ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 115

त्रिपाठी

त्रिपाठी एक भारतीय उपनाम है। यह उपनाम ब्राह्मण वर्ण द्वारा उपनाम के रूप में प्रयोग किया जाता हैं। त्रिपाठी शब्द का संधि-विच्छेद त्रि+पाठीअर्थात् वेदों के तीन पाठों का अध्ययन करने वाले त्रिपाठी कहलाए। त्रिपाठी और तिवारी एक ही उपनाम है बस अंतर इतना ...

देशमुख

एक भारतीय उपनाम। देशमुख उप-नाम या देशमुखी नामक वतन यह मुख्यत: महाराष्ट्और महाराष्ट्र के सटे हुए आंध्रा, कर्नाटक, मध्य-प्रदेश, छत्तीस-गढ़, आदि राज्योंमें पाया जाने वाला एक भारतीय उपनाम है। देशमुख या देशमुखी यह वतन छत्रपति शिवाजी के पूर्व-कालीन परं ...

द्विवेदी

द्विवेदी एक भारतीय उपनाम है। ब्राह्मण जाति में एक उप जाति जो द्विवेदी, दूबे, दबे के उप-नाम से विभिन्न स्थानों में निवास करती है। ब्राम्हण की इस उप-जाति का उद्गम स्थान अधिकतर लोग उ॰ प्र॰ के गोरखपुर जिले के "समदरिया एवं सरार" को मानते हैं।इनका विवा ...

नायडू

नायडू या नायुडू दक्षिण भारत में प्र्यतेक रूप से आन्ध्र प्रदेश में एक उपनाम जो भारत के कई राज्यों एवं दुनिया के कई देशों में बसे आन्ध्र प्रदेश का एक समुदाय।

नारेड़ा गौत्र

नारेड़ा गोत्र मीणा समाज का महत्व पूर्ण गोत्र है, इस गोत्र की उत्पत्ति शेर अर्थात बाघ से जुड़ी हुई है, जिसे राजस्थानी भाषा में नाहर कहते हैं, इसी कारण इस गोत्र का नाम पड़ा नारेड़ा।

पाटिल

पाटील एक भारतीय उपनाम है। इस नाम का उद्गम पाटी या पाठी शब्द से माना जाता है, जिसका अर्थ है शिक्षित व्यक्ति। पुराने जमाने में खेती ही भारतीयों का मुख्य व्यवसाय था, और किसानों का किसी भी आपदा से संरक्षण करना तथा उन्हे सिंचाई के साधन उपल्ब्ध कराना उ ...

पूनिया

पूनिया उत्तरी भारत में पाए जाने वाले जाट लोगों कि एक गौत्र है. एशियाई खेल 2018 में भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक लेने का गौरव बजरंग पूनिया को जाता है Poonia Gotar ki shan bhai Bajrang Shankey poonia is the most powerful man

पोद्दार

वैश्य पोद्दार समाज भारत देश का बनिया समाज के मूल निवासी एक उपनाम है। यूँ तो बनिया समाज मे 56 वर्ग है,जिनमे वैश्य बनिया,सूरी बनिया,तैलिक बनिया,मोदी,गुप्ता,साह, जैसे कई उपनाम है,जो भारत के सभी राज्यों और देश भर में पाए जाते है,। ये मुख्य रूप से पश् ...

बनिया

बनिया एक भारतीय जाति हैं,इनमे विशेषतःसवर्ण वैश्य पोद्दार, मधेशिया,जैन,रौनियार,गर्ग कसौंधन,केसरवानी, गुप्ता गोंड़ साहू,जयसवाल, बरनवाल, कर्णवाल,अग्रवाल, जिंदल, पोरवाल सोने चाँदि मूल्यवान रत्नों के व्यपारी कुछ गहना निमार्ण भी करते है गहनों को गिरवी ...

मिश्र

मिश्र या मिश्रा एक हिंदू ब्राह्मण उपनाम है जो भारत के ज्यादातर उत्तरी और मध्य भागों में पाया जाता है। यह गंगा के मैदानी क्षेत्और भारतीय राज्यों दिल्ली, बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा, असम और पश्चिम बंगाल में सबसे व्य ...

