ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 139

सिलहट जिला

सिलहट जिला बांग्लादेश के पूर्व अंचल के सिलहट विभाग का एक प्रशासनिक अंचल है। जिसकी स्थापना १७८२ में हुई।यह जिला ३४५२.०७ वर्ग किलोमीटर में फैला है।इसकी आबादी ३९५७०००है।साथ की इसकी साक्षरता दर ६६%है। साँचा:सिलहट उपक्षेत्र के जिले

अंगने लाल

अंगने लाल,भारत के उत्तर प्रदेश की चौथी विधानसभा सभा में विधायक रहे। 1967 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले के 83 - बेनीगंज विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से अ0 भा0 जनसंघ की ओर से चुनाव में भाग लिया।

अमीता सिंह

अमीता सिंह,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के सुल्‍तानपुर जिले के अमेठी विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस की ओर से चुनाव में भाग लिया।

अम्बिका चौधरी

अम्बिका चौधरी,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कोपाचीट विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से सपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

अम्बिका सिंह

अम्बिका सिंह,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के कौड़ीराम विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से बसपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

अरूणा तोमर

अरूणा तोमर,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के कानपुर नगर जिले के सरसौल विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से सपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

अर्चना सरोज

अर्चना सरोज,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के सन्‍त रविदासनगर जिले के भदोही विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से बसपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

ओमवती देवी

ओमवती देवी,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के नगीना विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से बसपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

कमला प्रसाद वर्मा

कमला प्रसाद वर्मा,भारत के उत्तर प्रदेश की चौथी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 1967 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के 154 - भिनगा विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से अ0 भा0 जनसंघ की ओर से चुनाव में भाग लिया।

कमला सिंह

कमला सिंह,भारत के उत्तर प्रदेश की प्रथम विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 1952 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के 347 - सैदपुर विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय की ओर से चुनाव में भाग लिया।

कमला सिंह यादव

कमला सिंह यादव,भारत के उत्तर प्रदेश की तीसरी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 1962 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के 247 - सैदपुर विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से प्रजा सोशलिस्‍ट पार्टी की ओर से चुनाव में भाग लिया।

कुमारी मीता गौतम

कुमारी मीता गौतम,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले के फतेहपुर विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से बसपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

कृष्‍णा राज

कृष्‍णा राज,भारत के उत्तर प्रदेश की पंद्रहवी विधानसभा सभा में विधायक रहीं। 2007 उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में इन्होंने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले के मोहम्‍मदी विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा की ओर से चुनाव में भाग लिया।

आँसू झील

आँसू झील पाकिस्तान के उत्तरी भाग में ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रान्त के मानसेहरा ज़िले की काग़ान घाटी में स्थित एक पर्वतीय झील है। यह प्रसिद्ध सैफ़-उल-मुलूक झील के पास स्थित है। इसका नाम अपने "आँसू" जैसे आकापर पड़ा है।

दूदीपतसर

दूदीपतसर या दूदीपत झील पाकिस्तान के उत्तरी भाग में ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रान्त के मानसेहरा ज़िले की काग़ान घाटी में स्थित एक पर्वतीय झील है। यह एक ठंडी और गहरे नीले रंग की झील है।

लूलूसर

लूलूसर या लालूसर पाकिस्तान के उत्तरी भाग में ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रान्त के मानसेहरा ज़िले की काग़ान घाटी में स्थित एक पर्वतीय झील और पर्वतों का समूह है। ३,४१० मीटर की ऊँचाई पर स्थित यह झील कुनहार नदी का मूल स्रोत है। यह एक बड़ा पर्यटक-आकर्षण है।

सैफ़-उल-मुलूक झील

सैफ़-उल-मुलूक झील पाकिस्तान के उत्तरी भाग में ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा प्रान्त के मानसेहरा ज़िले की काग़ान घाटी में स्थित एक पर्वतीय झील है। यह समुद्रतल से ३,२२४ मीटर की ऊँचाई पर वृक्षरेखा से भी अधिक ऊँचाई पर स्थित है, और पाकिस्तान की सबसे ऊँची झील है।

बगीबिल सेतु

बोगीबील ब्रिज भारत के असम राज्य में ब्रह्मपुत्र नदी पर बना एक पुल है। इस पर रेलपथ तथा सड़कपथ दोनों बने हुए हैं। यह पुल असम के धेमाजी जिला और डिब्रूगढ़ जिला को जोड़ता है। इस पर सन 2002 में कार्य आरम्भ हुआ था। यह 4.94 किमी लम्बा है और भारत का सबसे ...

