 से फरवरी,1970 तक "ज्ञानोदय" नाम से प्रकाशित होती रही बाद में 2003 से इसका पुन: प्रकाशन "नया ज्ञानोदय" ...

नवनीत (हिन्दी पत्रिका)

नवनीत हिन्दी की मासिक पत्रिका है। इसके सम्पादक वरिष्ठ लेखक-पत्रकार विश्वनाथ सचदेव हैं। नवनीत हिंदी डाइजेस्ट मासिक पत्रिका की शुरुआत जनवरी 1952 में स्वर्गीय श्री गोपाल नेवटिया ने की थी जो कि बाद में भारतीय विद्या भवन द्वारा अधिग्रहित कर ली गई। भार ...

पक्षधर

पक्षधर हिंदी की एक पत्रिका है। हिंदी जनक्षेत्र के साहित्यिक और सांस्कृतिक निर्माण में रचनात्मक योगदान इस पत्रिका का लक्ष्य है। इसका पहला अंक सन् 1975 में निकला था। प्रसिद्ध कथाकार दूधनाथ सिंह इसके संपादक थे | देश में आपातकाल लागू हो जाने से यह पत ...

प्रभासाक्षी

प्रभासाक्षी भारत का हिन्दी भाषा का एक समाचार वेबसाइट है। इसके पाठक उत्तरी भारत के राज्यों जैसे बिहार, चण्डीगढ़, छत्तीसगढ़, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखण्ड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखण्ड और उत्तर प्रदेश आदि के हिदीभाषी हैं। द्वारिकेश इ ...

प्रारम्‍भ शैक्षिक संवाद

प्रारम्‍भ शैक्षिक संवाद हिन्दी की एक त्रैमासिक पत्रिका है। यह पत्रिका लखनऊ से नालंदा-गैर सरकारी संस्था के द्वारा वर्ष 2003 से प्रभात झा के सम्पादन में नियमित रूप से प्रकाशि‍त हो रही है तथा उत्तर प्रदेश से इस विषय पर निकलने वाली इकलौती पत्रिका है। ...

लहर (पत्रिका)

लहर हिन्दी साहित्य की एक पत्रिका थी। इसका प्रकाशन 1957 ई० में आरंभ हुआ था। इसके संपादक थे कवि प्रकाश जैन तथा उनकी पत्नी मनमोहिनी। इस पत्रिका का हिन्दी साहित्य के इतिहास में महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक योगदान माना गया है।

समकालीन भारतीय साहित्य (पत्रिका)

समकालीन भारतीय साहित्य, साहित्य अकादमी, की प्रतिष्ठित द्वैमासिक हिन्दी पत्रिका है। इसका प्रकाशन सन् १९८० से हो रहा है। यह पत्रिका विभिन्न भारतीय भाषाओं में रचित श्रेष्ठ समकालीन साहित्य को प्रस्तुत करती रही हैं। इसके सम्पादक श्री ब्रजेन्द्र कुमार ...