मुखर्जी

मुखर्जी एक भारतीय उपनाम है जोकि भारत के पाश्छिम बंगाल के वासियों में आम है। इसका बंगाली पारंपरिक रूप है - মুখোপাধ্যায় अर्थात "मुखोपाध्याय" जोकि मुखर्जी का बंगाली पर्याय है।

मोदनवाल

अंगूठाकार|मोदनवाल वंशावली Modanwal वैश्य वर्ण और हलवाई जाति भारत वर्ष के मानवीय भूगोल कर्म प्रधान रहा है । कर्म या व्यवसाय के आधापर आज भी व्यक्ति व उनका सन्तती सम्बोधित होता है । किसी खास कर्म–व्यवसाय में संलिप्त व्यक्ति, परिवाऔर विस्तारित पारीवा ...

मोमीन अंसारी

मोमीन अंसारी या अल अंसार अंसारी Moomin Ansari or Ansari, विश्व की एक मुस्लिम प्रमुख जाति है जो भारत पाकिस्तान सिंध नेपाल,अरब, मलेशिया, तुर्की इत्यादि देशो केे अलावा है यह पूरे वििश्व में निवास करती है, य़ानि कुल मिला कर लब्बोलुबाब यह है कि अंसारी ...

रघुकुल

रघुवंशी:- रघुवंशी राजवंश यह भारत का प्राचीन क्षत्रिय कुल है । जो भारतवर्ष के सभी क्षत्रीय कुलों में सर्वश्रेष्ठ क्षत्रियकुल माना जाता है । ऐतिहासिक दृष्टि से रघुकुल मर्यादा, सत्य, चरित्र, वचनपालन, त्याग, तप, ताप व शौर्य का प्रतीक रहा है । अयोध्या ...

राय

एक भारतीय उपनाम है । यह अंग्रेजों के द्वारा दिगए एक उपनाम है । जो पूर्वी उत्तर प्रदेश, दिल्ली, बिहार आदि । अधिकांश जमींदार ब्राह्मण लोगो दिया गया था.

सरदार

सरदार भारतीय-ईरानी क्षेत्र में कई अलग संदर्भों में मुखिया को कहते हैं। भारतीय परिदृश्य में आजकल सिख अपने नाम के आगे सरदार शब्द का इस्तेमाल करते हैं, हालाँकि मध्यकालीन मराठा सेना के प्रमुख और शेरपा पर्वतारोही दल के मुखिया कुछ ऐसे उदाहरण हैं जहाँ इ ...

साहनी

साहनी खत्री गोत्र है। इसका प्रयोग उपनाम के रूप में होता है। इस उपनाम वाले उल्लेखनीय लोगों की सूची जिनका इस जाति से सम्बद्ध हो भी सकता और नहीं भी, निम्नलिखित है:- रुचि राम साहनी, स्वतंत्रता सेनानी बीरबल साहनी, पुरावनस्पति वैज्ञानिक अनिल कुमार साहन ...

सिन्हा

सिन्हा एक उपनाम है जो साधारणतः भारत, उत्तर प्रदेश और श्री लंका आदि में उपयोग किया जाता है। उत्तर भारत में कायस्थ तथा क्षत्रिये अक्सर सिन्हा उपनाम का उपयोग करते हैं। यह भी भगवान श्री चित्रगुप्त के अंस के ऊपर उपनाम पड़ा । जो की पुरे भारत आदि स्थानो ...

सूद

सूद पंजाब के मैदानी इलाकों में रहने वाली जाति है। वह व्यापार, मुंशी और साहुकार में से कोई भी काम करते हैं। यह एक उपनाम भी है। इस उपनाम वाले उल्लेखनीय लोगों की सूची जिनका इस जाति से सम्बद्ध हो भी सकता और नहीं भी, निम्नलिखित है:- अस्मिता सूद, भारती ...