दिबांग वन्य अभयारण्य

दिबांग वन्य अभयारण्य भारत के अरुणाचल प्रदेश राज्य में स्थित एक वन्य अभयारण्य है। यह राज्य के ऊपरी दिबांग घाटी ज़िले में 4.149 वर्ग किमी के क्षेत्रफल पर विस्तारित है। अभयारण्य में वन्य जीव की विविधता है। यहाँ मिश्मी ताकिन, लाल गोरल, कस्तूरी मृग, ल ...

जलालपुर

यह तहसील अम्बेडकर नगर जिला, उत्तर प्रदेश में स्थित है। 2011 में हुई भारत की जनगणना के अनुसार इस तहसील में 313 गांव हैं।

ई॰ एम॰ एस॰ नंबूदिरीपाट

ईलमकुलम मनक्कल शंकरन नंबूदिरीपाद १९५७ में केरल में विश्व की पहली लोकतांत्रिक तरीके से चुनी गई मार्क्सवादी सरकार के मुख्यमंत्री थे। उनहोंने वाम दल में लोकतांत्रिक हौसले को जिंदा रखा और उस आंदोलन को प्रेरित किया जिससे केरल भारत का पहला पूर्ण साक्षर ...

मारवाड़ी

मारवाड़ी भारत का एक प्रमुख व्यापारिक समुदाय है, जो भारत के राजस्थान के मारवाड़ क्षेत्र से निकला दक्षिण एशियाई जातीय-भाषाई समूह हैं। इनकी भाषा, जिसे मारवाड़ी भी कहा जाता है, राजस्थानी भाषा का अंग है। मारवाड़ी राजपूत साम्राज्यों के काल से ही अंतर्द ...

गोपाल शंकर मिश्र

गोपाल शंकर मिश्र भारतीय संगीतज्ञ थे। इनका वाद्य विचित्र वीणा था। इनके पिता प्रसिद्ध संगीतज्ञ लालमणि मिश्र थे और १९२० के दशक में जन्में उन्होंने ध्रुपद और खयाल गायन और वादन में ख्याति कमायी।

कुँवर महाराजसिंह

सर कुँवर महाराजसिंह बम्बई के प्रथम भारतीय गवर्नर थे। उनका जन्म १७ मई, १८७८ को पंजाब के कपूरथला में हुआ। उनके पिता बहुत बड़े जमींदार थे। उनकी उच्च शिक्षा अधिकतर इंग्लैंड मे हुई। हैरो स्कूल मे शिक्षा प्राप्त करने के बाद उन्होंने ऑक्सफोर्ड विश्वविद् ...

मीरा चड्ढा बोरवांकर

मीरा चड्ढा बोरवांकर यह महाराष्ट्र कैडर में पहली महिला आईपीएस अधिकारी बनी थी और यह बात भारत के सभी छोटे बड़े फाजिल्का शहर के लिये गर्व की बात हैं। फाजिल्का, मीरा चड्ढा बोरवांकर,यह पहली महिला है; जो १५० वर्ष के इतिहास में मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ...

मनजीत इंद्रा

मनजीत इंद्रा पंजाबी कवि और लेखक है। पंजाब के विभिन्न सरकारी कॉलेजों में पंजाब में लेक्चरर के रूप में सेवा करने के बाद, वह वर्तमान में चंडीगढ़ में पंजाब में उच्च शिक्षा निदेशालय में सहायक निदेशक के रूप में काम कर रही है।

सुखविंदर अमृत

सुखविंदर गांव सदरपुरा में पैदा हुई था। वह एक भाई और चार बहनें में सबसे बड़ी है। सुखविंदर अमृत का बचपन बहुत कठोर था। वह बचपन में ही गीत लिखने लग पढ़ी थी। एक दिन उसकी गीतों की कापी में उसकी मा के हाथ पड़ गई, जिसे उसने अलाव में जला दिया और सुखविंदर ...

राजा हिंदू राव

राजा हिंदू राव एक था मराठा ठाकुर थे। वे ग्वालियर के महाराजा दौलत राव सिंधिया के भाई, और वहाँ की महिला राज-प्रतिनिधि के भाई थे। 1857 के विद्रोह के बाद, वह दिल्ली चले गए जहां वे ब्रिटिश निवासी के साथ मित्रतापूर्ण शर्तों पर थे। भारत के तत्कालीन गवर् ...