सेठ

लीला सेठ राजी सेठ सेठ एम आर जयपुरिया विक्रम सेठ सेठ जयदयाल गोयन्दका शांतिलाल सी सेठ सेठ हुकुमचन्द रोशन सेठ सेठ गोविंद दास सुषमा सेठ डी. बी. सेठ श्रुति सेठ

हाजरिका

एक भारतीय उपनाम। मूल शीर्षक मध्यकालीन असम के अहोम राज्य द्वारा प्रदत्त किया गया था। असमिया समुदाय एक नामकरण प्रणाली है जो शिथिल शासनकाल अहोम राजाओं के दौरान व्यवसाय है उनके पूर्वजों पर आधारित है। अहोम शासनकाल के दौरान, एक हजारिका 1000 सैनिकों 100 ...

मुहम्मद अली जौहर

मुहम्मद अली जौहर, जिन्हें मौलाना मोहम्मद अली जौहर के नाम से भी जाना जाता है, एक भारतीय मुस्लिम नेता, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के कार्यकर्ता, विद्वान, पत्रकाऔर कवि थे। वर्तमान में मुहम्मद अली के सम्मान में रामपुर जिले में मोहम्मद अली जौहर विश्वविद ...

मौलाना शौकत अली

| Name = मौलाना शौकत अली | birth_date = 10 मार्च 1873 | birth_place = रामपुर, रामपुर रियायत, बिर्टिश राज, वर्तमान उत्तर प्रदेश, भारत | death_date = { 26 नवंबर 1938 | death_place = दिल्ली, बिर्टिश भारत | parents = अब्दुर अली खान, आबिदा बेगम | know ...

मेड़तिया

मेड़तिया राठौड़ - जोधपुर के शासक राव जोधा जी के पुत्र राव दूदा जी के वंशज मेड़ता के नाम से मेड़तिया कहलाये। राव दूदा जी का जन्म राव जोधा जी की सोनगरी राणी चाम्पा के गर्भ से 15 जूं 1440 को हुआ । राव दूदा जी ने मेड़ता को विशेष आबाद किया। इसमें उनके ...

शेखावत

शेखावत शेखावत क्षत्रिय कछवाहा राजपूत वंश की एक शाखा है देशी राज्यों के भारतीय संघ में विलय से पूर्व खोरी डुंगर, सुलताना,मनोहरपुर,शाहपुरा, खंडेला,सीकर,खेतडी,बिसाऊ,गढ़ गंगियासर,सुरजगढ़,नवलगढ़, खोटिया मंडावा, मुकन्दगढ़,जाचास,सामी, बाडलवास, दुजोद, भग ...

अरिन्दम

अरिन्दम संस्कृत भाषा का एक नाम है। अरि शब्द का अर्थ शत्रु होता है और अरिन्दम का अर्थ है शत्रुओं का दमन करने वाला। यह नाम पूर्व भारत में लोकप्रीय है। बंगाली भाषा बोलने वाले इसका उच्चारण अक्सर अरीन्दोम से मिलता जुलता करते हैं।

सक्रीय गैलेक्सीय नाभिक

सक्रीय गैलेक्सीय नाभिक या स॰गै॰ना॰ किसी गैलेक्सी के केन्द्र में ऐसा एक संकुचित क्षेत्र होता है जिसमें असाधारण तेजस्विता हो। यह विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम के पूर्ण या ऐसे भाग में हो सकता है जिस से स्पष्ट हो जाए कि इस तेजस्विता का स्रोत केवल तारे नहीं ...

आदिपर्व

ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद-विद्या_डॉट_कॉम जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय- ...

सभापर्व

सभा पर्व में देवशिल्पी विश्वकर्मा द्वारा इन्द्रप्रस्थ का निर्माण तथा मय दानव द्वारा युधिष्ठिर के लिए सभाभवन का निर्माण, देवर्षि नारद द्वारा विभिन्न लोकपालों की सभाओं का वर्णन, देवर्षि नारद के कहने पर युधिष्ठिर द्वारा राजसूय करने का संकल्प करना, ज ...

अरयण्कपर्व

ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद-विद्या_डॉट_कॉम महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य स ...

विराटपर्व

वेद-विद्या_डॉट_कॉम जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध है। वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस ...

उद्योगपर्व

वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। वेद-विद्या_डॉट_कॉम जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार म ...

भीष्मपर्व

जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद-विद्या_डॉट_कॉम वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। ज्ञानामृतम् -यहाँ वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी है। वेद एवं वेदांग - आर्य ...