बाला साहेब पूछवाले

पं. बाला साहेब पूछवाले ग्वालियर घराने के ख्याल शैली के सुप्रतिष्ठित गायक थे।ग्वालियर घराने के प्रमुख गायक निम्नानुसार हुए-शंकर राव पंडित, श्री एकनाथ उर्फ माउ पंडित, राजा भैया पूछवाले, डॉ. कृष्णराव शंकर पंडित, पं. पांडुरंग उर्फ बालासाहेब पूछवाले|

जोधपुर के लोगों की सूची

जोधपुर, भारत के उल्लेखनीय व्यक्ति जय नारायण व्यास न्यायाधीश गुमान मल लोढ़ा राव राजा हनुत सिंह कोमल कोठारी इडर के प्रताप सिंह अशोक गहलोत सीताराम लालस न्यायाधीश मिलाप चन्द जैन शन्नो खुराना जन्म १९२७, हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायिका, पद्म भूषण शाह भोप ...

स्वाति भार्गव

स्वाति भार्गव भारत में स्थित एक इन्टरनेट उद्धमी है। २०१३ में उन्होंने अपने पति रोहन भार्गव के साथ मिलके एक कैशकरोडॉटकॉम एक कूपन और कैशबैक करो वेबसाईट खोली जों कि भारत में संचालित की जाती है। इससे पहले २०११ में उन्होंने एक यूके स्थित- प्योरिंगपौंड ...

इंद्रेश कुमार

इंद्रेश कुमार,भारत के मुस्लिम राष्ट्रीय मंच नामक राष्ट्रवादी संगठन के मार्गदर्शक है।इनका जन्म १८ फरवरी सं १९४९ में समाना, पंजाब में श्रीमती पदमवती एवं श्री चमन लाल के घर हुआ था । इनके जन्म के लगभग पंद्रह दिन पश्चात उनका परिवार कैथल,हरियाणा में स् ...

सुभाष चंद्रा

सुभाष चन्द्रा भारत के एक उद्यमी, मीडिया स्वामी तथा अभिप्रेरक वक्ता हैं। वे भारत के सबसे विशाल टीवी चैनल समूह ज़ी मीडिया तथा एस्सेल समूह के अध्यक्ष हैं जिसने भारतीय उपग्रह टेलीविजन प्रसारण में क्रान्ति का सूत्रपात किया। उनके द्वारा १९९२ में स्थापि ...

कृन्तक दाँत

इसी नाम के प्राणियों के जीववैज्ञानिक गण पर जानकारी के लिए कृन्तक का लेख देखें कृन्तक दाँत कई स्तनधारियों के मुँह में आगे की ओर उपस्थित दाँत होते हैं। मानवों में इनका प्रयोग आगे से खाने के टुकड़ों को पकड़ने व काटने के लिये करा जाता है। कुत्तों, बि ...

दाढ़

दाढ़ कुछ प्राणियों के मुँह में पीछे की ओर स्थित चपटी सतह वाले और बड़े दाँत होते हैं जो मुख्य रूप से खाना चबाने में खाने को रगड़ या पीसकर तोड़ने या महीन करने के काम आते हैं। यह सबसे अधिक स्तनधारियों में विकसित होते हैं।

काल भैरव मन्दिर, वाराणसी

काशी का काल भैरव मन्दिर वाराणसी कैन्ट से लगभग ३ कि० मी० पर शहर के उत्तरी भाग में स्थित है। यह मन्दिर काशीखण्ड में उल्लिखित पुरातन मन्दिरों में से एक है। इस मन्दिर की पौराणिक मान्यता यह है, कि बाबा विश्वनाथ ने काल भैरव जी को काशी का क्षेत्रपाल निय ...

अम्बिका माता मन्दिर, उदयपुर

अम्बिका माता मंदिर जो राजस्थान राज्य के उदयपुर ज़िले से ५० किलोमीटर की दूरी पर स्थित है इस मन्दिर में देवी दुर्गा का एक रूप अम्बिका माता की प्रतिमा है मन्दिर का निर्माण लगभग ९६१ विक्रम संवत में हुआ था। यह एक छोटा सा जानामाना मंदिर है इस मंदिर में ...

करणी माता, उदयपुर

श्री मंशापूरण करणी माता का मन्दिर एक भारतीय हिन्दू देवी का मन्दिर है जो राजस्थान राज्य के उदयपुर में स्थित है। यह उदयपुर ज़िले की मचला मगरा नामक पहाड़ी पर स्थित है साथ ही उदयपुर दूध तलाई झील में इस मन्दिर के निकट ही है। मन्दिर में करणी माता की पत ...