द्रोणपर्व

वेद-विद्या_डॉट_कॉम महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध है। वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् ...

कर्णपर्व

ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध ह ...

शल्यपर्व

महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध है। जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्द ...

सौप्तिकपर्व

वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक ज ...

स्त्रीपर्व

जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। वेद-विद्या_डॉट_कॉम महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय- ...

शांतिपर्व

शान्तिपर्व महाभारत का १२वाँ पर्व है। शान्तिपर्व में धर्म, दर्शन, राजानीति और अध्यात्म ज्ञान का विशद निरूपण किया गया है। इसके अन्तर्गत ३ उपपर्व हैं- मोक्षधर्म पर्व आपद्धर्म पर्व राजधर्मानुशासन पर्व इसमें 365 अध्याय हैं। शान्ति पर्व में युद्ध की सम ...

अनुशासनपर्व

वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध ह ...

अश्वमेधिकापर्व

ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद-विद्या_डॉट_कॉम वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को ...

आश्रम्वासिकापर्व

ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हु ...

मौसुलपर्व

वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, जामनगर के जालघर पर सभी वेद एवं उनके भाष्य दिये हुए हैं। ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद-विद्या_डॉट_कॉम महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध है। जिनका उ ...

महाप्रस्थानिकपर्व

वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। ज्ञानामृतम् - वेद, अरण्यक, उपनिषद् आदि पर सम्यक जानकारी वेद-विद्या_डॉट_कॉम जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद एवं वेदांग - आर्य समाज, ज ...

स्वर्गारोहणपर्व

महर्षि प्रबंधन विश्वविद्यालय-यहाँ सम्पूर्ण वैदिक साहित्य संस्कृत में उपलब्ध है। वेद-पुराण - यहाँ चारों वेद एवं दस से अधिक पुराण हिन्दी अर्थ सहित उपलब्ध हैं। पुराणों को यहाँ सुना भी जा सकता है। वेद-विद्या_डॉट_कॉम जिनका उदेश्य है - वेद प्रचार वेद ए ...

हरिवंश पर्व

हरिवंशपुराण में तीन पर्व हरिवंशपर्व, विष्णुपर्व तथा भविष्यपर्व तथा ३१८ अध्याय हैं। हरिवंशपुराण के भविष्यपर्व में पुराण पंचलक्षण के सर्गप्रतिसर्ग के अनुसार सृष्टि की उत्पत्ति, ब्रह्म के स्वरूप, अवतार गणना और सांख्य तथा योग पर विचार हुआ है। स्मृतिस ...

क्वाण्टम कम्प्यूटर

प्रमात्रा संगणक ऐसा संगणक है जो अपने कार्य के लिये अध्यारोपण एवं प्रमात्रा उलझाव जैसी प्रमात्रा यांत्रिक परिघटनाओं का सीधे उपयोग करता है। प्रमात्रा अभिकलन का मूल आधार यह है कि प्रमात्रा गुणों का उपयोग आंकड़ों के निरूपण एवं उन पर संक्रियाएँ करने क ...

किसान दिवस

जाम्बिया में राष्ट्रीय किसान दिवस अगस्त के पहले सोमवार को मनाया जाता है।

वाइज़र

वाइज़र मुख के कुछ या पूर्ण भाग पर पहना जाने वाला ऐसा उपकरण होता है जिसमें से देखा जा सके लेकिन जो साथ ही आँखो की प्रकाश, धूल, जल, हिम या अन्य किसी चीज़ से रक्षा करे। उदाहण के लिए स्कूटर के लिए प्रयोग होने वाले हेलमेट के मुख पर कठोर प्लास्टिक का ब ...

कैप

कैप एक विशेष प्रकार की टोपी होती है जिसका आकार ऐसा होता है कि वह सिर के नाप का हो ताकि उसपर ठीक पकड़ से बैठे। कैप के नीचे इसके किनारे पर या तो कोई छज्जा बाहर निकला ही नहीं होता या फिर केवल आँखों के ऊपर ही निकला हुआ होता है। क्रिकेट जैसे कई खेलों ...