जगदीश मंदिर, उदयपुर

जगदीश मंदिर उदयपुर के मध्य में स्थित एक विशाल मंदिर है। इसका निर्माण १६५१ में समाप्त हुआ। उदयपुर में यह पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केन्द्र है। यह मंदिर मारू-गुजराना स्थापत्य का उत्कृष्ट उदाहरण है। इसमें विष्णु की मूर्त्ति स्थापित है।

नीमच माता मन्दिर

नीमच माता का मन्दिर एक भारतीय हिन्दू देवी का मन्दिर है जो राजस्थान के उदयपुर ज़िले में स्थित है। यह एक हरी भरी पहाड़ी पर स्थित है उस पहाड़ी को देवाली के नाम से जाना जाता है। नीमच माता के मन्दिर में देवी की मूर्ती एक पत्थर की बनी हुई है।

गलतुंडिका

गलतुंडिका मानव के गले के पिछले हिस्से में स्थित एक अंग है। यह एक प्रकार का ऊतक हैं जो बाहरी रोगाणुओं से आक्रमण के विरुद्ध पहली रक्षा-पंक्ति की तरह काम करता है।

संकीर्णता (स्टेनोसिस)

संकीर्णता, रक्त वाहिका या अन्य नलीदार अंगों अथवा संरचनाओं के असामान्य संकुचन को कहते हैं। इसे कभी-कभार निकोचन स्ट्रिकचर जैसे कि मूत्रमार्ग निकोचन भी कहा जाता है। निकुंचन कोआर्कटेशन इसका पर्यायवाची शब्द है, लेकिन इसे सामान्यतः केवल महाधमनी से संबं ...

जनन कोशिका

जीव विज्ञान में जनन कोशिका किसी लैंगिक प्रजनन करने वाले जीव की ऐसी कोई भी कोशिका होती है जिस से युग्मक उत्पन्न हो सके। यह कोशिकाएँ मियोसिस की कोशिका विभाजन प्रक्रिया द्वारा बनती हैं, जिसमें गुणसूत्रों की संख्या आधी हो जाती है। प्रजनन में जब नर और ...

अण्डोत्सर्ग

गर्भाशय से अन्डों का निकलना अंडोत्सर्ग कहलाता है। मानवों में यह घटना तब होती है जब डी ग्राफ पुटक फटकर द्वितीयक अंडक गर्भाशय कोशिका निकालते हैं।

गुदा मैथुन

Sadhana गुदा मैथुन एक प्रकार का मैथुन ही है। इस प्रकार के मैथुन में शिश्न, उँगली, डिल्डो या अन्य किसी वस्तु को योनि की बजाय गुदा में प्रविष्ट किया जाता है। दूसरे शब्दों में कहा जाय तो गुदा में लिंग डालकर सम्भोग करने की प्रक्रिया को ही गुदा मैथुन ...

जन्तुओं का काम-व्यवहार

विभिन्न जन्तुओं में भिन्न-भिन्न प्रकार का काम-व्यवहार पाया जाता है। यहाँ तक कि एक ही प्रजाति में कई तरह के काम-व्यवहार देखने को मिलते हैं। मैथुन के भी अनेक प्रकार हैं, जैसे- एकसंगमन, बहुसंगमन, बहुपतित्व, तथा स्वैरिता ।

प्रेम-प्रतिमा

प्रेम-प्रतिमा एक प्रकार का मानव-आकार कामोत्तेजक उपकरण होता है। लिंग, योनि एवं/अथवा गुदा युक्त इस साधन का प्रयोग स्वतःमैथुन के लिए किया जाता है। सामान्यतः प्रेम-प्रतिमा एक संपूर्ण देह-रुपी पुतली होती है, परन्तु कुछ पुतलियों में केवल धड़, शीर्ष या ...

वाइब्रेटर (सेक्स खिलौना)

वाइब्रेटर शरीऔर त्वचा के लिए एक उपकरण होता है जो कम्पन द्वारा तंत्रिकाओं को उत्तेजित करके एक आराम और आनन्ददायक भावना जागृत करता है। वाइब्रेटर के द्वारा स्त्री स्वयं यौन सुख प्राप्त कर लेती है वह वाइब्रेटर को अपने क्लिटोरिस पर चलाती है जिससे उन्हे ...

शव कामुकता

किसी शव के साथ सेक्स करने की इच्छा को शव कामुकता कहते हैं। रोज़्मैन और रेज़्निक नामक दो विद्वानों ने 1989 में इस मानसिक रोग के 34 मामलों का अध्धयन किया। उन्होंने पाया कि शवप्रेमी कई कारणों से लाश के साथ सेक्स करते हैं - मरे हुए व्यक्ति के ऊपर अधि ...

मस्टेलिडाए

मस्टेलिडाए जिसे रासू परिवार भी कहते हैं, एक मांसाहारी स्तनधारी जानवरों का समूह है जिसमें ऊदबिलाव, रासू और बिज्जू शामिल हैं। यह मांसाहारी गण का सबसे विविध गुट है और इसपर जीववैज्ञानिकों में काफ़ी आपसी मतभेद है। कुछ के अनुसार इसमें दो उपपरिवार हैं औ ...